भारत की उभरती अर्थव्यवस्था ने कई ऐसे लोगों के सितारे बुलन्द किए, जो पहली बार बिजनेस में उतर रहे थे. आन्या गुप्ता ने उनसे लंबी बातचीत कर उनकी जिंदगियों का 'फर्स्ट पर्सन' ब्यौरा लिया और 'कैप्टनशिप 'नाम से किताब लिखी. ये सीरीज उन आत्मकथाओं का संक्षिप्त रूपांतर है. चित्र अनीता बालचंद्रन के हैं और प्रकाशन ब्लूम्सबरी का. मूल हिंदी अनुवाद भावना पांडेय का है.
टाटा स्टाइल में आप पैसे से पैसा तो कमा सकते हैं, लेकिन 2 को 4 ही कर सकते हैं। अगर आपको अपना पैसा 2 से 10 करना है और वह भी फटाफट, तो आपको अंबानी स्टाइल में काम करना होगा। पहले स्टाइल में पैसा कमाना जरूरी तो होता है, लेकिन थोड़...ी ईमानदारी के साथ। अब तक टाटा का नाम सिर्फ माओवादियों को लेवी देने के लिए खराब हुआ है। जबकि दूसरे स्टाइल की खासियत यह है कि बस पैसा आना चाहिए। कैसे आ रहा है, यह नहीं देखा जाता! इस थ्योरी में माना जाता है कि पैसा कमाने के रास्ते में आने वाली बाधाओं को पैसे से ही साफ किया जा सकता है और ऐसा करने में कोई बुराई भी नहीं है। शायद यही वजह है कि टाटा आज भी टाटा ही हैं, जबकि अंबानी दुनिया के धन्ना सेठों की लिस्ट में बिल गेट्स को टक्कर देते हैं।
किन्तु आज भी अंग्रेजों के बनाए सभी क़ानून यथावत चल रहे हैं अंग्रेजों की चिकित्सा पद्धति यथावत चल रही है। और कूछ काम तो हमारे देश के नेताओं ने अंग्रेजों से भी बढ़कर किये। अंग्रेजों ने भारत को लूटने के लिये २३ प्रकार के टैक्स लगाए किन्तु इन काले अंग्रेजों ने ६४ प्रकार के टैक्स हम भारत वासियों पर थोप दिए। और इसी टैक्स को बचाने के लिये देश के लोगों ने टैक्स की चोरी शुरू की जिससे काला बाजारी जैसी समस्या सामने आई। मंत्रियों ने इतने घोटाले किये कि देश की जनता भूखी मरने लगी। भारत की आज़ादी के बाद जब पहली बार संसद बैठी और चर्चा चल रही थी राष्ट्र निर्माण की तो कई सांसदों ने नेहरु से कहा कि वह इंग्लैण्ड से वह उधार की राशी मांगे जो द्वितीय विश्व युद्ध के समय अंग्रेजों ने भारत से उधार के तौर पर ली थी और उसे राष्ट्र निर्माण में लगाए। किन्तु नेहरु ने कहा कि अब वह राशि भूल जाओ। तब सांसदों का कहना था कि इन्होने जो २०० साल तक हम पर जो अत्याचार किया है क्या उसे भी भूल जाना चाहिए? तब नेहरु ने कहा कि हाँ भूलना पड़ेगा, क्यों कि अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में सब कूछ भुलाना पड़ता है। और तब यही से शुरुआत हुई सता की लड़ाई की और राष्ट्र निर्माण तो बहुत पीछे छूट गया था।
वेबसाइट को मोनेटाइजेशन के लिए सबसे अच्छा तरीका गूगल का एडसेंस प्रोग्राम है, जो विश्व का सबसे बढ़िया एड प्रोग्राम है. गूगल का एडसेंस आपके वेबसाइट के आर्टिकल पर विज्ञापन दिखाता है, जहां से घर बैठे पैसे कमाने के तरीके में बहुत ज्यादा पॉपुलर है. घर बैठे एक अच्छी इनकम कर सकते हैं. तो आप एक वेबसाइट कैसे शुरु करें और कैसे बनाएं इसके लिए बहुत सारे वीडियो भी यूट्यूब पर अवेलेबल है.
