महत्वपूर्ण : प्रथम प्रश्नपत्र में तत्वों की दीर्घ आवर्त सारिणी व उनमें उपस्थित तत्वों के गुणों में अवर्तता रसायन की मूल अवधारणाएं, आधुनिक परमाणु संरचना, विभिन्न रासायनिक बंध, तथा द्वितीय प्रश्नपत्र में कार्बन यौगिकों का नामकरण, विभिन्न क्रियात्मक समूहों के सामान्य लक्षण, रासायनिक अभिक्रियाओं की क्रियाविधि तथा पर्यावरणीय अध्ययन को अच्छी तरह से तैयार करें।
शारदीय नवरात्र के शुभारंभ के पहले दिन बुधवार को घट स्थापना की जाएगी। नवरात्र की अष्टमी 17 अक्तूबर को और नवमी 18 को मनाई जाएगी। शास्त्री उमाकांत अवस्थी ने बताया कि पवित्र स्थान की मिट्टी से वेदी बनाकर उसमें जौ और गेहूं बोएं। फिर उन पर कलश को विधिपूर्वक स्थापित करें।  कलश के ऊपर मूर्ति की प्रतिष्ठा करने का विधान है। मूर्ति न हो तो कलश के पीछे स्वास्तिक और उसके दोनों कोनों में दुर्गाजी का चित्र, पुस्तक व शालीग्राम को विराजित कर भगवान विष्णु का पूजन कर दें। 

आज के वक्त में इंटरनेट के जरिए भी ट्यूशन कारोबार अच्छा चल रहा है। ई-ट्यूटर भी ऑनलाइन कमाई के चर्चित तरीकों में से एक है। इनमें तमाम इंस्टीट्यूट से लेकर ऑनलाइन वेबसाइट भी अलग-अलग विषयों के लोगों को पेड ई-ट्यूटर रखती हैं।www.tutorvista.com औरwww.2tion.net जैसी प्रमुख वेबसाइट्स पिछले कुछ समय से भारत में ये सुविधा दे रही है। यूजर्स ऐसी ही साइटों पर खुद को रजिस्टर कर चंद घंटे पढ़ाकर मोटी कमाई कर सकते हैं।
4 अरे बदचलनी करनेवालियो,* क्या तुम नहीं जानतीं कि दुनिया के साथ दोस्ती करने का मतलब परमेश्‍वर से दुश्‍मनी करना है? इसलिए, जो कोई इस दुनिया का दोस्त बनना चाहता है वह खुद को परमेश्‍वर का दुश्‍मन बनाता है। 5 या क्या तुम्हें लगता है कि शास्त्रवचन बिना वजह ही कहता है: “ईर्ष्या करने की जो फितरत हमारे अंदर समायी हुई है, वह लगातार अलग-अलग बातों की चाह करती रहती है”? 6 मगर, परमेश्‍वर जो महा-कृपा हमें देता है वह हमारी इस फितरत से कहीं महान है। इसलिए यह वचन कहता है: “परमेश्‍वर घमंडियों का सामना करता है, मगर नम्र लोगों को अपनी महा-कृपा देता है।”
आपके हिसाब से fear मतलब डर का favorite food कोनसा है ? author की मुताबिक डर का favorite food टाइम है।  जितना ज्यादा टाइम आप डर को provide करोगे उतना ही जयदा डर powerful बनता ही जायेगा।  एक example से समझाने की कोशिश करता हु , सोचिये आपको बाइक चलना सीखने में डर लगता है।  अगर मेरा accident हो गया तो और ठीक से चला नही पाया तो गिर कर चोट लग जाएगी।  कोई जरुरत नहीं कुछ दिन बाद सिख लूंगा।  अब जितना दिन गुजरेगा उतना ज्यादा डर आपका बढ़ता जायेगा  क्यों की डर को उसका favorite food टाइम जितना ज्यादा मिलेगा वो उतना  ही ज्यादा ही powerful होता जायेगा और आपको ये उतना ही ज्यादा कमजोर करता रहेगा। 
ऐसा जरूरी नहीं है कि 8 घंटे की ऑफिस जॉब ही एक मात्र पैसे कमाने का तरीका है. अगर आपको लिखने का शौक है (ज्यादातर इंग्लिश) तो फ्रीलांस राइटिंग कर सकती हैं. आप मैगजीन और न्यूजपेपर आदि के लिए आर्टिकल लिख सकती हैं. मान लें कि आपको एक लेख के 200 रुपये मिलते है और आप एक दिन में 3 आर्टिकल लिख लेती हैं जो छपें, तो इस तरह आप 18,000 रुपये प्रति माह आराम से कमा सकती हैं.

