10 क्योंकि जो कोई मूसा के सारे कानून का पालन करता है, मगर सिर्फ एक ही आज्ञा को तोड़ता है, तो वह सारे कानून को तोड़ने का कसूरवार ठहरता है। 11 क्योंकि जिस परमेश्‍वर ने यह कहा: “तू शादी के बाहर यौन-संबंध न रखना,” उसी ने यह भी कहा: “तू खून न करना।” इसलिए अगर तू ने शादी के बाहर यौन-संबंध नहीं रखे, मगर तू ने खून किया, तो तू कानून को तोड़ने का गुनहगार ठहरा। 12 तुम उन लोगों की तरह बोलो और उन लोगों की तरह काम करते रहो, जिनका न्याय आज़ाद लोगों के कानून के मुताबिक होनेवाला है। 13 क्योंकि जो दया नहीं दिखाता उसका न्याय भी बिना दया दिखाए किया जाएगा। दया, दंड पर जीत हासिल करती है।
मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?
यहाँ पे skill(कला) का मतलब है Internet based skill, जैसे SEO, SMO, Coding, Web Designing, Link Building, Logo designing, etc. दिन ब दिन Internet merketing बढ़ रहा है. तो लोग अपना online business को बढ़ाने केलिए experts को ढून्दते है, जो पैसे के बदले उनका काम करदे. क्यूंकि वो अगर वोही काम करेंगे तो उनको बहुत time लग सकता है. अगर आप भी ऐसे किसी online काम में माहिर है तो आप भी घर बैठे पैसे कमा सकते हैं. अपनी skill के जरिये money कमाने का सबसे बेहतर platform है Fiverr. और भी बहुत सारे websites है, पर ये सबसे popular है.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका सक्सेस इन हिंदी के मंच पर इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं कैसे आप इंटरनेट की दुनिया में पैसे कमा सकते हैं वो भी बिना किसी इन्वेस्टमेंट के, वैसे तो इंटरनेट की दुनिया से पैसे कमाने के तरीकों के बारे में बहुत सारे लोग पहले से ही जानते हैं किन्तु ऐसे अभी बहुत सारे लोग हैं जिन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं है. यह पोस्ट हमने आज उन्हीं लोगों के लिए लिखी है जो इंटरनेट की दुनिया में पैसे कमाना चाहते हैं और अभी उनके पास जानकारी नहीं है की कैसे कमाए ऑनलाइन पैसा.

इस पोस्ट को जब आप पढ़ेंगे ना तो आपको यह विश्वास हो जाएगा कि अगर आप अपने ड्रीम को फॉलो करेंगे और आप अपने ड्रीम को अचीव करने की दिलो जान से थान नहीं है ना तो लाइफ में कोई भी आदमी कोई भी इंसान कुछ भी कर सकता है बस आपको चाहिए कि वह कॉन्फिडेंस होना चाहिए आपके अंदर वह भरोसा होना चाहिए आपके अंदर की हां मैं यह काम कर सकता हूं और दुनिया का सबसे अमीर आदमी बन सकता हूं
14 मेरे भाइयो, अगर कोई कहे कि मैं परमेश्‍वर में विश्‍वास करता हूँ तो ऐसे विश्‍वास का क्या फायदा अगर वह उसके मुताबिक अच्छे काम नहीं करता? क्या ऐसा विश्‍वास उसे उद्धार दिला सकता है? 15 अगर किसी भाई या बहन के पास कपड़े न हों और उसके पास दो वक्‍त की रोटी भी न हो, 16 और तुममें से कोई उससे यह कहे: “ठीक-ठाक रहो, अच्छा खाओ और अच्छा पहनो,” मगर तुम उसे तन ढकने के लिए कपड़ा और पेट भरने के लिए कुछ न दो, तो इसका क्या फायदा? 17 उसी तरह, जिस विश्‍वास के साथ काम न हों, ऐसा विश्‍वास मरा हुआ है।