थॉमस रो ने सबसे पहले सूरत के एक महल नुमा घर को लूटा जो आज भी मौजूद है। फिर पड़ोस के गाँव में और फिर और आगे। खाली हाथ आये इन अंग्रजों के पास जब करोड़ों की संपत्ति आई तो इन्होने अपनी खुद की सेना बनायी। उसके बाद सन १७५७ में रोबर्ट क्लाइव बंगाल के रास्ते भारत आया उस समय बंगाल का राजा सिराजुद्योला था। उसने अंग्रेजों से संधि करने से मना कर दिया तो रोबर्ट क्लाइव ने युद्ध की धमकी दी और केवल ३५० अंग्रेज सैनिकों के साथ युद्ध के लिये गया। बदले में सिराजुद्योला ने १८००० की सेना भेजी और सेनापति बनाया मीर जाफर को। तब रोबर्ट क्लाइव ने मीर जाफर को पत्र भेज कर उसे बंगाल की राज गद्दी का लालच देकर उससे संधि कर ली। रोबर्ट क्लाइव ने अपनी डायरी में लिखा था कि बंगाल की राजधानी जाते हुए मै और मीर जाफर सबसे आगे, हमारे पीछे मेरी ३५० की अंग्रेज सेना और उनके पीछे बंगाल की १८००० की सेना। और रास्‍ते में जितने भी भारतीय हमें मिले उन्होंने हमारा कोई विरोध नहीं किया, उस समय यदि सभी भारतीयों ने मिल कर हमारा विरोध किया होता या हम पर पत्थर फैंके होते तो शायद हम कभी भारत में अपना साम्राज्य नहीं बना पाते। वो डायरी आज भी इंग्लैण्ड में है। मीर जाफर को राजा बनवाने के बाद धोखे से उसे मार कर मीर कासिम को राजा बनाया और फिर उसे मरवाकर खुद बंगाल का राजा बना। ६ साल लूटने के बाद उसका स्थानातरण इंग्लैण्ड हुआ और वहां जा कर जब उससे पूछा गया कि कितना माल लाये हो तो उसने कहा कि मै सोने के सिक्के, चांदी के सिक्के और बेश कीमती हीरे जवाहरात लाया हूँ। मैंने उन्हें गिना तो नहीं किन्तु इन्हें भारत से इंग्लैण्ड लाने के लिये मुझे ९०० पानी के जहाज़ किराये पर लेने पड़े। अब सोचो एक अकेला रोबर्ट क्लाइव ने इतना लूटा तो भारत में उसके जैसे ८४ ब्रीटिश अधीकारी आये जिन्होंने भारत को लूटा। रोबर्ट क्लाइव के बाद वॉरेन हेस्टिंग्स नामक अंग्रेज अधीकारी आया उसने भी लूटा, उसके बाद विलियम पिट, उसके बाद कर्जन, लौरेंस, विलियम मेल्टिन और न जाने कौन कौन से लुटेरों ने लूटा। और इन सभी ने अपने अपने वाक्यों में भारत की जो व्याख्या की उनमे एक बात सबमे सामान है। सबने अपने अपने शब्दों में कहा कि भारत सोने की चिड़िया नहीं सोने का महासागर है। इनका लूटने का प्रारम्भिक तरीका यह था कि ये किसी धनवान व्यक्ति को एक चिट्ठी भेजते थे जिसमे एक करोड़, दो करोड़ या पांच करोड़ स्वर्ण मुद्राओं की मांग करते थे और न देने पर घर में घुस कर लूटने की धमकी देते थे। ऐसे में एक भारतीय सोचता कि अभी नहीं दिया तो घर से दस गुना लूट के ले जाएगा अत: वे उनकी मांग पूरी करते गए। धनवानों के बाद बारी आई देश के अन्य राज्यों के राजाओं की। वे अन्य राज परीवारों को भी ऐसे ही पत्र भेजते थे। कूछ राज परिवार जो कायर थे उनकी मांग मान लेते थे किन्तु कूछ साहसी लोग ऐसे भी थे जो उन्हें युद्ध के लिये ललकारते थे। फिर अंग्रेजों ने राजाओं से संधि करना शुरू कर दिया।

अपनी वेबसाइट बनाने में मदद के लिए ऑनलाइन पर्याप्त सामग्री उपलब्ध है. इसमें आपकी वेबसाइट के लिए डोमेन, टेम्पलेट्स और डिजाइन चुनना शामिल है. जब आप बेवसाइट बना लेते हैं तो आपकी बेवसाइट पर आने वाले ग्राहक गूगल एडसेंस पर जैसे ही साइन अप करते हैं तो आपकी वेबसाइट पर दिखाई देने वाले विज्ञापन पर क्लिक किए जाने से आपको पैसे कमाने में मदद मिलती है. आपकी वेबसाइट पर जितना अधिक ट्रैफिक मिलता है, उतना अधिक कमाई की संभावना अधिक होगी.