Youtube के बारे में पहले एक Post में आपको बता चुका हूँ | कि Youtube से पैसे कैसे कमाए Video Upload करके | Youtube एक Video Sharing Website है,  जिसके द्वारा आप अपने Video को All World में Share कर सकते है | और Video पर Ads लगाकर पैसे भी कमा सकते है | Youtube पर पैसे कमाने के लिए ये Post पढ़े | Youtube Video को Monetize करके Adsense से पैसे कैसे कमाए ?

यदि आपके पास भी कोई ऐसा टैलेंट है या आपके पास ऐसी कोई प्रतिभा है जिसे आप दुनिया को दिखाना चाहते हैं और आपकी प्रतिभा लोगों के काम को आसान बनाती है तो आप एक YouTube चैनल बना सकते हैं जब आप अपनी वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करेंगे तो लोगों को वह पसंद आनी चाहिए. जब आपकी वीडियो पर बहुत सारे व्यूज आने लगेंगे तो आप वीडियो को Google Adsense से कनेक्ट करके YouTube से पैसे कमा सकते है.
Make Money in Hindi : यह आसानी से हो जाता है। जीवनयापन की खातिर आपको नौकरी की ज़रूरत होती है; हम सबको होती है। नौकरी आपका बहुत सारा वक्त तथा ऊर्जा खा जाती है। आपके पास यह सोचने की फुरसत या शक्ति ही नहीं बचती है कि आप ज़्यादा पैसे कमाने के लिए इससे अलग या बेहतर क्या कर सकते हैं। हममें से ज़्यादातर लोग अपने वित्तीय मामलों को भूलने के दोषी हैं। सच कहा जाए तो हमारे पास जो ख़ाली समय होता है, उसे हम बहुत क़ीमती मानते है। हमें लगता है कि उस बेशक़ीमती वक्त में अपनी वित्तीय स्थिति का विश्लेषण करने या जीवन/कैरियर परिवर्तन की योजना बनाने के बजाय (जो हमें बहुत पहले ही कर लेना चाहिए था) हम ज़्यादा रोचक और रोमांचक काम कर सकते हैं।
कुछ वेबसाइट्स इसके लिए आपको अपने कौशल के विवरण के साथ पर्सनल लिस्टिंग करती हैं ताकि फ्रीलांसिंग का काम देने वाले आपके सीधे संपर्क कर सकें. Outfiverr.com, upwork.com,freelancer.com worknhire.com फ्रीलांसिंग जॉब का मौका दे रही हैं. इन बेवसाइट्स के जरिये घर बैठे आप 5 डॉलर से 100 डॉलर रोजाना तक कमा सकते हैं. अगर क्लाइट्स को आपका काम पंसद आ गया तो वह आपके खाते में पैसे भेज देते हैं. कुछ क्लाइंट्स PayPall खाता खोलने की भी सलाह देते हैं.
5 मेरे प्यारे भाइयो, सुनो। क्या परमेश्‍वर ने ऐसों को नहीं चुना जो दुनिया में गरीब हैं ताकि वे विश्‍वास में धनी और उस राज के वारिस बनें, जिसका वादा उसने उनसे किया है जो उससे प्यार करते हैं? 6 लेकिन तुमने गरीब इंसान को बेइज़्ज़त किया है। क्या अमीर तुम पर अत्याचार नहीं करते और तुम्हें घसीटकर अदालतों में नहीं ले जाते? 7 क्या वे उस बढ़िया नाम की निंदा नहीं करते, जिस नाम से तुम बुलाए गए हो? 8 अब अगर तुम शास्त्रवचन के मुताबिक इस शाही नियम का पालन करते हो: “तुझे अपने पड़ोसी से वैसे ही प्यार करना है जैसे तू खुद से करता है,” तो तुम बहुत अच्छा काम कर रहे हो। 9 लेकिन अगर तुम भेदभाव दिखाना जारी रखते हो, तो तुम पाप कर रहे हो और यह नियम तुम्हें गुनहगार ठहराता है।
मुखौटा कंपनियों के जरिए बड़े पैमाने पर कालेधन को सफेद करने के मामले में आयकर विभाग ने गुरुवार को धनबाद और कोलकाता में 26 ठिकानों पर छापेमारी की। छापे में 250 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा हुआ है। इस दौरान एक करोड़ नकद, लगभग पांच किलो की ज्वेलरी, हवाला के तहत चार करोड़ से अधिक का भुगतान, 50 मुखौटा कंपनियों से संबंधित दस्तावेज, बेनामी संपत्ति एवं फ्लैट मिले। 

साथ ही जानिये कि किस तरह निवेश को डाइवर्सिफाई करके निवेश के रिस्क को कम किया जा सकता है. निवेश के लिए कंपनी कैसे चुन सकते हैं. किस तरीके से निवेश को डाइवर्सिफाई कर सकते हैं. लार्ज कैप, मिड कैप और स्माल कैप कम्पनियों में निवेश का क्या नजरिया होना चाहिए. हेजिंग क्या है और इससे शेयर बाजार में निवेश के रिस्क को कैसे कम किया जाता है. फ्यूचर और ऑप्शन्स क्या हैं यह भी समझने की कोशिश करेंगे.
