After leaving Penn, Elon Musk headed to Stanford University in California to pursue a PhD in energy physics. However, his move was timed perfectly with the Internet boom, and he dropped out of Stanford after just two days to become a part of it, launching his first company, Zip2 Corporation. An online city guide, Zip2 was soon providing content for the new websites of both The New York Times and the Chicago Tribune. In 1999, a division of Compaq Computer Corporation bought Zip2 for $307 million in cash and $34 million in stock options.
बांगगढ़ किला कहा जाता है कि सबसे प्रेतवाधित जगह है इंडिया! बंगाल के त्याग किए गए प्राचीन शहर राजस्थान में पहाड़ियों की अरवली पर्वत में सरिस्का रिजर्व की सीमा पर पाए जा सकते हैं। यह 17 में बनाया गया थाth शताब्दी और पहाड़ों के पैर पर भूमि के एक बड़े क्षेत्र को कवर करने वाले मंदिरों, महल और कई द्वार होते हैं। हालांकि इसे 1783 में पूरी तरह से त्याग दिया गया था, स्थानीय लोगों ने अपने गांव को कहीं और ले जाया था।
लक्जरी कार या महंगे मोबाइल जो नए-नए बाजार में आए हैं, को खरीदने से पहले खुद से कभी पूछा है कि, क्या तुम्हें वाकई इसकी जरुरत है या फिर तुम्हारे नजदीकी पड़ोसी या दोस्त ने ख़रीदा है इसलिए? तथ्य यह है कि, यहां तक कि सबसे बुद्धिमान लोग अपने पैसे के साथ बेवकूफाना हरकतें करते हैं- चाहे वह लापरवाह खर्च या समय के साथ जुड़ने वाले छोटे-छोटे खर्च हों. और जब वे चिंता करते रहते हैं कि उनके पैसे वास्तव में कहां जाते हैं, तो इन खर्चों के कारण उनके कड़ी मेहनत वाले पैसे खर्च हो चुके होते हैं.
यदि आपको फोटोग्राफी का शौक है तो आप अपने फोटोग्राफी के शौक को पूरा करने के साथ इससे पैसे भी कमा सकते हो इसके लिए दो अच्छी वेबसाइट FOTOLIA.COM और SHUTTERSTOCK.COM हैं इनमे आप साइनअप करके अपने फोटो को बेच सकते हैं यहाँ पर आप अपने फोटोग्राफी की अच्छी कीमत पा सकते हो. वहीं पेंटिंग की बात करे तो सबसे अच्छा ऑप्शन EBAY.COM है जहां पर रजिस्ट्रेशन करके आप अपने पेंटिंग की अच्छी कीमत पा सकते हो.
अगर आपको लेखन से प्यार है, तो कई साइट पैसे देकर ऑनलाइन बुक लिखवाने का काम देती हैं। राइटर बनकर आप भी अपनी बुक ऑनलाइन पब्लिश करा सकते हैं। इसकी एवज में उसकी रॉयल्टी से कमाई कर सकते हैं। इन साइट्स में से एक है अमेजन किंडल। वेबसाइट पर एक डायरेक्ट पब्लिशिंग नाम का फीचर कॉर्नर दिया गया है। यहां खुद को रजिस्टर करके आप बुक का कंटेंट किंडल बुकस्टोर पर डाल सकते हैं। बुक पब्लिश होने के बाद इसकी बिक्री पर आपको 70 फीसदी तक रॉयल्टी मिलती है। साइट और सेल्फ पब्लिश बुक की अधिक जानकारी के लिए https://kdp.amazon.com/ पर क्लिक करें। इस पर आप अपना अकाउंट भी बनाकर रेगुलर मेम्बर बन सकते हैं।
19 मेरे प्यारे भाइयो, यह बात जान लो। हर इंसान सुनने में फुर्ती करे, बोलने में सब्र करे, और क्रोध करने में धीमा हो। 20 इसलिए कि इंसान के क्रोध करने का नतीजा वह नेकी नहीं होता जिसकी माँग परमेश्‍वर करता है। 21 तो फिर हर तरह की अशुद्धता और उस बेकार चीज़, यानी बुराई को उतार फेंको और अपने अंदर उस वचन के बोए जाने को कोमलता से स्वीकार करो, जो तुम्हारी ज़िंदगियों को बचा सकता है।
उदाहरण के तौर पर एक व्यक्ति ने मेहनत कर एक किताब लिखी उस पर कुछ रूपये लगा दिए और उसे पब्लिश करवा दीया साथ में अपनी रोयाल्टी भी ले ली अब क्या हुआ की वही किताब लोगों को पसंद आ गयी लोगों ने उसे इतना पसंद किया की वही किताब बेहिसाब बिकने लगी और साथ में फायदा ये हुआ की उसी किताब की कॉपी नहीं बनवाइ जा सकती थी क्योंकि किताब के मालिक ने किताब पर अपनी रोयाल्टी ले ली थी.