5 मेरे प्यारे भाइयो, सुनो। क्या परमेश्‍वर ने ऐसों को नहीं चुना जो दुनिया में गरीब हैं ताकि वे विश्‍वास में धनी और उस राज के वारिस बनें, जिसका वादा उसने उनसे किया है जो उससे प्यार करते हैं? 6 लेकिन तुमने गरीब इंसान को बेइज़्ज़त किया है। क्या अमीर तुम पर अत्याचार नहीं करते और तुम्हें घसीटकर अदालतों में नहीं ले जाते? 7 क्या वे उस बढ़िया नाम की निंदा नहीं करते, जिस नाम से तुम बुलाए गए हो? 8 अब अगर तुम शास्त्रवचन के मुताबिक इस शाही नियम का पालन करते हो: “तुझे अपने पड़ोसी से वैसे ही प्यार करना है जैसे तू खुद से करता है,” तो तुम बहुत अच्छा काम कर रहे हो। 9 लेकिन अगर तुम भेदभाव दिखाना जारी रखते हो, तो तुम पाप कर रहे हो और यह नियम तुम्हें गुनहगार ठहराता है।
4 अरे बदचलनी करनेवालियो,* क्या तुम नहीं जानतीं कि दुनिया के साथ दोस्ती करने का मतलब परमेश्‍वर से दुश्‍मनी करना है? इसलिए, जो कोई इस दुनिया का दोस्त बनना चाहता है वह खुद को परमेश्‍वर का दुश्‍मन बनाता है। 5 या क्या तुम्हें लगता है कि शास्त्रवचन बिना वजह ही कहता है: “ईर्ष्या करने की जो फितरत हमारे अंदर समायी हुई है, वह लगातार अलग-अलग बातों की चाह करती रहती है”? 6 मगर, परमेश्‍वर जो महा-कृपा हमें देता है वह हमारी इस फितरत से कहीं महान है। इसलिए यह वचन कहता है: “परमेश्‍वर घमंडियों का सामना करता है, मगर नम्र लोगों को अपनी महा-कृपा देता है।”

अगर आपको लिखना पसंद है या आपकी लिखने की स्किल (Writing skill) अच्छी है तो आप ऑनलाइन किसी भी वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिख कर घर पर ही काम करके बिना कोई पैसे खर्च करके इंटरनेट से पैसे कमा सकते है आज कल बहोत से ऐसे फ्रीलान्स कंटेंट राइटर ( Freelance content writer) का काम करके महीने के हजारो रूपये कमा रहे है अगर आपको ब्लॉग बनके और इसे मेन्टेन करके की कोई जानकारी नहीं है तो आप ऑनलाइन कंटेंट राइटर बन कर भी पैसे कमा सकते है
उत्पादों की बिक्री पिछले एक सरल और आसान ऑनलाइन व्यापार विचार है. आप अपने उत्पादों के साथ ही अन्य लोगों को बेच सकते हैं. बस आप थोक विक्रेताओं के साथ अच्छा कनेक्शन की आवश्यकता है. आप सस्ती कीमत के साथ बहुत में खरीदने के लिए और ईबे की तरह अलग अलग साइटों पर बेच सकते हैं, वीरांगना, एक उच्च मूल्य के साथ स्नैपडील. आप इस के लिए अपनी खुद की वेबसाइट की जरूरत नहीं. इस तरह, आप अंतरराष्ट्रीय बाजार में उत्पादों को बेचने और दुनिया भर के ग्राहकों के साथ संबंध बना सकते हैं.