लेकिन वो शायद ये भूल जाते हैं की Blogging के अलावा भी एक बहुत ही अच्छी option हैं और वो है YouTube में video बनाना और उसे बाद में Monitize करना. आपको ये बात जान के ताजुब होगा की Youtube में आप Blogging की तुलना में ज्यादा पैसे कमा सकते हैं, और ये बात बिलकुल सच है. इसके साथ और एक भी कारण है की लोग पढने की तुलना में देखना ज्यादा पसंद करते हैं इसीलिए तो Books या किताबों की जगह हमारे Hindi films ज्यादा popular हैं और ये बात तो शायद आपको भी पता है.
तुरंत के इन फ़ैसलों के बाद आपको शेयर बाज़ार में अपने निवेश के तरीक़ों में बदलाव करना चाहिए. यह कुछ वक़्त के बाद भी किया जा सकता है. जैसे शेयर बाज़ार के ज़्यादा जोखिम वाले माहौल से पैसे निकालकर आप कम जोखिम वाले में निवेश कर सकते हैं. जैसे डेट फ़ंड या पेंशन फ़ंड या फिर सरकारी बॉन्ड्स में निवेश किया जा सकता है. इन पर बाज़ार की गिरावट का असर कम पड़ता है.

एशियन गेम्स 2018 के 12वें दिन गुरुवार को भारत के लिए गौरवान्वित होने वाले कई पल आए। भारतीय ऐथलीट्स ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया। इनकी बदौलत भारत ने एथलेटिक्स में दो गोल्ड सहित कुल पांच पदक जीते। भारत की ओर से जिनसन जॉनसन ने पुरुषों के 1500 मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल जीता। यही नहीं, 4x400 मीटर दौड़ में महिलाओं ने लगातार पांचवीं बार भारत के लिए सोने का तमगा हासिल किया। पीयू चित्रा ने जहां महिलाओं की 1500 मीटर दौड़ में कांस्य पदक हासिल किया, तो पुरुषों की 4x400 रिले टीम ने सिल्वर पदक पर कब्जा जमाया। इन सबके अलावा डिसकस थ्रो में सीमा पूनिया ने भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता।
आसान हिंदी में शेयर मार्किट की जानकारी मिलना कठिन होता है. शेयर मार्किट की जानकारी केवल कुछ लोगों तक ही सीमित क्यों रहे?  यहां आपको कोई विशेष शेयरों के बारे में मैं टिप्स नहीं देने वाला हूं मगर आपको शेयर बाजार के तकनीकी पहलुओं से हिंदी में अवगत करने की कोशिश करुंगा। साथ ही पाढिये शेयर बाजार में कम से कम कितना निवेश कर सकते हैं अौर शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ हमारी साइट पर।
Elon Reeve Musk (born June 28, 1971) is a South African-born American entrepreneur and businessman who founded X.com in 1999 (which later became PayPal), SpaceX in 2002 and Tesla Motors in 2003. Musk became a multimillionaire in his late 20s when he sold his start-up company, Zip2, to a division of Compaq Computers. Musk made headlines in May 2012, when SpaceX launched a rocket that would send the first commercial vehicle to the International Space Station. He bolstered his portfolio with the purchase of SolarCity in 2016, and cemented his standing as a leader of industry by taking on an advisory role in the early days of President Donald Trump's administration.
अगर आप आजीविका चलाने के लिए नौकरी करते हैं और आपको यह उम्मीद नहीं है कि वह नौकरी आपको अमीर बनाएगी, तब आप ज़रूर उस काम से प्रेम करते होंगे, है ना ? नहीं, यह कोई चालाकी भरा सवाल नहीं है। यह तो हमारी महत्वाकांक्षाओं की प्राथमिकता तय करने के बारे में है। अगर हम सिर्फ़ पैसे की खातिर काम करते हैं, तो इसमें समझदारी लगती है कि हम ज़्यादा से ज़्यादा कमाएँ, जितना हम कमा सकते हैं, जितना हम चाहते हैं।
और आज इन्ही काले अंग्रेजों की संताने आज हम पर शाशन कर रही हैं। वरना क्या वजह है कि मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नयी दुनिया नामक एक अखबार की पुस्तक का विमोचन करने पहुंचे चिताम्बरम ने यह कहा कि भारत तो हज़ारों वर्षों से भयंकर गरीब देश है। और इन्ही काले अंग्रेजों की एक और संतान हमारे प्रधान मंत्री जी हैं। जब ये प्रधान मंत्री बनने के बाद पहली बार ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गए तो वहां उन्हà ��ंने कहा कि भारत तो सदियों से गरीब देश रहा है, ये तो भला हो अंग्रेजों का जिन्होंने आकर हमें अँधेरे से बाहर निकाला, हमारे देश में ज्ञान का सूरज लेकर आये, हमारे देश का विकास किया आदि आदि। अगले दिन लन्दन के सभी बड़े बड़े अखबारों में हैडलाइन छपी थी की भारत शायद आज भी मानसिक रूप से हमारा गुलाम है। और ये वही काले अंग्रेज हैं जो खुद तो देश का पैसा स्विस बैंक में जमा करते गए किन्तु गुजरात जैसे प्रदेश में भी विकास करने वाले नरेन्द्र भाई मोदी पर पता नहीं क्या क्या घटिया आरोप लगाते रहे। मानसिक गुलामी की बाढ़ इतनी आगे बढी कि हमारा मीडिया भी उसमे गोते खाने लगा। देश पर २०० साल तक राज़ करने वाली ईस्ट इण्डिया कम्पनी को एक भारतीय उद्योगपति संजीव मेहता ने १५० लाख डॉलर मूल्य देकर खरीद लिया, जिस कम्पनी ने भारत को २०० साल गुलाम बनाया वह कम्पनी आज एक भारतीय की गुलाम हो गयी है, किन्तु देश के किसी भी चैनल पर इसे नहीं देखा गया क्यों कि हमारा टीआरपी पसाद मीडिया तो उस समय सानिया शोएब की कथित प्रेम कहानी को कवर करने में बिजी था न, उस समय देश से ज्यादा शायद ये दो प्रेम के पंछी मीडिया के लिये जरूरी थे।

