7 इसलिए, खुद को परमेश्‍वर के अधीन करो, मगर शैतान* का सामना करो और वह तुम्हारे पास से भाग जाएगा। 8 परमेश्‍वर के करीब आओ और वह तुम्हारे करीब आएगा। अरे पापियो, अपने हाथ धोओ, अरे दुचित्ते लोगो, अपने दिलों को शुद्ध करो। 9 अपनी दुर्दशा पर मातम करो और रोओ। तुम्हारी हँसी मातम में और तुम्हारी खुशी उदासी में बदल जाए। 10 यहोवा की नज़रों में खुद को नम्र करो और वह तुम्हें ऊँचा करेगा।

एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कमाने के तरीके बहुत ज्यादा अच्छा है. जिससे आप अपने घर बैठे पैसे कमा सकते हैं. इसके अलावा एफिलिएट मार्केटिंग में यदि आप ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से एफिलिएट नहीं लेना चाहते हैं, तो आप एक ही वेबसाइट से बहुत सारे ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइटों का एफिलिएट  ले सकते हैं. कुलिंक एक ऐसा ही वेबसाइट है, जो आपको एफिलिएट मार्केटिंग का बहुत सारे ऑप्शंस देता है. कुलिंक आपको ढेर सारी अपडेट्स डेली भेजते रहते हैं.
Make Money in Hindi : अगर आप अपने काम से प्रेम करते हों, लेकिन उसमें ज़्यादा पैसा नहीं मिलता हो, तो आपकी दौलत-निर्माण (wealth Creation) की ऐसी रणनीति बनाने की ज़रूरत है, जो ‘दिन की नौकरी’ पर निर्भर न हो। अपने काम से प्रेम करना बहुत अच्छी बात है, लेकिन अगर आप दौलतमंद भी बनना चाहते हैं, तो आपको एक चीज़ सुनिश्चित कर लेनी चाहिए। नौकरी करने में इतने व्यस्त न हो जाएँ कि दौलतमंद बनने की बात भूल ही जाएँ। आपको यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि आपकी प्रिय नौकरी के साथ आपको कौन से दूसरे काम या रणनीतियों का इस्तेमाल करने की ज़रूरत है, ताकि आपको दूसरी या वैकल्पिक आमदनी हो सके।
कोई writing में अच्छा होता है तो कोई singing में. सबके पास अलग अलग कला होता है. हम दुशरो से वो चीज़ सीखते है जो हमे पता नहिं होता. वैसे ही आप अपनी talent के जरिये online आसानी से पैसे कमा पाएंगे, और ये कोई गलत बात भी नहिं है. तो आज के इस लेख में आप जानेंगे, Internet se paise kamane ke tarike in Hindi. आगे बढ़ने से पहले में एक बात clear करना चाहता हूँ के, ये कोई झूट नहीं है; क्यूंकि में भी Internet के जरिये इतना पैसा कमा लेता हूँ, जिससे में आराम से अपनी जरूरतों को पूरा कर पाऊं.
नई दिल्ली (जेएनएन)। आजकल कई ऐसे लोग हैं जो नौकरी के साथ-साथ घर बैठे पार्ट टाइम काम भी करना चाहते हैं। इससे उन्हें ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती और कहीं आना-जाना भी नहीं पड़ता। इसी के चलते घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाने का तरीका काफी पॉपुलर हो रहा है। इंटरनेट पर आज कई ऐसे तरीके मौजूद हैं जो किसी को भी पैसे कमाने का मौकै देते हैं। आंकड़ों पर गौर किया जाए तो भारत और दूसरे देशों में 65,000 से ज्यादा लोग हर महीने ऑनलाइन जॉब के जरिए 10,000 से 40,000 रुपये तक कमा रहे हैं। ऐसे में हम आपको 9 ऐसे तरीके बताने जा रहे है जिसके जरिए आप घर बैठे कमाई कर सकते हैं।