इस Website से भी आप Online पैसा Income कर सकते हैं। इसमें भी Email पढ़ कर पैसे कमा सकते हैं। यह Website Metrixmails की तरह ही है। लेकिन इसमें गोल्ड मेंबर भी बन सकते हैं जो बहुत ही फायदा मिलता है। अगर आप इस Website के गोल्ड मेंबर बन जाते हैं तो आपको Payment 3 दिन में मिल जाता है। इसलिए इस Website पर 3 दिन में जितना काम हो सके पैसा कमा सकते हैं और उसका Payment अगले 72 घंटे में मिल जाते हैं।
अपनी वेबसाइट बनाने में मदद के लिए ऑनलाइन पर्याप्त सामग्री उपलब्ध है. इसमें आपकी वेबसाइट के लिए डोमेन, टेम्पलेट्स और डिजाइन चुनना शामिल है. जब आप बेवसाइट बना लेते हैं तो आपकी बेवसाइट पर आने वाले ग्राहक गूगल एडसेंस पर जैसे ही साइन अप करते हैं तो आपकी वेबसाइट पर दिखाई देने वाले विज्ञापन पर क्लिक किए जाने से आपको पैसे कमाने में मदद मिलती है. आपकी वेबसाइट पर जितना अधिक ट्रैफिक मिलता है, उतना अधिक कमाई की संभावना अधिक होगी.
हर कोई कार्यालय में अनन्त घंटे बिताए बिना ऑनलाइन पैसा कमाने के लिए चाहता है, लेकिन दुर्भाग्य से हर कोई जानता है कि इस सपने को वास्तविकता में बदलने के लिए कैसे। ज्यादातर लोगों का मानना ​​है कि कोई दैनिक दफ्तरों के बिना अमीर बन सकता है वे पारिवारिक समारोहों को खोने, हर डॉलर बचाने और आशा करते हैं कि कुछ दिन चीजें बदलेगी। यदि हम आपको बताते हैं कि हम आज आपके लिए चीजें बदल सकते हैं, तो क्या होगा?
7 इसलिए, खुद को परमेश्‍वर के अधीन करो, मगर शैतान* का सामना करो और वह तुम्हारे पास से भाग जाएगा। 8 परमेश्‍वर के करीब आओ और वह तुम्हारे करीब आएगा। अरे पापियो, अपने हाथ धोओ, अरे दुचित्ते लोगो, अपने दिलों को शुद्ध करो। 9 अपनी दुर्दशा पर मातम करो और रोओ। तुम्हारी हँसी मातम में और तुम्हारी खुशी उदासी में बदल जाए। 10 यहोवा की नज़रों में खुद को नम्र करो और वह तुम्हें ऊँचा करेगा।
पद्मावत चित्रपट प्रदर्शनास विरोध पाहता नागरिकांची गर्दी उसळण्याची शक्यता आहे. वाहनांच्या वर्दळीमुळे वाहतुकीची कोंडी होण्याची शक्यता आहे. त्यादृष्टीने शांतता व सुव्यवस्था राखण्याच्या दृष्टीने व नागरिकांच्या सुरक्षेच्या दृष्टीने २५ जानेवारी रोजी संबंधित चित्रपटगृहासमोरील मार्गावरील वाहतुकीत गरजेनुसार बदल करण्यात येणार आहे. त्यामुळे नागरिकांनी सहकार्य करावे, असे आवाहन वाहतूक शाखेचे पीआयअर्जुन ठोसरे यांनी केले.