अमीर होने का मतलब यह है कि आप किसी भी ऋण से मुक्त हैं. अधिकांश अमीर लोग अपने माथे कोई व्यक्तिगत ऋण नहीं लेते हैं. उद्योगपतियों में से कोई भी, जो अन्यथा ऋण से भरे कंपनियों को चलाता है, को व्यक्तिगत रूप से दिवालिया घोषित किया जाता है. लेकिन एक आम आदमी कर्ज लेता है क्योंकि उनके पास अब खर्च करने के लिए पैसा नहीं है. जब आप पैसे खर्च करना चाहते हैं और आपके पास पैसे ना हों तो आपको ऋण की जरुरत होती है. इसलिए, आप अपनी भविष्य की आय उधार लेते हैं और उस आय को भारी ब्याज के साथ चुकाते हैं. यदि आप कमाने से ज्यादा चुकाते हैं, तो आप कभी भी अमीर कैसे होंगे? ऋण या खर्च हमारी आय की शक्ति को दूर कर देते हैं क्योंकि अंत में वे बैंक या वित्तीय संस्थान के खाते में जमा हो जाते हैं. यदि आप 15 साल के लिए हर महीने 20,000 EMI का भुगतान करते हैं, तो आप 36 लाख रुपये का भुगतान करने में असमर्थ हैं. यदि आप कर्ज लेते हैं, तो आप कभी भी अमीर नहीं होंगे.
सुन तस्करीका घटना पछिल्लो समय वृद्धि हुँदै गएका छन् । यसमाथि सरकारले अनुसन्धान बढाउँदै लगेपछि नयाँ–नयाँ रहस्यहरु सतहमा आएका छन् । बढ्दो सुन तस्करीलाई आज कान्तिपुर दैनिक र नयाँ पत्रिकाले केलाएका छन् । ‘सुन तस्करीको लहरो’ शीर्षकको मूल समाचारमा कान्तिपुरले लेखेको छ– उच्च प्रहरी अधिकारीसहित २० जनालाई पक्राउ गरी अनुसन्धान गरिरहेको विशेष समितिले घटना खोतल्दै जाँदा संगठित जालो क्रमशः खुल्दै गइरहेको छ ।’
मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?

पछिल्लो समय आर्थिक गतिविधिमा आएको सुधारका कारण रोजगारी, उत्पादन तथा उत्पादकत्व बढ्दा प्रतिव्यक्ति आयमा सुधार आएको पूर्व अर्थसचिव डा. शान्तराज सुवेदीले बताए । ‘नेपालीको औसत आय बढ्नुमा पुनर्निर्माण, ठूला तथा राष्ट्रिय गौरवका आयोजनाका निर्माणले लिएको गति, सरकारी खर्चमा भएको बढोत्तरीले नेपालको कुल गार्हस्थ उत्पादन बढ्न जाँदा त्यसको प्रभाव प्रतिव्यक्ति आयमा देखियो’, पूर्व अर्थसचिव डा. सुवेदीले अन्नपूर्णसँग भनेका छन्, ‘पछिल्लो समय विद्युत् आपूर्ति बढ्न जाँदा उद्योग क्षेत्रको उत्पादन बढ्नुका साथै निर्माणमा प्रगति हुँदै गएको छ ।’


बांगगढ़ किला कहा जाता है कि सबसे प्रेतवाधित जगह है इंडिया! बंगाल के त्याग किए गए प्राचीन शहर राजस्थान में पहाड़ियों की अरवली पर्वत में सरिस्का रिजर्व की सीमा पर पाए जा सकते हैं। यह 17 में बनाया गया थाth शताब्दी और पहाड़ों के पैर पर भूमि के एक बड़े क्षेत्र को कवर करने वाले मंदिरों, महल और कई द्वार होते हैं। हालांकि इसे 1783 में पूरी तरह से त्याग दिया गया था, स्थानीय लोगों ने अपने गांव को कहीं और ले जाया था।

22 लेकिन वचन पर चलनेवाले बनो,+ न कि सिर्फ सुननेवाले जो झूठी दलीलों से खुद को धोखा देते हैं। 23 क्योंकि जो कोई वचन को सुनता है मगर उस पर चलता नहीं,+ वह उस इंसान के जैसा है जो आईने में अपना* चेहरा देखता है। 24 वह अपनी सूरत देखता है और चला जाता है और फौरन भूल जाता है कि वह किस तरह का इंसान है। 25 मगर जो इंसान आज़ादी दिलानेवाले खरे कानून को करीब से जाँचता* है+ और उसमें लगा रहता है, ऐसा इंसान सुनकर भूलता नहीं मगर उस पर चलता है और इससे वह खुशी पाता है।+