नई दिल्ली (जेएनएन)। आजकल कई ऐसे लोग हैं जो नौकरी के साथ-साथ घर बैठे पार्ट टाइम काम भी करना चाहते हैं। इससे उन्हें ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती और कहीं आना-जाना भी नहीं पड़ता। इसी के चलते घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाने का तरीका काफी पॉपुलर हो रहा है। इंटरनेट पर आज कई ऐसे तरीके मौजूद हैं जो किसी को भी पैसे कमाने का मौकै देते हैं। आंकड़ों पर गौर किया जाए तो भारत और दूसरे देशों में 65,000 से ज्यादा लोग हर महीने ऑनलाइन जॉब के जरिए 10,000 से 40,000 रुपये तक कमा रहे हैं। ऐसे में हम आपको 9 ऐसे तरीके बताने जा रहे है जिसके जरिए आप घर बैठे कमाई कर सकते हैं।
बुधवारी शहरातील ई-आॅरबिट व चित्रा या दोन्ही चित्रपटगृहात सायंकाळी 'पद्मावत'चा प्रीमियर शो होता. त्या ठिकाणी काही अप्रिय घटना घडू नये, या दृष्टीने दोन्ही चित्रपट गृहांना पोलीस संरक्षण दिले. स्वत: पोलीस आयुक्त दत्तात्रय मंडलिक यांनी चित्रपट गृहाला भेट देऊन सुरक्षेचा आढावा घेतला. यावेळी पोलीस उपायुक्त शशिकांत सातव, एसीपी चेतना तिडके, पोलीस निरीक्षक किशोर सूर्यवंशी, नीलिमा आरज, वाहतूक शाखेचे अर्जुन ठोसरे, अजय मालवीय उपस्थित होते. चित्रपटगृहात येणारे दर्शक कुठून येईल व कसे बाहेर जातील, त्यांची पार्किंग व्यवस्था कशी आहे, याबाबत सीपींनी आढावा घेतला.
यह एक और सबसे अच्छा ऑनलाइन व्यवसाय है जो किसी को भी शुरू कर सकते है. वहाँ की तरह कई स्वतंत्र साइटों रहे हैं Upwork, Fiverr, फ्रीलांसर जहां आप एक स्वतंत्र और बोली परियोजनाओं के रूप में शामिल हो सकते हैं. लेकिन अगर आप एक क्षेत्र पर कुछ विशेष कौशल की आवश्यकता है. सबसे फ्रीलांसरों और अधिक परियोजनाओं को पाने के लिए इतने सारे कौशल का उल्लेख है, लेकिन इस तरह से वे ठेके ढीला. बस क्या तुम नहीं, अपने प्रासंगिक sills में विशेषज्ञता रहे हैं उल्लेख.
मित्रों शीर्षक पढ़ कर चौंका जा सकता है कि तुम्हे क्या पड़ी है कोई देश कितना भी अमीर क्यों है? तुम तो अपने देश की चिंता करो न कि तुम्हारा देश इतना गरीब क्यों है? किन्तु मित्रों मेरा आपसे आग्रह है कि कृपया एक बार मेरे इस लेख को ध्यान से अवश्य पढ़ें। लेख शायद जरूरत से ज्यादा लम्बा हो जाये और बीच में शायद आप को ऐसा भी लगे कि मै कहीं लेख के मुख्य शीर्षक से कहीं भटक गया हूँ किन्तु जो बात आपको कहना चाहता हूँ उसके लिये आपके कुछ मिनट चाहूँगा।
Bahut hi asa post dhali hei apne. Mere ku sas mei basa liya jeise hua hei. Kiuki me bhi captcha writing mei join kia tha.mei anjan tha isliye meine join kia. Meine signe kia photo bheja aur address prove ke leye driving license veja photo marke. Bad mei mere se sign liya sign online kor dia. Uske bad ju hua mere pasina sut geya. Mere sign sahit mere photo 100rupeye dalil mei agreement kia hua bhej dia. Me dor goyi kiuki mere pass peise nahi thi. Mere ku 4800 bharana huga jodi mei 10din mei captcha 10000sahi complete na kar saku. Meine nahi kia… Abhi mere ku advocate phone mei notice bhej raha he mei kia koru.. Ap ek upai dijiye… I like your blogs very much