उसे YouTube पर लेकर आना है दोस्तों अगर आप पढ़ाना जानते हैं कॉमेडी वीडियो बनाना जानते हैं फनी वीडियोस बनाना जानते हैं या फिर कोई भी एक नॉलेज जो आप ज्यादा जानते हैं तो आप YouTube के माध्यम से वीडियो में शेयर कर सकते हैं अगर बंधुओं को आपकी वीडियो पसंद आती है लोग आपकी वीडियो देखते हैं तो आपको बहुत ज्यादा पैसा भी मिलेगा जिस दिन आप YouTube पर फेमस हो गए फिर आपके पीछे पैसा भागेगा पैसे के पीछे आप नहीं यह भी अमीर बनने का चांस है
10 क्योंकि जो कोई मूसा के सारे कानून का पालन करता है, मगर सिर्फ एक ही आज्ञा को तोड़ता है, तो वह सारे कानून को तोड़ने का कसूरवार ठहरता है। 11 क्योंकि जिस परमेश्‍वर ने यह कहा: “तू शादी के बाहर यौन-संबंध न रखना,” उसी ने यह भी कहा: “तू खून न करना।” इसलिए अगर तू ने शादी के बाहर यौन-संबंध नहीं रखे, मगर तू ने खून किया, तो तू कानून को तोड़ने का गुनहगार ठहरा। 12 तुम उन लोगों की तरह बोलो और उन लोगों की तरह काम करते रहो, जिनका न्याय आज़ाद लोगों के कानून के मुताबिक होनेवाला है। 13 क्योंकि जो दया नहीं दिखाता उसका न्याय भी बिना दया दिखाए किया जाएगा। दया, दंड पर जीत हासिल करती है।
किन्तु आज भी अंग्रेजों के बनाए सभी क़ानून यथावत चल रहे हैं अंग्रेजों की चिकित्सा पद्धति यथावत चल रही है। और कूछ काम तो हमारे देश के नेताओं ने अंग्रेजों से भी बढ़कर किये। अंग्रेजों ने भारत को लूटने के लिये २३ प्रकार के टैक्स लगाए किन्तु इन काले अंग्रेजों ने ६४ प्रकार के टैक्स हम भारत वासियों पर थोप दिए। और इसी टैक्स को बचाने के लिये देश के लोगों ने टैक्स की चोरी शुरू की जिससे काला बाजारी जैसी समस्या सामने आई। मंत्रियों ने इतने घोटाले किये कि देश की जनता भूखी मरने लगी। भारत की आज़ादी के बाद जब पहली बार संसद बैठी और चर्चा चल रही थी राष्ट्र निर्माण की तो कई सांसदों ने नेहरु से कहा कि वह इंग्लैण्ड से वह उधार की राशी मांगे जो द्वितीय विश्व युद्ध के समय अंग्रेजों ने भारत से उधार के तौर पर ली थी और उसे राष्ट्र निर्माण में लगाए। किन्तु नेहरु ने कहा कि अब वह राशि भूल जाओ। तब सांसदों का कहना था कि इन्होने जो २०० साल तक हम पर जो अत्याचार किया है क्या उसे भी भूल जाना चाहिए? तब नेहरु ने कहा कि हाँ भूलना पड़ेगा, क्यों कि अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में सब कूछ भुलाना पड़ता है। और तब यही से शुरुआत हुई सता की लड़ाई की और राष्ट्र निर्माण तो बहुत पीछे छूट गया था।
एक चीज़ तो हमें पहले से ही पता है की अगर किसी चीज़ को करने में आपको मज़ा आता है तो यकीन मानिये उस काम को करने से आपको ये कभी नहीं लगेगा की आप कोई काम कर रहे हैं. बल्कि ऐसे काम करने में आपकी रूचि और बढ़ेगी. इसके साथ साथ अगर उस काम को करने से आपको पैसे भी मिल जाये तो क्या बात है. Facebook का इस्तमाल हम सभी लोग रोजाना करते हैं तो मैंने सोचा क्यूँ न आप लोगों को ये बता दिया जाये की फेसबुक से पैसे कैसे कमाए. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.
नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका सक्सेस इन हिंदी के मंच पर इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं कैसे आप इंटरनेट की दुनिया में पैसे कमा सकते हैं वो भी बिना किसी इन्वेस्टमेंट के, वैसे तो इंटरनेट की दुनिया से पैसे कमाने के तरीकों के बारे में बहुत सारे लोग पहले से ही जानते हैं किन्तु ऐसे अभी बहुत सारे लोग हैं जिन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं है. यह पोस्ट हमने आज उन्हीं लोगों के लिए लिखी है जो इंटरनेट की दुनिया में पैसे कमाना चाहते हैं और अभी उनके पास जानकारी नहीं है की कैसे कमाए ऑनलाइन पैसा.
