ये कोई मजाक नहिं है. आप चाहे तो आसानी से online यानि Internet से पैसे कमा सकते है. दुनिया में ऐसे लाखो करोड़ों लोग है जो घर बैठे पैसे कमा रहे है. ना उनको बाहर जाना पड़ता है, ना ही किसीके निचे काम करना पड़ता है. पर इसके लिए भी कुछ talent यानि कला की जरुरत है. ऐसा नहिं है के आपके पास कोई talent नहिं है, उपरवाला हर किसीको कुछ ना कुछ talent दे कर धरती पे भेजता है. आपके पास जो talent है, आप उसके जरिये आसानी से पैसे कमा सकते है. बस आपको उसको पहचानने की जरुरत है.
जेफ बेज़ोस को कौन नहीं जानता यह भी हमारी दुनिया के सबसे अमीर आदमी की लिस्ट में चौथे स्थान पर है. जेफ बेज़ोस amazon सीओ और मालिक है. अगर हम जेफ बेज़ोस के बारे में बात करें तो जेफ बेज़ोस शुरू से ही इतने ज्यादा अमीर नहीं थे वह शुरू में एक सामान्य इंसान पर जैसे कि आप और हम हैं लेकिन उनको अपने लाइफ में कुछ करना था उनको लाइफ में एक सक्सेसफुल एंटरप्रिन्योर बनना था
अगर हम Blogging mein AdSense approval की बात करें तो इसे पाने में अधिकतर Bloggers को 4 से 5 महीने लग जाते हैं वहीँ YouTube में AdSense approval पाना बहुत ही आसान सी बात है. हाँ यहाँ एक बात समझने वाली है की YouTube में AdSense Account “AdSense for content hosts” होता हैं जो की Traditional ads जो की blogs में दिखाते हैं उससे काफी अलग है और differently काम करता है.
आयकर विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार शाम तक पूरी तस्वीर साफ होगी। आयकर महानिदेशक अन्वेषण, पटना एस आर मल्लिक के निर्देश पर सहायक निदेशक आयकर अन्वेषण धनबाद सुनील किसन आगवणे के नेतृत्व में छापेमारी चल रही है। इसमें आयकर विभाग के झारखंड-बिहार के 110 अधिकारी एवं कर्मचारी तथा 125 पुलिसकर्मी शामिल हैं। संयुक्त निदेशक अन्वेषण रांची प्रणव कुमार कोले भी धनबाद पहुंचे हैं। धनबाद में नौ कंपनियों की जांच आयकर टीम कर रही है, जो अस्तित्व में हैं और इन्हीं के तहत कारोबार संचालित है।  
अमीर लोग 50 फीसदी पैसे बचाते हैं. बाकी 50 फीसदी वहां निवेश कर रहे हैं जहां आपको अच्छे रिटर्न मिले. “क्या आपको पता है यदि आप निवेश साधन में तीस साल के लिए 800 रुपये प्रति माह मासिक नेटफ्लिक्स चार्ज को बचाते हैं और निवेश करते हैं जो सालाना 15 प्रतिशत देता है, तो आप 55 लाख रुपये जमा कर सकते हैं? यह बुद्धिमानी से निवेश करने का तरीका है. यदि आपकी आयु 30 वर्ष से कम हैं, तो इक्विटी/स्टॉक-लिंक्ड उत्पादों में अपनी बचत का एक बड़ा हिस्सा निवेश करें. ऋण केवल आपकी बचत का एक छोटा सा हिस्सा होना चाहिए.  म्यूचुअल फंड के माध्यम से, आप अपनी बचत को विभिन्न प्रकार के फंडों में फैला सकते हैं. सोने के लिए 5 फीसदी एक्सपोजर लें. 5 से 10 साल की अवधि के साथ रियल एस्टेट में निवेश न करें, और बेहतर विकल्प हैं, रेगो कहते हैं.