मित्रों जैसा कि आप सब लोग जानते ही होंगे कि विश्व में इस समय करीब २०० देश हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ के पिछले वर्ष के एक सर्वेक्षण के अनुसार विश्व में ८६ महा दरिद्र देश हैं और उनमे भारत १७वे स्थान पर आता है। अर्थात ६९ महा दरिद्र देश भारत से ज्यादा अमीर हैं। केवल १६ महा दरिद्र देश विश्व में ऐसे हैं जो भारत के बाद आते हैं। दुनिया का सबसे अमीर देश इसके अनुसार स्वीटजरलैंड है। मित्रों अब प्रश्न यहाँ से उठता है कि स्वीटजरलैंड सबसे अमीर कैसे है? मेरे एक परीचित एवं अग्रज तुल्य देश के एक वैज्ञानिक श्री राजिव दीक्षित से मिली एक जानकारी के अनुसार स्वीटजरलैंड में कुछ भी नहीं होता। कुछ भी का मतलब कुछ भी नहीं। वहां किसी प्रकार का कोई व्यापार नहीं है, कोई खेती नहीं, कोई छोटा मोटा उद्योग भी नहीं है। फिर क्या कारण है कि स्वीटजरलैंड दुनिया का सबसे अमीर देश है?
यदि आप एक अच्छे विडियो क्रिएटर बन जाते हैं, तो एक आप एक अच्छी इनकम कर सकते हैं. यूट्यूब येसा ही ऑनलाइन प्लेटफार्म प्रदान करता है, जहां से आप अपने वीडियो को क्रिएट कर अपलोड कर सकते हैं. यदि आपके विडियो के उपर एक अच्छा ट्रैफिक आने लगता है, तो यूट्यूब आपके चैनल को मोनेटाइजेशन कर देता है, यानि आपकी वीडियो पर यूट्यूब उस पर विज्ञापन दिखाना शुरु कर देता है.
जैसा की आप जानते हैं की Google पूरी दूनियां में सबसे बड़ी कंपनी है और इसके बहुत सारे सर्विसेज हैं जिसमे की Gmail YouTube भी शामिल हैं। Google का एक और service है जिसका नाम है Google Adsense जोकि हम सब को घर बैठे पैसा कमाई करने का मौका देता है। अगर आप Google Adsense के मेंबर बन जाते हैं जोकि बहुत ही आसान है, तो Google आपको advertisement देता है जिसे आप अपने website में लगाकर पैसा कमा सकते हैं। Google से पैसा कामना सबसे अच्छा और आसान तरीका है और लाखो लोग इससे घर बैठे पैसा कमा रहे हैं।
दुनियाभर के लोग पैसे कमाने के लिए दिन रात मेहनत करते है कोई शारीरिक श्रम करता है तो कोई बौद्धिक श्रम. सभी अपनी रोजमर्रा की जरुरतों को पूरा करने के लिए पैसा कमाने में लगे रहते हैं. इस मेहनती दुनिया में इंटरनेट एक ऐसी जगह बनकर उभर रही है जहां आप बिना कोई मेहनत किए हजारों रुपए कमा सकते है वह भी घर बैठे. इंटरनेट पर ऐसी अनेक वेबसाइट है जहां से आप घर बैठे पैसे कमा सकते है. मौजूदा वक्त में जब यह देश संचार क्रांति के युग से गुज़र रहा है तब लोग रोज़ नए-नए ऐसे तरीके खोज रहे है जिससे वह अपनी ज़िन्दगी और बेहतर बनाना चाहते है. आज कल सबके हाथों में एक स्मार्टफोन मिल ही जाता है, आपको मालूम ना हो पर यह फ़ोन आपको हज़ारो रुपए कमाने में मदद कर सकता है. स्मार्टफोन में आप ऐसे बहुत से एप इनस्टॉल कर सकते है जिनकी मदद से आप लखपति तो नहीं लेकिन अपने रोज़ मर्रा के होने वाले खर्च निकाल सकते हैं. आइए जानते है ऐसी ही कुछ एप के बारे में.