13 तुम में बुद्धिमान और समझदार कौन है? जो ऐसा हो, वह इस बात को अपने बढ़िया चालचलन के कामों से उस कोमलता के साथ दिखाए जो बुद्धि से पैदा होती है। 14 लेकिन अगर तुम्हारे दिलों में ज़बरदस्त ईर्ष्या और झगड़े की भावना हो, तो शेखी न मारो और सच्चाई के खिलाफ झूठ मत बोलो। 15 यह बुद्धि वह नहीं जो स्वर्ग से मिलती है, बल्कि यह दुनियावी, शारीरिक और शैतानी है। 16 इसलिए कि जहाँ ईर्ष्या और झगड़े होते हैं, वहाँ गड़बड़ी और हर तरह की बुराई होती है।
आपने आज तक बहुत सारी पोस्ट पढ़ी होंगी, हाउ टू अर्न मनी ऑनलाइन, इंटरनेट की दुनिया में कैसे पैसे कमाएं, ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके. सभी में आपको कई सारे तरीकों के बारे में बताया गया होगा परंतु जो तरीके हम आपको बताने जा रहे हैं वह बेहद ही सरल और जल्दी से होने वाले हैं उन में किसी भी प्रकार का पैसा खर्च नहीं होगा सिर्फ आप समय लगा करके ही बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं.

5 मेरे प्यारे भाइयो, सुनो। क्या परमेश्‍वर ने ऐसों को नहीं चुना जो दुनिया में गरीब हैं ताकि वे विश्‍वास में धनी और उस राज के वारिस बनें, जिसका वादा उसने उनसे किया है जो उससे प्यार करते हैं? 6 लेकिन तुमने गरीब इंसान को बेइज़्ज़त किया है। क्या अमीर तुम पर अत्याचार नहीं करते और तुम्हें घसीटकर अदालतों में नहीं ले जाते? 7 क्या वे उस बढ़िया नाम की निंदा नहीं करते, जिस नाम से तुम बुलाए गए हो? 8 अब अगर तुम शास्त्रवचन के मुताबिक इस शाही नियम का पालन करते हो: “तुझे अपने पड़ोसी से वैसे ही प्यार करना है जैसे तू खुद से करता है,” तो तुम बहुत अच्छा काम कर रहे हो। 9 लेकिन अगर तुम भेदभाव दिखाना जारी रखते हो, तो तुम पाप कर रहे हो और यह नियम तुम्हें गुनहगार ठहराता है।
यह अब कोई राज़ की बात नहीं है कि देश के तमाम विकास परियोजनाओं ने सबसे ज्यादा विकास नेताओं का किया है और इसमें उनके परिवार और महिला- पुरुष मित्रों ने अहम भूमिका निभाई है। दिल्ली को ही लीजिए। ब्लूलाइन बस से लेकर ऑटो तक और जल बोर्ड के पानी टैंकरों से लेकर प्रॉपर्टी के बिजनेस तक, नेताओं के सगे-संबंधियों की ही तूती बोलती है, नेताजी कहीं नहीं होते। वे होते हैं, तो बस पर्दे के पीछे।
ज़्यादा-से-ज़्यादा मुनाफा कमाने का दबाव। हाल के सालों में आयी आर्थिक मंदी का असर दुनिया-भर में सभी कारोबार पर पड़ा है। साथ ही, उन्हें बदलती टेकनॉलजी के साथ कदम-से-कदम मिलाना होता है। इसके अलावा, पूरी दुनिया में और एक ही इलाके में कंपनियों के बीच होड़ इतनी बढ़ गयी है कि मार्केट में अपनी जगह बनाए रखना आसान नहीं। ऐसे में कर्मचारियों को लग सकता है कि मालिक या मैनेजर के ठहराए टार्गेट को पूरा करने का एक ही रास्ता है, बेईमानी करना।
9 जो भाई गरीब है वह अपने ऊँचे किए जाने पर खुशी मनाए, 10 और जो अमीर है वह अपने दीन किए जाने पर खुशी मनाए, क्योंकि वह ऐसे मिट जाएगा जैसे मैदान में उगनेवाला फूल। 11 जैसे सूरज के चढ़ने पर उसकी तपती धूप से घास-पत्ते मुरझा जाते हैं और उनका फूल सूखकर गिर जाता है और उसकी खूबसूरती मिट जाती है, ठीक वैसे ही एक अमीर आदमी भी अपनी ज़िंदगी की भाग-दौड़ में मिट जाएगा।