माध्यमिक शिक्षा परिषद में सभी स्कूलों को ऑनलाइन करने की प्रक्रिया चल रही है। स्कूलों में सृजित पदों के सापेक्ष शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की नियुक्ति, मान्यता, भवन आदि से संबंधित डाटा ऑनलाइन किया जा रहा है। प्रमुख सचिव के निर्देशों पर 25 जून तक यह कार्य पूर्ण किया जाना है। माध्यमिक शिक्षा परिषद ने इसके लिए वेबसाइट एचटीटीपी://स्कूल्स डॉट आरएमएसए-यूपी डॉट इन शुरू की है। मगर, डाटा ऑनलाइन करने में स्कूल रुचि नहीं दिखा रहे। गुरुवार तक कुछ स्कूलों ने ही वेबसाइट पर अपना ब्यौरा ऑनलाइन किया था। इंटर की मार्कशीट आने के बाद तय समय पर यह कार्य पूर्ण करने को माध्यमिक शिक्षा परिषद ने बीच का रास्ता निकाला है। विभाग स्कूलों को मार्कशीट नहीं दे रहा है। उन्हें पहले वेबसाइट पर अपने स्कूल से संबंधित जानकारी अपलोड करने को कहा जा रहा है। इसकी प्रति जमा करने पर उन्हें मार्कशीट दी जाएगी।
तो मित्रों अब मुझे समझ आया कि भारत इतना गरीब कैसे हुआ, किन्तु एक प्रश्न अभी भी सामने है कि स्वीटजरलैंड जैसा देश आज इतना अमीर कैसे है जो आज भी किसी भी प्रकार का कार्य न करने पर भी मज़े कर रहा है। तो मित्रों यहाँ आप जानते होंगे कि स्वीटजरलैंड में स्विस बैंक नामक संस्था है, केवल यही एक काम है जो स्वीटजरलैंड को सबसे अमीर देश बनाए बैठा है। स्विस बैंक एक ऐसा बैंक है जो किसी भी व्यक्ति का कित ना भी पैसा कभी भी किसी भी समय जमा कर लेता है। रात के दो बजे भी यहाँ काम चलता मिलेगा। आपसे पूछा भी नहीं जाएगा कि यह पैसा आपके पास कहाँ से आया? और उसपर आपको एक रुपये का भी ब्याज नहीं मिलेगा। और ये बैंक आपसे पैसा लेकर भारी ब्याज पर लोगों को क़र्ज़ देता है। खाताधारी यदि अपना पैसा निकालने से पहले यदि मर जाए तो उस पैसा का मालिक स्विस बैंक होगा, क्यों कि यहाँ उत्तराधिकार जैसी कोई परम्परा नहीं है। और स्वीटजरलैंड अकेला नहीं है, ऐसे ७० देश और हैं जहाँ काला धन जमा होता है इनमे पनामा और टोबैको जैसे देश हैं।

हालांकि, Google प्लस सर्किल को गोद लेने के लिए यह निश्चित रूप से आसान है, अपने क्षितिज को ऑफ़लाइन विस्तृत करने का एक तरीका यहां है: सुसान कैन कहते हैं, "यादृच्छिक लोगों के समूह की बजाय व्यक्तिगत बातचीत की श्रृंखला के रूप में उपस्थित होने वाली अगली पार्टी के पास जाएं, शांत: दुनिया में अंतर्दृष्टि की शक्ति जो बात करना बंद नहीं कर सकती है। अधिक ध्यान केंद्रित करें और आपकी इंप्रेशन स्थायी होने की संभावना है, जिससे आप दोस्ती के करीब एक कदम रख सकें।
अगर आप अपनी जिंदगी में success होना चाहते है तोह एक लक्ष्य बनाइये,अगर आपकी जिंदगी में एक साथ बहुत कुछ चल रहा है,या फिर आप एक साथ कई लक्ष्य पूरा करने का प्रयत्न कर रहे है तोह आप कभी भी अमीर नहीं बन सकते.क्योकि करोरपति बनना कोई ऐसा काम नहीं की आप एक हाथ में किताब लिए है और याद कर रहे है,दूसरी ओर टीवी देख रहे है,ऐसा करने पर हो सकता है आप exam में पास भी हो जाओ लेकिन दोस्तों अमीर बनने के लिए एक लक्ष्य का होना बहुत ही जरुरी है.
भारत की चार गुणा 400 मीटर महिला रिले टीम ने आज यहां एशियाई खेलों की इस स्पर्धा में अपने दबदबे को कायम रखते हुए लगातार पांचवां स्वर्ण पदक अपने नाम किया। हिमा दास, एम आर पूवम्मा, सरिताबेन गायकवाड़ और विस्मया वेलुवा कोरोथ की भारतीय महिला चौकड़ी ने तीन मिनट और 28.72 सेकेंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता। बहरीन (3:30.61) और वियतनाम (3:33.23) ने क्रमश: रजत और कांस्य पदक हासिल किये। भारत 2002 एशियाई खेलों के बाद से ही इस स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल करता आ रहा है।