मित्रों आज़ादी के बाद भारत में भ्रष्टाचार तो इतना बढ़ा कि मधु कौड़ा जैसे मुख्यमंत्री ने झारखंड का मुख्यमंत्री बनकर केवल दो साल में ५६०० करोड़ की संपत्ति स्विस बैंक में जमा करवा दी। जब मधु कौड़ा जैसा मुख्यमंत्री केवल दो साल में ५६०० करोड़ रुपये भारत के एक गरीब राज्य से लूट सकता है तो ६३ सालों से सत्ता में बैठे काले अंग्रेजों ने इस अमीर देश से कितना लूटा होगा? ऐसे ही थोड़े ही राजीव गांधी ने कहा था कि जब मै एक रूपया देश की जनता को देता हूँ तो जनता तक केवल १५ पैसे पहुँचते हैं। कूछ समय पहले उत्तर प्रदेश के एक आईएएस अधिकारी अखंड प्रताप सिंह के घर जब इन्कम टैक्स का छापा पड़ा तो उनके घर से ४८० करोड़ रुपये मिले। पूछताछ में अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि ऐसे मेरे १९ घर और हैं। और इस प्रकार से ये पैसा पहुंचता है स्विस बैंक।
ई-कॉमर्स कंपनियों का उदाहरण है जो घर के उपकरणों से शुरू शारीरिक उत्पादों को बेचने के लिए ले लो, पुस्तकें सब कुछ करने के लिए apparels. किताबें जलाने का उदाहरण लें, पर ऑनलाइन पाठ्यक्रम Udemy, ई बुक्स, सॉफ्टवेयर है जो जानकारी आधारित उत्पादों रहे हैं. सेवा के मामले में, आप आभासी सहायक की तरह विभिन्न सेवाएं प्रदान कर सकते हैं, ग्राहक सेवा, दिन देखभाल, कोचिंग आदि.
Make Money in Hindi : अगर आप अपनी तनख़्वाह से नाखुश हैं और/या अपनी नौकरी से नफ़रत करते हैं, तो फिर आपको खुद से यह सवाल पूछना होगा कि आप उस नौकरी में क्यों खप रहे हैं? आप इसके अलावा क्या कर सकते हैं ? सबसे बुरी स्थिति यह होगी कि आप अपनी नौकरी में या तनख़्वाह से संतुष्ट नहीं हैं, लेकिन इसके बावजूद इसे करने में इतने व्यस्त हैं कि आपके पास ज़्यादा समृद्धि और सुख देने वाली रणनीति बनाने का समय ही न हो। अपना सिर झुकाकर आजीविका कमाते समय दौलतमंद बनने के दस लाख अवसर आपके सिर के ऊपर से गुज़र गए हैं और आप उन्हें देख भी नहीं पाए हैं। कल्पना करें कि दस साल बाद आप जागेंगे और तब आपको अपनी भूल का एहसास होगा। अगर आपकी स्थिति यह है, तो इसके बारे में अभी कुछ करें। अपने दृष्टिकोण को बदल डालें और तत्काल कुछ करें।
आपने जरुर इस बिज़नेस का नाम तोह सुना ही होगा,इस बिज़नेस के द्वारा भी हम crorepati बन सकते है,इस बिज़नेस में हमें product को डायरेक्ट बेचना है,यानी हमें product को खरीदकर दुसरे लोगो को इस product को खरीदने के लिए सुझाव देना होगा,हमें ये काम अकेले नहीं करना होता बल्कि लोगो को काम पर रखकर ये काम करना होता है,इस बिज़नेस में ख़ास बात ये होती है की हम इस बिज़नेस में लोगो को काम पर रख सकते है,और हमें उन्हें पैसे देने के लिए महीने का खर्चा भुगतने की जरुरत भी नहीं होती.