थॉमस रो ने सबसे पहले सूरत के एक महल नुमा घर को लूटा जो आज भी मौजूद है। फिर पड़ोस के गाँव में और फिर और आगे। खाली हाथ आये इन अंग्रजों के पास जब करोड़ों की संपत्ति आई तो इन्होने अपनी खुद की सेना बनायी। उसके बाद सन १७५७ में रोबर्ट क्लाइव बंगाल के रास्ते भारत आया उस समय बंगाल का राजा सिराजुद्योला था। उसने अंग्रेजों से संधि करने से मना कर दिया तो रोबर्ट क्लाइव ने युद्ध की धमकी दी और केवल ३५० अंग्रेज सैनिकों के साथ युद्ध के लिये गया। बदले में सिराजुद्योला ने १८००० की सेना भेजी और सेनापति बनाया मीर जाफर को। तब रोबर्ट क्लाइव ने मीर जाफर को पत्र भेज कर उसे बंगाल की राज गद्दी का लालच देकर उससे संधि कर ली। रोबर्ट क्लाइव ने अपनी डायरी में लिखा था कि बंगाल की राजधानी जाते हुए मै और मीर जाफर सबसे आगे, हमारे पीछे मेरी ३५० की अंग्रेज सेना और उनके पीछे बंगाल की १८००० की सेना। और रास्‍ते में जितने भी भारतीय हमें मिले उन्होंने हमारा कोई विरोध नहीं किया, उस समय यदि सभी भारतीयों ने मिल कर हमारा विरोध किया होता या हम पर पत्थर फैंके होते तो शायद हम कभी भारत में अपना साम्राज्य नहीं बना पाते। वो डायरी आज भी इंग्लैण्ड में है। मीर जाफर को राजा बनवाने के बाद धोखे से उसे मार कर मीर कासिम को राजा बनाया और फिर उसे मरवाकर खुद बंगाल का राजा बना। ६ साल लूटने के बाद उसका स्थानातरण इंग्लैण्ड हुआ और वहां जा कर जब उससे पूछा गया कि कितना माल लाये हो तो उसने कहा कि मै सोने के सिक्के, चांदी के सिक्के और बेश कीमती हीरे जवाहरात लाया हूँ। मैंने उन्हें गिना तो नहीं किन्तु इन्हें भारत से इंग्लैण्ड लाने के लिये मुझे ९०० पानी के जहाज़ किराये पर लेने पड़े। अब सोचो एक अकेला रोबर्ट क्लाइव ने इतना लूटा तो भारत में उसके जैसे ८४ ब्रीटिश अधीकारी आये जिन्होंने भारत को लूटा। रोबर्ट क्लाइव के बाद वॉरेन हेस्टिंग्स नामक अंग्रेज अधीकारी आया उसने भी लूटा, उसके बाद विलियम पिट, उसके बाद कर्जन, लौरेंस, विलियम मेल्टिन और न जाने कौन कौन से लुटेरों ने लूटा। और इन सभी ने अपने अपने वाक्यों में भारत की जो व्याख्या की उनमे एक बात सबमे सामान है। सबने अपने अपने शब्दों में कहा कि भारत सोने की चिड़िया नहीं सोने का महासागर है। इनका लूटने का प्रारम्भिक तरीका यह था कि ये किसी धनवान व्यक्ति को एक चिट्ठी भेजते थे जिसमे एक करोड़, दो करोड़ या पांच करोड़ स्वर्ण मुद्राओं की मांग करते थे और न देने पर घर में घुस कर लूटने की धमकी देते थे। ऐसे में एक भारतीय सोचता कि अभी नहीं दिया तो घर से दस गुना लूट के ले जाएगा अत: वे उनकी मांग पूरी करते गए। धनवानों के बाद बारी आई देश के अन्य राज्यों के राजाओं की। वे अन्य राज परीवारों को भी ऐसे ही पत्र भेजते थे। कूछ राज परिवार जो कायर थे उनकी मांग मान लेते थे किन्तु कूछ साहसी लोग ऐसे भी थे जो उन्हें युद्ध के लिये ललकारते थे। फिर अंग्रेजों ने राजाओं से संधि करना शुरू कर दिया।


यदि आप उन लोगों में से एक हैं जो स्वेच्छा से या अनिच्छा से – समय पर अपने क्रेडिट कार्ड और उपयोगिता बिल का भुगतान नहीं करते हैं तो आप इसे जाने बिना बहुत सारे पैसे बर्बाद कर रहे हैं. उदाहरण के लिए, यदि आपके पास 2 क्रेडिट कार्ड हैं और आप समय पर देय न्यूनतम राशि को जमा करना भूल जाते हैं, तो आप अकेले देर से शुल्क में बहुत से पैसे का भुगतान करेंगे. मान लीजिए कि आप देर से शुल्क के रूप में हर महीने 1,000 रुपये का भुगतान कर रहे हैं. हालांकि, यदि हर महीने एक ही योजना में निवेश किया जाता है, जो सालाना 8 फीसदी देता हो तो यह वास्तव में आपको 30 सालों में में करीब 15 लाख रुपये ला सकता है. इस प्रकार, यह उल्लेख किए बिना पता चल जाता है कि समय पर हमारे बिलों का भुगतान नहीं करना सबसे बड़ी गलतियों में से एक है जिसे हम आम तौर पर करते हैं और जिसे पहले से बचा जाना चाहिए!