5 इसलिए अगर तुम में से किसी को बुद्धि की कमी हो तो वह परमेश्‍वर से माँगता रहे क्योंकि परमेश्‍वर अपने सभी माँगनेवालों को उदारता से और बिना डाँटे-फटकारे बुद्धि देता है और माँगनेवाले को यह दी जाएगी। 6 लेकिन वह विश्‍वास के साथ माँगता रहे, और ज़रा भी शक न करे, क्योंकि जो शक करता है वह समुद्र की लहरों की तरह होता है जो हवा से यहाँ-वहाँ उछलती रहती हैं। 7 दरअसल ऐसा इंसान यह उम्मीद न करे कि वह यहोवा* से कुछ भी पाएगा। 8 वह इंसान अपने फैसलों में दुचित्ता और सारी बातों में डाँवाडोल है।
2 मेरे भाइयो, क्या तुम हमारे महिमा से भरपूर प्रभु यीशु मसीह पर विश्‍वास दिखाने के साथ-साथ भेदभाव भी कर रहे हो? 2 अगर कोई इंसान तुम्हारी सभा में सोने की अंगूठियाँ और शानदार कपड़े पहनकर आता है और एक गरीब आदमी मैले-कुचैले कपड़ों में आता है, 3 तो तुम शानदार कपड़े पहननेवाले को तो अच्छी नज़र से देखते हो और उससे यह कहते हो: “इस बढ़िया जगह पर बैठ” मगर गरीब से यह कहते हो: “तू खड़ा रह,” या “यहाँ ज़मीन पर मेरे पाँव की चौकी के पास बैठ,” 4 तो क्या तुम्हारे बीच ऊँच-नीच का भेदभाव नहीं और क्या तुम ऐसे न्यायी न ठहरे जो दुष्टता से फैसले करते हैं?

यूट्यूब को इन्टरनेट की दुनिया में कोन नहीं जानता ये एक ऐसा प्लेटफार्म है जहा पर आप किसी भी तरह की जानकारी ले सकते हो विडियो की मदद से और वीडियोस को शेयर कर सकते हो अगर आपके पास कोई टैलेंट है जैसे सिंगिंग डांसिंग , कुछ भी टैलेंट हो तो आप यूट्यूब पे शेयर करके कर सकते है और लोगो तक अपने टैलेंट को आसानी से पोहचा सकते है इसके अलावा आप यूट्यूब पे ऑनलाइन पैसे (online paise) भी कमा सकते है विडियो को मोनेटाइज कर के.
×