हम आशा करते है दोस्तों आपको हमारी सारी पोस्ट पसंद आ रही होगी, हम आशा करते है दोस्तों की आप सिख गए होंगे की Google se Kaise Paise Kamaye आप Hindi Sahayta को अपना बुकमार्क भी बना सकते है, और दोस्तों आपको अगर कोइओ भी परेशानी हो तो निचे कमेंट बॉक्स मे जरुर बताइए, और दोस्तों बेल आइकॉन को प्रेस करना ना भूलिए, तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही फिर मिलते है इसी तरह की पोस्ट मे |
घर बैठे ओनलाइन पैसा कमाना आजकल बहुत ही आसान है और बहुत से लोग ओनलाइन पैसा कमा रहे हैं जिसमे से मैंभी एक हूँ। ओनलाइन पैसा कमाने का तरीका को डिसकस करने से पहले मैं आपको बताना चाहूंगा की मैंने अपने पिछले आर्टिकल में यह बताया था की internet पर बहुत सारे फर्जी काम भी हैं जिसमे लोग पैसे कमाने के बजाये पैसा खो देते हैं। अगर आपने वो आर्टिकल नहीं पढ़ा है तो यहाँ क्लिक करके पढ़ लें और होशियार होजायें।
इकनॉमिक टाइम्स| ઈકોનોમિક ટાઈમ્સ | Pune Mirror | Bangalore Mirror | Ahmedabad Mirror | ItsMyAscent | Education Times | Brand Capital | Mumbai Mirror | Times Now | Indiatimes | नवभारत टाइम्स | महाराष्ट्र टाइम्स | ವಿಜಯ ಕರ್ನಾಟಕ | Go Green | AdAge India | Eisamay | IGN India | NavGujarat Samay | Times of India | Samayam Tamil | Samayam Telugu | Miss Kyra | Bombay Times | Filmipop | BrainBaazi | BrainBaazi APP
ऑनलाइन सेलर बने, यदि आपके पास कोई प्रोडक्ट है जिसे आप अभी अपनी शॉप पर रखकर बेचते हैं या मार्केट में बेचने जाते हैं तो आप आज के बाद से ही यह प्रोडक्ट ऑनलाइन बेचना शुरू कर दें. क्योंकि इंटरनेट की दुनिया में आपको ग्राहक मिलने की कोई कमी नहीं रहेगी ना ही आपको किसी से कहना पड़ेगा कि आप मेरा प्रोडक्ट खरीद लो, बस आपको एक बार अपने प्रोडक्ट के बारे में बताना होगा उसका एक फोटो देना होगा और अपने हिसाब से कीमत तय करनी होगी.
किसानों को बेहतर गुणवत्ता वाले बीज दिए जाएंगे। उनके खेत की मिट्टी की गुणवत्ता के हिसाब से बीज मिलेंगे। इसके अलावा गोदाम और कोल्ड स्टोरेज की चेन बनाने पर जोर होगा ताकि किसानों की फसल बरबाद न हो। इससे खाद्य प्रसंस्करण को भी मजबूती मिलेगी। राष्ट्रीय कृषि बाजार की स्थापना, फसलों की बेहतर कीमत के लिए 585 स्टेशनों पर ई-प्लेटफॉर्म, नई फसल बीमा योजना और मुर्गी पालन और सहायक गतिविधियों के जरिये किसानों की आय दोगुनी की जाएगी। 
कैप्चा के बारे में सब जानते होंगे। जब भी आप कहीं अपनी आईडी बनाते हैं या ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो आपको वहां कैप्चा डालना होता है। आपको बता दें कि कैप्चा इंट्री भी आपको पैसे दिला सकती है। देश और दुनिया में कई ऐसी कंपनियां हैं जिन्हें हजारों और लाखों की संख्या में वेबसाइट की जरूरत है, जिसको कैप्चा के जरिए सुरक्षित किया जाता है। ऐसे में आप कैप्चा सॉल्व कर भी पैसे कमा सकते हैं। हर 1000 कैप्चा सॉल्व करने पर आप 1 से 2 डॉलर कमा सकते हैं।
इस पोस्ट को जब आप पढ़ेंगे ना तो आपको यह विश्वास हो जाएगा कि अगर आप अपने ड्रीम को फॉलो करेंगे और आप अपने ड्रीम को अचीव करने की दिलो जान से थान नहीं है ना तो लाइफ में कोई भी आदमी कोई भी इंसान कुछ भी कर सकता है बस आपको चाहिए कि वह कॉन्फिडेंस होना चाहिए आपके अंदर वह भरोसा होना चाहिए आपके अंदर की हां मैं यह काम कर सकता हूं और दुनिया का सबसे अमीर आदमी बन सकता हूं