भगवान क्या कहते हैं कि, ‘तेरा धन होगा न, तो तू पेड़ उगाने जाएगा और तुझे मिल जाएगा। उसके लिए जमीन खोदने की ज़रूरत नहीं है।’ इस धन के लिए बहुत माथापच्ची करने की ज़रूरत नहीं है। बहुत मज़दूरी से तो मात्र मज़दूरी का धन मिलता है। बाकी, लक्ष्मी के लिए बहुत मेहनत की ज़रूरत नहीं है। यह मोक्ष भी मेहनत से नहीं मिलता। फिर भी लक्ष्मी के लिए ऑफिस जाकर बैठना पड़ता है, उतनी मेहनत करनी पड़ती है। गेहूँ उगे हों या नहीं उगे हों, फिर भी तेरी थाली में रोटी आती है या नहीं? ‘व्यवस्थित’ का नियम ही ऐसा है!
Paisa Kamaane Ke Galat Tarike Va Upay : इस दुनिया में हर व्यक्ति पैसा कामना चाहता है कोई अच्छे कामो से कमा लेता है तो जॉब करता है या कोई बिज़नेस करता है हर किसी का पैसे कमाने का अपना-2 तरीका होता है | इन तरीको में लोग 2 तरह की कमाई करते है जिसे हम कहते है 1 नंबर की कमाई व 2 नंबर की कमाई | एक नंबर की कमाई में वो रोज़गार आता है जो हम ईमानदारी से कमाते है व दो नंबर की कमाई में वह पैसा आता है जो हम दो नंबर से कमाते है यानि की बेईमानी से व गलत तरीके से कमाते है इसीलिए हम आपको गलत तरीके से पैसा कमाने के टोटके के कुछ उपाय व तरीको के बारे में बताते है जिन उपायों को पढ़ कर आप भी कमा सकते है व जान सकते है |
महत्वपूर्ण : प्रथम प्रश्नपत्र में तत्वों की दीर्घ आवर्त सारिणी व उनमें उपस्थित तत्वों के गुणों में अवर्तता रसायन की मूल अवधारणाएं, आधुनिक परमाणु संरचना, विभिन्न रासायनिक बंध, तथा द्वितीय प्रश्नपत्र में कार्बन यौगिकों का नामकरण, विभिन्न क्रियात्मक समूहों के सामान्य लक्षण, रासायनिक अभिक्रियाओं की क्रियाविधि तथा पर्यावरणीय अध्ययन को अच्छी तरह से तैयार करें।
दस्तूर। कुछ जगहों में बिज़नेस करते वक्‍त एक-दूसरे को तोहफे देने का दस्तूर होता है। तोहफा जितना महँगा होता है और जिस मतलब से दिया जाता है, यह बताना उतना ही मुश्‍किल होता है कि यह वाकई एक तोहफा है या रिश्‍वत। बहुत-से देशों में भ्रष्ट अधिकारी तब तक काम नहीं करते जब तक उनकी जेब गरम न की जाए। और किसी का काम जल्दी करवाने के लिए वे खुशी-खुशी चढ़ावा लेते हैं।
पूरे वर्ल्ड में सबसे Best` PTC Advertising Website है। Clixsense से Online पैसा Income घर बैठे बैठे पैसे कमा सकते हैं। PTC(Paid To Click). इसे PTC Website भी कहते हैं । PTC नाम से ही आप समझ गए होंगे। इसमें भी Ads देखने और Ads पर क्लिक करने और Servey और Offer भी दिए जाते हैं। इस Website से लाखों लोग पैसे कमा रहे हैं। इस Website से आप बहुत तरीकों से पैसे कमा सकते हैं जैसे Ads देखना, Surverys complete करना, Task पूरा करना, गेम खेल कर पैसे कमाना (Clixgrid), और Referrals(invite) करके Online पैसा Income किया जा सकता है।

इस स्कैम के सामने आने के बाद ओडिशा पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बीते 14 सितंबर को एक ट्वीट किया है, जिसमें लिखा है - 'दोस्ती के झूठे दावों के ज़रिये कम उम्र किशारों को ओलिविया होक्स नाम के नये वॉट्सऐप स्पैम से निशाना बनाया जा रहा है. अभिभावकों को सलाह दी जाती है कि वो अपने बच्चों की आॅनलाइन एक्टिविटी पर नज़र रखें और किसी भी अजनबी या संदिग्ध नंबर से मैसेज आने पर उसे एक्सेप्ट न करें या ब्लॉक करें। 
मित्रों श्री राजीव दीक्षित के एक व्याक्यान में उन्होंने बताया था कि वे एक बार जर्मनी गए थे और वहां एक प्रोफेसर से उनका विवाद हो गया। विवाद का विषय था ”भारत महान या जर्मनी?” जब कोई निर्णय नहीं निकला तो उन्होंने एक रास्ता बनाया कि दोनों जन एक दूसरे से उसके देश के बारे में कुछ सवाल पूछेंगे और जिसके जवाब में सबसे ज्यादा हाँ का उत्तर होगा वही जीतेगा और उसी का देश महान। अब राजीव भाई ने प्रश्न पूछना शुरू किया। उनका पहला प्रश्न था-
लक्जरी कार या महंगे मोबाइल जो नए-नए बाजार में आए हैं, को खरीदने से पहले खुद से कभी पूछा है कि, क्या तुम्हें वाकई इसकी जरुरत है या फिर तुम्हारे नजदीकी पड़ोसी या दोस्त ने ख़रीदा है इसलिए? तथ्य यह है कि, यहां तक कि सबसे बुद्धिमान लोग अपने पैसे के साथ बेवकूफाना हरकतें करते हैं- चाहे वह लापरवाह खर्च या समय के साथ जुड़ने वाले छोटे-छोटे खर्च हों. और जब वे चिंता करते रहते हैं कि उनके पैसे वास्तव में कहां जाते हैं, तो इन खर्चों के कारण उनके कड़ी मेहनत वाले पैसे खर्च हो चुके होते हैं.