वैसे तो Internet पैसे कमाने के बहुत से तरीके है | लेकिन में यहाँ आप लोगो को 2 तरीको के बारे में बताने जा रहा हूँ | जिनकी सहायता से मैं भी पैसे कमा रहा हूँ, और इसमें कोई रिस्क भी नही है | और इसमें आपको Internet से पैसे कमाने के लिए किसी Degree की जरूरत नही है | लेकिंन आप Internet से पैसे तभी कमा सकते है | जब आपका किसी चीज में रूचि रखते हो | जैसे मान लीजिये आपका खाना बनाने में Interest है | तो आप खाने से सम्बंधित Blog बनाकर, अपने द्वारा तैयार अपनी Recipes को अपने Blog पर डाल सकते हैं |
तो मित्रों अब यदि इन काले अंग्रेजों से आज़ादी चाहिए तो फिर से कोई स्वतंत्रता संग्राम छेड़ना होगा, कोई क्रान्ति को जन्म देना होगा। फिर से किसी को मंगल पण्डे बनना होगा, किसी को भगत सिंह तो किसी को सुभाष चन्द्र बोस बनना होगा। क्यों कि जीवन जीने के केवल दो हे तरीके इस देश में बचे हैं कि या तो जो हो रहा है उसे सहते रहो, शान्ति के नाम पर यथास्थिति बनाए रखो, और सब कूछ सहते सहते मर जाओ या फिर खड़े हो जाओ एक संकल्प के साथ और आवाज़ उठाओ अन्याय के विरुद्ध, फिर से खड़ी करो एक क्रान्ति, और केवल मै और मेरा पारिवार की विचारधारा से भार आकर मेरा राष्ट्र की विचारधारा को अपनाओ। किन्तु आज इस देश में यथास्थिति वाले लोग अधिक है। उन्ही से पूछना चाहूँगा कि क्या ये दिन देखने के लिये ही तुम्हारे पूर्वजों ने जीवन का बलिदान दिया था, क्या उनका त्याग व्यर्थ जाएगा, क्या आज तुम्हारे पूर्वजों को तुम प र गर्व होगा, क्या आने वाली पीढी को तुम पर गर्व होगा, क्या अपनी आने वाली पीढ़ी के लिये विरासत में तुम इन काले अंग्रेजों को छोड़ के जाओगे? आचार्य विष्णु गुप्त (चाणक्य) ने कहा था कि जितनी हानि इस राष्ट्र को दुर्जनों कि दुर्जनता से हुई है उससे कहीं अधिक हानि इस राष्ट्र को सज्जनों कि निष्क्रियता से हुई है। क्या आप सज्जन हमेशा निष्क्रीय ही बने रहेंगे? अब कोई भी यह पूछ सकता है कि हम क्या करें? मित्रों करने को बहुत कूछ है करने की इच्छा शक्ति होनी चाहिए। यदि आप में इच्छा शक्ति है, यदि आप में ज्ञान है तो आप खुद अपने लिये राह बना सकते हैं। चाणक्य ने मगध सम्राट धननंद के दरबार में उसे ही ललकारते हुए कहा था कि मेरे ज्ञान में अगर शक्ति है तो मै अपना पोषण कर सकने वाले सम्राटों का निर्माण स्वयं कर लूँगा।
13 क्या तुम्हारे बीच कोई दुःख झेल रहा है? तो वह प्रार्थना में लगा रहे। क्या किसी का मन खुश है? वह परमेश्‍वर की तारीफ में भजन गाए। 14 क्या कोई तुम्हारे बीच बीमार है? तो वह मंडली* के प्राचीनों को बुलाए और वे उसके लिए प्रार्थना करें और यहोवा के नाम से उस बीमार पर तेल मलें।* 15 और विश्‍वास से की गयी प्रार्थना उस बीमार को अच्छा कर देगी और यहोवा उसे उठाकर खड़ा कर देगा। और अगर उसने पाप भी किए हों, तो वे माफ किए जाएँगे।
बुधवारी शहरातील ई-आॅरबिट व चित्रा या दोन्ही चित्रपटगृहात सायंकाळी 'पद्मावत'चा प्रीमियर शो होता. त्या ठिकाणी काही अप्रिय घटना घडू नये, या दृष्टीने दोन्ही चित्रपट गृहांना पोलीस संरक्षण दिले. स्वत: पोलीस आयुक्त दत्तात्रय मंडलिक यांनी चित्रपट गृहाला भेट देऊन सुरक्षेचा आढावा घेतला. यावेळी पोलीस उपायुक्त शशिकांत सातव, एसीपी चेतना तिडके, पोलीस निरीक्षक किशोर सूर्यवंशी, नीलिमा आरज, वाहतूक शाखेचे अर्जुन ठोसरे, अजय मालवीय उपस्थित होते. चित्रपटगृहात येणारे दर्शक कुठून येईल व कसे बाहेर जातील, त्यांची पार्किंग व्यवस्था कशी आहे, याबाबत सीपींनी आढावा घेतला.
अगर आपको लिखना पसंद है या आपकी लिखने की स्किल (Writing skill) अच्छी है तो आप ऑनलाइन किसी भी वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिख कर घर पर ही काम करके बिना कोई पैसे खर्च करके इंटरनेट से पैसे कमा सकते है आज कल बहोत से ऐसे फ्रीलान्स कंटेंट राइटर ( Freelance content writer) का काम करके महीने के हजारो रूपये कमा रहे है अगर आपको ब्लॉग बनके और इसे मेन्टेन करके की कोई जानकारी नहीं है तो आप ऑनलाइन कंटेंट राइटर बन कर भी पैसे कमा सकते है
×