इस Website के माध्यम से बहुत से लोगों ने 100$ से 200$ per month कमा चुके है। Online Income कमाए हुए पैसे को आपके Account Payza or WebMoney Account में भेज देती है। इसके अलावा और भी बहुत सी Website है जो captcha solve करने का काम देती है । इसमें ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है, बस Account बनाना है और उस पर Captcha Code Image में दिखाए अनुसार भरकर घर बैठे-बैठे Online paisa Income किया जा सकता है।

Ad-Sense Approve होने के बाद आप उसका Ads Code अपने Blog पर लगाकर पैसे कमा सकते है | जैसाकि आप देख सकते है की मेरे Blog पर भी Adds लगे हुए है | एक बात साफ है कि Ad-Sense Approve करना बहुत ही कठिनाई का काम है, इसमें जरा सी गलती की वजह से Ad-Sense Account Approve नहीं हो पाता है | तो Friends इसके लिए आप BidVertiser का Use कर सकते है | BidVertiser में Ad-Sense से थोड़े कम पैसे मिलते है | लेकिन कुछ भी ना मिले उससे तो अच्छा ही है |


 आजकल बहुत से ऑनलाइन  फ्रॉड होते हैं ऐसे में हो सकता है कि आप भी किसीफ्रॉड में फस जाए इससे पहले आप यह खबर जरूर पढ़ें यदि आपके बच्चे हैं कोई फैमिली मेंबर व्हाट्सएप फेसबुक या और कोई चैटिंग साइट यूज करता है तो उसे सावधानी बरतने को कहे क्योंकि पिछले कुछ दिनों में 'ओलिविया होक्स' नाम का वॉट्सऐप फ्रॉड चर्चा में आया है, जिसे लेकर ओडिशा पुलिस की क्राइम ब्रांच ने चेतावनी जारी करते हुए सावधान रहने की हिदायत दी है।

मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?
Amazon का एक प्रोग्राम है जिसका नाम है Amazon Affiliate Program , इस प्रोग्राम के तहत आप अमेज़न का प्रोडक्ट बिकवाकर कमीशन कमा सकते हैं। इसके लिए आपको एक वेबसाइट बनाना होगा और उसके बाद amazon affiliate account के लिए अप्लाई करना होगा। Account approve होने के बाद आप कोई भी प्रोडक्ट का link बना कर अपने website में लगा सकते हैं। जोभी आपके उस link से वो product खरीदेगा तो उसका commission amount आपको मिलेगा। हर product का अलग अलग कमीशन होता है। बहुत सारे लोग अमेज़न से घर बैठे Online पैसा कमा रहे हैं।
7 इसलिए, खुद को परमेश्‍वर के अधीन करो, मगर शैतान* का सामना करो और वह तुम्हारे पास से भाग जाएगा। 8 परमेश्‍वर के करीब आओ और वह तुम्हारे करीब आएगा। अरे पापियो, अपने हाथ धोओ, अरे दुचित्ते लोगो, अपने दिलों को शुद्ध करो। 9 अपनी दुर्दशा पर मातम करो और रोओ। तुम्हारी हँसी मातम में और तुम्हारी खुशी उदासी में बदल जाए। 10 यहोवा की नज़रों में खुद को नम्र करो और वह तुम्हें ऊँचा करेगा।
माध्यमिक शिक्षा परिषद में सभी स्कूलों को ऑनलाइन करने की प्रक्रिया चल रही है। स्कूलों में सृजित पदों के सापेक्ष शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की नियुक्ति, मान्यता, भवन आदि से संबंधित डाटा ऑनलाइन किया जा रहा है। प्रमुख सचिव के निर्देशों पर 25 जून तक यह कार्य पूर्ण किया जाना है। माध्यमिक शिक्षा परिषद ने इसके लिए वेबसाइट एचटीटीपी://स्कूल्स डॉट आरएमएसए-यूपी डॉट इन शुरू की है। मगर, डाटा ऑनलाइन करने में स्कूल रुचि नहीं दिखा रहे। गुरुवार तक कुछ स्कूलों ने ही वेबसाइट पर अपना ब्यौरा ऑनलाइन किया था। इंटर की मार्कशीट आने के बाद तय समय पर यह कार्य पूर्ण करने को माध्यमिक शिक्षा परिषद ने बीच का रास्ता निकाला है। विभाग स्कूलों को मार्कशीट नहीं दे रहा है। उन्हें पहले वेबसाइट पर अपने स्कूल से संबंधित जानकारी अपलोड करने को कहा जा रहा है। इसकी प्रति जमा करने पर उन्हें मार्कशीट दी जाएगी।
13 तुम में बुद्धिमान और समझदार कौन है? जो ऐसा हो, वह इस बात को अपने बढ़िया चालचलन के कामों से उस कोमलता के साथ दिखाए जो बुद्धि से पैदा होती है। 14 लेकिन अगर तुम्हारे दिलों में ज़बरदस्त ईर्ष्या और झगड़े की भावना हो, तो शेखी न मारो और सच्चाई के खिलाफ झूठ मत बोलो। 15 यह बुद्धि वह नहीं जो स्वर्ग से मिलती है, बल्कि यह दुनियावी, शारीरिक और शैतानी है। 16 इसलिए कि जहाँ ईर्ष्या और झगड़े होते हैं, वहाँ गड़बड़ी और हर तरह की बुराई होती है।
5 मेरे प्यारे भाइयो, सुनो। क्या परमेश्‍वर ने ऐसों को नहीं चुना जो दुनिया में गरीब हैं ताकि वे विश्‍वास में धनी और उस राज के वारिस बनें, जिसका वादा उसने उनसे किया है जो उससे प्यार करते हैं? 6 लेकिन तुमने गरीब इंसान को बेइज़्ज़त किया है। क्या अमीर तुम पर अत्याचार नहीं करते और तुम्हें घसीटकर अदालतों में नहीं ले जाते? 7 क्या वे उस बढ़िया नाम की निंदा नहीं करते, जिस नाम से तुम बुलाए गए हो? 8 अब अगर तुम शास्त्रवचन के मुताबिक इस शाही नियम का पालन करते हो: “तुझे अपने पड़ोसी से वैसे ही प्यार करना है जैसे तू खुद से करता है,” तो तुम बहुत अच्छा काम कर रहे हो। 9 लेकिन अगर तुम भेदभाव दिखाना जारी रखते हो, तो तुम पाप कर रहे हो और यह नियम तुम्हें गुनहगार ठहराता है।