ई-कॉमर्स कंपनियों का उदाहरण है जो घर के उपकरणों से शुरू शारीरिक उत्पादों को बेचने के लिए ले लो, पुस्तकें सब कुछ करने के लिए apparels. किताबें जलाने का उदाहरण लें, पर ऑनलाइन पाठ्यक्रम Udemy, ई बुक्स, सॉफ्टवेयर है जो जानकारी आधारित उत्पादों रहे हैं. सेवा के मामले में, आप आभासी सहायक की तरह विभिन्न सेवाएं प्रदान कर सकते हैं, ग्राहक सेवा, दिन देखभाल, कोचिंग आदि.
ऐसा जरूरी नहीं है कि 8 घंटे की ऑफिस जॉब ही एक मात्र पैसे कमाने का तरीका है. अगर आपको लिखने का शौक है (ज्यादातर इंग्लिश) तो फ्रीलांस राइटिंग कर सकती हैं. आप मैगजीन और न्यूजपेपर आदि के लिए आर्टिकल लिख सकती हैं. मान लें कि आपको एक लेख के 200 रुपये मिलते है और आप एक दिन में 3 आर्टिकल लिख लेती हैं जो छपें, तो इस तरह आप 18,000 रुपये प्रति माह आराम से कमा सकती हैं.
इसमें या तो आपको पहले से एक्सपर्ट होना पड़ेगा या फिर इससे जुडी हुई हर एक चीज़ की detail knowledge निकालनी पड़ेगी तभी आपका ये बिज़नेस चल पाएगा. आप godaddy से डोमेन खरीद सकते हैं या फिर दुसरे डोमेन registrar से जिसमे आपको 10 डॉलर से भी कम लगेंगे और उसके बाद आपको भविष्य में किसी जिसको जरुरत हो उसको आप ये डोमेन बेच सकते हैं अपने decide किये गए price के according.

आज कल लोगो को जॉब करने का बिलकुल मन नहीं करता है कोई बिजिनेस करना चाहते है या घर बैठे जॉब करके इन्टरनेट से पैसे कमाना चाहता है लोग सोचते है इंटरनेट से पैसे कमाना बहोत तक और घर बैठे आसानी से डॉलर (Dollar) छाप सकते है लेकिन ये इतना आसान नहीं है अगर आपको इन्टरनेट से ऑनलाइन घर पर काम करके पैसे कमाने है तो इसके लिए आपको बहोत मेहनत करना होगा साथ ही साथ स्मार्ट वर्क (Smart Work) भी करना होगा तभी आप पैसे कम सकते है इन्टरनेट से इसके अलावा आपको कई चीजों का ज्ञान होना भी बेहद जरुर है तो इस आर्टिकल में हम आपको कुछ तरीके बताएँगे जो सभी लोग इस्तेमाल करने है इंटरनेट से पैसे कमाने के लिए तो चलिए आइये जान लेते है इंटरनेट से पैसे कमाने के कोन कोन से तरीके है (internet se ghar par online paise kamane ke tarike).  (How to make money online in hindi) हाउ टो मेक मनी ऑनलाइन
×