मित्रों जैसा कि आप सब लोग जानते ही होंगे कि विश्व में इस समय करीब २०० देश हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ के पिछले वर्ष के एक सर्वेक्षण के अनुसार विश्व में ८६ महा दरिद्र देश हैं और उनमे भारत १७वे स्थान पर आता है। अर्थात ६९ महा दरिद्र देश भारत से ज्यादा अमीर हैं। केवल १६ महा दरिद्र देश विश्व में ऐसे हैं जो भारत के बाद आते हैं। दुनिया का सबसे अमीर देश इसके अनुसार स्वीटजरलैंड है। मित्रों अब प्रश्न यहाँ से उठता है कि स्वीटजरलैंड सबसे अमीर कैसे है? मेरे एक परीचित एवं अग्रज तुल्य देश के एक वैज्ञानिक श्री राजिव दीक्षित से मिली एक जानकारी के अनुसार स्वीटजरलैंड में कुछ भी नहीं होता। कुछ भी का मतलब कुछ भी नहीं। वहां किसी प्रकार का कोई व्यापार नहीं है, कोई खेती नहीं, कोई छोटा मोटा उद्योग भी नहीं है। फिर क्या कारण है कि स्वीटजरलैंड दुनिया का सबसे अमीर देश है?
मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?
पैसे कौन कमाना नहीं चाहता | कम समय में पैसा कमाने के लिए या जल्द अमीर बनने के लिए लोग दिन रात मेहनत करके पैसे कमाते हैं वहीं दूसरी तरफ पैसा कमाने के गलत तरीके अपना कर भी लोग कम समय में पैसे कमाने की चेष्टा रखते हैं | गलत तरीके से पैसा कमाना अच्छी बात बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि गलत तरीके से पैसे कमाने की लालच में आप अपना समय, मेहनत और पैसा दोनों ही हो सकते हैं |
On May 22, 2012, Musk and SpaceX made history when the company launched its Falcon 9 rocket into space with an unmanned capsule. The vehicle was sent to the International Space Station with 1,000 pounds of supplies for the astronauts stationed there, marking the first time a private company had sent a spacecraft to the International Space Station. Of the launch, Musk was quoted as saying, "I feel very lucky. ... For us, it's like winning the Super Bowl."
तो मित्रों अब मुझे समझ आया कि भारत इतना गरीब कैसे हुआ, किन्तु एक प्रश्न अभी भी सामने है कि स्वीटजरलैंड जैसा देश आज इतना अमीर कैसे है जो आज भी किसी भी प्रकार का कार्य न करने पर भी मज़े कर रहा है। तो मित्रों यहाँ आप जानते होंगे कि स्वीटजरलैंड में स्विस बैंक नामक संस्था है, केवल यही एक काम है जो स्वीटजरलैंड को सबसे अमीर देश बनाए बैठा है। स्विस बैंक एक ऐसा बैंक है जो किसी भी व्यक्ति का कित ना भी पैसा कभी भी किसी भी समय जमा कर लेता है। रात के दो बजे भी यहाँ काम चलता मिलेगा। आपसे पूछा भी नहीं जाएगा कि यह पैसा आपके पास कहाँ से आया? और उसपर आपको एक रुपये का भी ब्याज नहीं मिलेगा। और ये बैंक आपसे पैसा लेकर भारी ब्याज पर लोगों को क़र्ज़ देता है। खाताधारी यदि अपना पैसा निकालने से पहले यदि मर जाए तो उस पैसा का मालिक स्विस बैंक होगा, क्यों कि यहाँ उत्तराधिकार जैसी कोई परम्परा नहीं है। और स्वीटजरलैंड अकेला नहीं है, ऐसे ७० देश और हैं जहाँ काला धन जमा होता है इनमे पनामा और टोबैको जैसे देश हैं।