किसानों को बेहतर गुणवत्ता वाले बीज दिए जाएंगे। उनके खेत की मिट्टी की गुणवत्ता के हिसाब से बीज मिलेंगे। इसके अलावा गोदाम और कोल्ड स्टोरेज की चेन बनाने पर जोर होगा ताकि किसानों की फसल बरबाद न हो। इससे खाद्य प्रसंस्करण को भी मजबूती मिलेगी। राष्ट्रीय कृषि बाजार की स्थापना, फसलों की बेहतर कीमत के लिए 585 स्टेशनों पर ई-प्लेटफॉर्म, नई फसल बीमा योजना और मुर्गी पालन और सहायक गतिविधियों के जरिये किसानों की आय दोगुनी की जाएगी। 
पहले यह केवल mcent एप्लीकेशन थी जिसे बाद में browser में बदल दिया गया. mcent ब्राउज़र भी एप्लीकेशन की तरह ही काम करता है, इसमें आपको रेफर करना होता है. जब आप इस एप को आगे इस्तेमाल करेंगे तो आपको बहुत से एप्लीकेशन इंस्टाल करने होंगे जिससे आप पॉइंट्स कमा पाएंगे. यह अप्प बहुआयामी है. यहां आप केवल रेफर और एप्लीकेशन इंस्टाल करने पर ही नहीं बल्कि विज्ञापन देखकर भी पैसे कमा सकते हैं.

Internet पर बहुत सारी ऐसी Website है, Online Income करके पैसे कमा सकते हैं । मैं नहीं कहता कि उनमें से सभी स्कैम(घोटाला) होते हैं, लेकिन विश्वास के लिए उनमें से बहुत से Scam होते हैं। उनमें से कुछ कंपनियां हिट और रन होती है। जिसका Payment प्राप्त करने के इंतजार में रह जाएंगे। पैसे के लिए शॉर्टकट जैसी कोई चीज नहीं होती, परंतु हां, कुछ ऐसे आसान तरीके हैं जैसे, Affiliate Marketing से पैसे कमाना, चीजें बेचना, Servey Form भरना, Captcha Code solver से कमाना, Facebook, Instagram से Income करना, ऐसे और भी बहुत सारी चीजें हैं जिसे अच्छी कमाई कर सकते हैं परंतु जब भी आप कोई भी Website पर काम करे तो उसका review और फीडबैक जरूर पढ़ें अन्यथा आप Online Scam के शिकार हो सकते हैं।

×