१३ वैशाख, काठमाडौं । आज बिहीबार, राजधानीबाट प्रकाशित राष्ट्रिय दैनिक पत्रिकाहरुको पहिलो प्राथमिकतामा आर्थिक विषय परेको छ । तथ्यांक विभागले सार्वजनिक गरेको आर्थिक तथ्यांकलाई आधार बनाउँदै देशको अर्थतन्त्रको समीक्षा गरेका छन् । पत्रपत्रिकाका अनुसार, प्रतिव्यक्ति आय १ लाख नाघेको छ । मुलुकको कुल ग्रार्हस्थ उत्पादन ३० खर्ब रुपैयाँमाथि पुगेपछि प्रतिव्यक्ति आम्दानी पनि त्यसैअनुसार बढेको हो ।
Internet या Online पर सामानों को Selling करना बहुत ही आसान होता है। आपको किसी भी अच्छे Online Shopping वेबसाइट पर Seller Account खोलना होगा और वहां अपने Products का एक Gallery बनाना होगा। बस और क्या आपके सामान लोगों को दिखने लगेंगे। सभी मौजूद Shopping Website आपके सामान के बिकने के बाद एक छोटी सी fees लेते हैं। सभी Shopping वेबसाइट Seller Account की सुविधा नहीं देते हैं। इस Topic के अंत में हमने कुछ अच्छे Shopping वेबसाइट का नाम बताया है जो इसकी सुविधा देते हैं।
क्योंकि हमें ऐसी पोस्ट पढ़ना बहुत अच्छा लगता है और कहीं ना कहीं हमें इन लोगों को देखकर प्रेरणा मिलती है कि हमें भी अपने लाइफ में कुछ करके दिखाना है. दोस्तों और सबसे मजेदार बात तो यह है कि इन में से कुछ लोग शुरूआत से ही अमीर नहीं थे वह शुरू में गरीब थे पर उनके जज्बात उनकी बड़ी सोच उनके जीवन में कुछ कर दिखाने का जुनून ने उनको आज दुनिया के सबसे अमीर आदमियों की लिस्ट में शामिल कर दिया है
इस पोस्ट में आपको गूगल से पैसा कमाने के आसान तरीके ऑनलाइन कमाई के साधन पैसा कमाने के गलत तरीके इंटरनेट से पैसे कमाने के तरीके गांव में पैसे कमाने के तरीके वेबसाइट से पैसे कमाने के तरीके पैसे कमाने की वेबसाइट पैसा कमाने के उपाय  के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें. और इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि दूसरे भी इस जानकारी को जान सकें.
गुरुवार को प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देते हुए एसपी डॉ सत्यप्रकाश ने बताया कि बुधवार की सुबह बारुण ओवरब्रिज के समीप डेहरी के व्यवसायी संजीत कुमार जायसवाल की स्कार्पियो लूटने के उद्देश्य से गोली मारकर हत्या कर दी थी. पूछताछ के क्रम में बताया है कि इस घटना में श्रवण पासवान व अमित सिंह भी शामिल थे. स्कार्पियो को लूट कर रांची में ले जाना था और वहां पर किसी बड़े आदमी का अपहरण कर फिरौती की वसूली करनी थी.

मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?


केन्द्रीय कृषि मंत्री ने यह विचार कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति  की अंतर-सत्र बैठक में  रखे। श्री सिंह ने कहा कि किसानों की आय दुगनी करने संबंधी लक्ष्य प्राप्‍त करने के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं और कार्यक्रम शुरू किए गए हैं। प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना, प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, परम्‍परागत कृषि विकास योजना, मृदा स्वास्थ्य स्‍कीम, नीम लेपित यूरिया और ई-राष्ट्रीय कृषि मंडी स्‍कीमें कुछ ऐसी प्रमुख स्‍कीमें हैं जिनके द्वारा  किसानों की उत्पादकता और आमदनी में सुधार लाने का लक्ष्य पूरा किया जा रहा है।
नियन्त्रणमा परेका चारै जना गोरेको सहयोगी र भरियाको रुपमा विगतमा काम गरिसकेका थिए । सुन कहाँ छ भन्दै उनीहरुलाई यातना दिन थालियो । करेन्टको झड्का सहन नसकेर सनमको ज्यान गयो । अब गोरेलाई सुन खोज्ने मात्र होइन, सनमको शब ठेगान लगाउने जिम्मा पनि आइलाग्यो । यो बीचमा गोरे र महानगरीय प्रहरी अपराध अनुसन्धान महाशाखाका सई बालकृष्ण सञ्जलेबीच संवाद भइरहेको थियो । शव ठेगान लगाउने, सुन खोज्ने र यसवापत सइ सन्जेलले रकम पाउने सहमति भयो ।
इन्टरनेट से ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए Fiverr बहोत ही पोपुलर और जानी मानी वेबसाइट है जहा पर अगर आपको किसी भी चीज़ की नॉलेज है जैसे की विडियो एडिटिंग , ग्राफ़िक , कंटेंट मार्केटिंग इत्यादि तो fiverr आपके लिए बेस्ट वेबसाइट है जहा पर आपको कुछ टास्क करने होते जो भी दिया जाता है जिसकी कीमत 5$ यानि करीब 300 रूपये से शुरू होती है और काम के आधार पर प्राइस आप तय कर सकते है यहाँ पर fiverr आपके कमाए हुए पैसे से अपना हिस्सा काट के आपको पैसे देते है तो आप भी fiver डॉट कॉम पर जाके ऑनलाइन इंटरनेट से पैसे कमा सकते है
×