‘ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पोलिसी’ रखनी चाहिए। लेकिन यह वाक्य अब बेअसर हो गया है। इसलिए अब से हमारा नया वाक्य रखना, ‘डिसओनेस्टी इज़ द बेस्ट फूलिशनेस’। वह पहलेवाला पॉज़िटिव वाक्य लिखकर तो लोग घनचक्कर हो गए हैं। ‘बीवेयर ऑफ थीव्ज़’ का बोर्ड लिखा है, फिर भी लोग लुट गए तो फिर बोर्ड किस काम का? फिर भी लोग यह ‘ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पोलिसी’ का बोर्ड लगाते हैं, फिर भी ऑनेस्टी रह नहीं पाती। तो वह बोर्ड किस काम का? अब तो नये शास्त्रों की और नये सूत्रों की ज़रूरत है। इसलिए हम कहते हैं कि, ‘डिसऑनेस्टी इज़ द बेस्ट फूलिशनेस’ का बोर्ड लगाना।
एजेन्सी । ब्राजिलियन स्टार मार्सेलो भिएइराले कर छलीको आरोप स्वीकार गरेका छन् । उनले कर छलीको आरोप स्वीकार गर्दै चार महिनाको जेल सजाय र जरिवाना तिर्ने भएका स्पेनिस सञ्चारमाध्यमले जनाएका छन् । आफ्नो आय विदेशी फर्मलाई व्यवस्थित गर्न लगाएर ३० वर्षका मार्सेलोले चार लाख ९० हजार युरो कर छली गरेको आरोप स्पेनिस अधिकारीले लगाएका थिए । मार्सेलोले ७ लाख ५० हजार युरो जरिवाना तिर्नु पर्ने भएको छ ।
19 मेरे प्यारे भाइयो, यह बात जान लो। हर इंसान सुनने में फुर्ती करे, बोलने में सब्र करे, और क्रोध करने में धीमा हो। 20 इसलिए कि इंसान के क्रोध करने का नतीजा वह नेकी नहीं होता जिसकी माँग परमेश्‍वर करता है। 21 तो फिर हर तरह की अशुद्धता और उस बेकार चीज़, यानी बुराई को उतार फेंको और अपने अंदर उस वचन के बोए जाने को कोमलता से स्वीकार करो, जो तुम्हारी ज़िंदगियों को बचा सकता है।

इस वेबसाईट को बनाने का मेन उद्येश्य यह है कि, इस वेब पोर्टल में सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) में भाग लेने के लिए सीएससी (सामान्य सेवा केंद्र), संरचना, पात्रता और योग्यता की सुविधाओं के बारे में आवश्यक जानकारी शामिल है। सीएससी के सभी जिला प्रबंधको का विवरण, इस वेबसाइट पर ईमेल आईडी, पता और फोन नंबर के साथ आपको महत्वपूर्ण जानकारी भी मिलेगी। मुझे कंप्यूटर, वेबसाईट, इंटरनेट, सीएससी, के बारे मे बहुत सी जानकारी है तो क्यो ना ओ जानकारी मे आपके साथ शेअर करू, और उस जानकारी का आप सबको फायदा हो, और हमारे सारे भाईओ और बहनो को तरक्की पर ले जाऊ अगर आप भी मेरे साथ साथ उचे शिखर पर जाते है तो मुझे भी बहुत अच्छा महसूस होगा अगर आप रोजाना हमारी वेबसाइट पर आते है तो आपको ढेर सारी जानकारी यहापर मिलती रहेगी और आपको इसका जरूर फायदा होगा इसलिए मैं आपको कहना चाहता हु की आप हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध सभी जानकारी का अच्छेसे फायदा ले और आपको ऐसा लगता है की मैं ऐसे ही कोई आपके लिए अच्छी जानकारी दू तो आप मुझे सुजाव  भी दे सकते है मई जरूर आपके लिए कोशिश करूँगा की आपकी फरमाइश की हुयी जानकारी मैं आप तक पहुँचा सकु, और में आपके साथ एक बात और शेअर करना चाहता हु की हमारी वेबसाइट पर मौजूद आपने हमको आपकी दी हुयी जानकारी पूरी तरह से सुरक्षित है हम आपको कोई भी ईमेल आईडी या कोई भी ऐसे अन्य बाते जो आपने हमारे साथ शेअर की है ओ हम किसीके साथ शेअर नहीं करते मुझे उम्मीद है की आप हमारी वेबसाइट पर रोजाना आकर आपके काम की अच्छी जानकारी प्राप्त करोगे और आगे बढ़ोगे. धन्यवाद !
×