साथ ही जानिये कि किस तरह निवेश को डाइवर्सिफाई करके निवेश के रिस्क को कम किया जा सकता है. निवेश के लिए कंपनी कैसे चुन सकते हैं. किस तरीके से निवेश को डाइवर्सिफाई कर सकते हैं. लार्ज कैप, मिड कैप और स्माल कैप कम्पनियों में निवेश का क्या नजरिया होना चाहिए. हेजिंग क्या है और इससे शेयर बाजार में निवेश के रिस्क को कैसे कम किया जाता है. फ्यूचर और ऑप्शन्स क्या हैं यह भी समझने की कोशिश करेंगे.

इस पोस्ट को जब आप पढ़ेंगे ना तो आपको यह विश्वास हो जाएगा कि अगर आप अपने ड्रीम को फॉलो करेंगे और आप अपने ड्रीम को अचीव करने की दिलो जान से थान नहीं है ना तो लाइफ में कोई भी आदमी कोई भी इंसान कुछ भी कर सकता है बस आपको चाहिए कि वह कॉन्फिडेंस होना चाहिए आपके अंदर वह भरोसा होना चाहिए आपके अंदर की हां मैं यह काम कर सकता हूं और दुनिया का सबसे अमीर आदमी बन सकता हूं
पैसे कमाने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं, आप घर बैठे भी कुछ आसान काम करके पैसा कमा सकते हैं। अपने फ्री टाइम में भी ये काम किए जा सकते हैं। इसके लिए आपके पास इंटरनेट और उसकी बेसिक नॉलेज होना जरूरी है। ऑनलाइन कमाई आपकी आमदनी बढ़ाने का एक शानदार जरिया है। इनमें से 3 पॉपुलर तरीकों की जानकारी हम आपको दे रहे हैं, जिनसे घर बैठे मोटी कमाई की जा सकती है। इसके लिए इंटरनेट पर कुछ वेबसाइट्स आपको पार्ट टाइम और फुल टाइम दोनों तरह से काम मुहैया कराती हैं। 
उदाहरण के तौर पर एक व्यक्ति ने मेहनत कर एक किताब लिखी उस पर कुछ रूपये लगा दिए और उसे पब्लिश करवा दीया साथ में अपनी रोयाल्टी भी ले ली अब क्या हुआ की वही किताब लोगों को पसंद आ गयी लोगों ने उसे इतना पसंद किया की वही किताब बेहिसाब बिकने लगी और साथ में फायदा ये हुआ की उसी किताब की कॉपी नहीं बनवाइ जा सकती थी क्योंकि किताब के मालिक ने किताब पर अपनी रोयाल्टी ले ली थी.

अगर आप नहीं जानते ब्लॉग बनाने के लिए क्या चाहिए तो आप ये पोस्ट पढ़े वेबसाइट या ब्लॉग बनाने के लिए क्या क्या चाहिएजैसे ही आप अपने ब्लॉग बना लेते है इसके बाद आपको रोजाना पोस्ट यानि आर्टिकल लिखना है किसी भी टॉपिक पर जिसके बारे में आपको अच्छे से ज्ञान हो जैसे ही आपके ब्लॉग पे रोजाना अच्छा खासा ट्रैफिक आने लगे यानि लोग आपके ब्लॉग को पढने लगे तो इसके बाद आप अपने ब्लॉग पर एडवरटाइजिंग (Advertising) दिखा कर पैसे (Paise) कमा सकते है तो इसके लिए आप गूगल ऐडसेंस का इस्तेमाल कर सकते है इसके अलावा आप अफ्फीलियेट मार्केटिंग (affiliate marketing) या फिर स्पोंसर कंटेंट लिख कर भी ब्लॉग से पैसे कमा सकते है लेकिन ब्लॉग में आप एकदम से पैसे नहीं कमा सकते है इसके लिए कुछ समय लगता है और साथ में आपको हार्ड वर्क भी करना होगा.
×