इस ब्लॉग पर हम आपको Internet, Technology & Education के बारे में आपकी सहायता करते है, आपको हमारी इस वेबसाइट पर Technology से जुडी हुई हर जानकारी मिलेगी आप हमसे किसी भी तरह कि Queries & Doubts पूछ सकते है हम उसका आसान भाषा में आपको जवाब देंगे | हम Hindi Sahayta ब्लॉग पर नए-नए आर्टिकल्स पोस्ट करते रहते है, आप हमारी वेबसाइट के बॉटम में बेल आइकॉन को प्रेस करके हमारी लेटेस्ट पोस्ट्स से अपडेटेड रह सकते है | अगर आप हमारे इस ब्लॉग के बारे में और जानना चाहते है तो कृपया हमारे About Us पेज पर विजिट करे  
Amazon से पैसा कमाने का सबसे आसान तरीका है YouTube channel आप ने वैसा बहुत YouTube चैनल देखा होगा जिसमे लोग mobile phone का review करते हैं और बोलते हैं की इस फ़ोन को खरीदने के लिए description में दिए गए link में जाकर खरीदें। Description में जो लिंक होता है वो Amazon affiliate link होता है और जब लोग उस link को click करके amazon से वो product खरीदते हैं तो उसका commission उस YouTube चैनल के ओनर को मिलता है।

और आज इन्ही काले अंग्रेजों की संताने आज हम पर शाशन कर रही हैं। वरना क्या वजह है कि मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नयी दुनिया नामक एक अखबार की पुस्तक का विमोचन करने पहुंचे चिताम्बरम ने यह कहा कि भारत तो हज़ारों वर्षों से भयंकर गरीब देश है। और इन्ही काले अंग्रेजों की एक और संतान हमारे प्रधान मंत्री जी हैं। जब ये प्रधान मंत्री बनने के बाद पहली बार ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गए तो वहां उन्हà ��ंने कहा कि भारत तो सदियों से गरीब देश रहा है, ये तो भला हो अंग्रेजों का जिन्होंने आकर हमें अँधेरे से बाहर निकाला, हमारे देश में ज्ञान का सूरज लेकर आये, हमारे देश का विकास किया आदि आदि। अगले दिन लन्दन के सभी बड़े बड़े अखबारों में हैडलाइन छपी थी की भारत शायद आज भी मानसिक रूप से हमारा गुलाम है। और ये वही काले अंग्रेज हैं जो खुद तो देश का पैसा स्विस बैंक में जमा करते गए किन्तु गुजरात जैसे प्रदेश में भी विकास करने वाले नरेन्द्र भाई मोदी पर पता नहीं क्या क्या घटिया आरोप लगाते रहे। मानसिक गुलामी की बाढ़ इतनी आगे बढी कि हमारा मीडिया भी उसमे गोते खाने लगा। देश पर २०० साल तक राज़ करने वाली ईस्ट इण्डिया कम्पनी को एक भारतीय उद्योगपति संजीव मेहता ने १५० लाख डॉलर मूल्य देकर खरीद लिया, जिस कम्पनी ने भारत को २०० साल गुलाम बनाया वह कम्पनी आज एक भारतीय की गुलाम हो गयी है, किन्तु देश के किसी भी चैनल पर इसे नहीं देखा गया क्यों कि हमारा टीआरपी पसाद मीडिया तो उस समय सानिया शोएब की कथित प्रेम कहानी को कवर करने में बिजी था न, उस समय देश से ज्यादा शायद ये दो प्रेम के पंछी मीडिया के लिये जरूरी थे।
लोगों के बढ़ते शौक ने पैसे की चाहत को इतना बढ़ा दिया है कि हर कोई बस पैसा कमाना चाहता है। चाहे वो नौकरी से हो बिजनेस से या फिर इंटरनेट से हो। जी हां आपने सही सुना इंटरनेट से । अगर आपके पास थोड़ा सा भी फ्री टाइम है और इंटरनेट का थोड़ा बहुत ज्ञान है, तो ऑनलाइन कमाई आपकी आमदनी बढ़ाने का एक शानदार जरिया बन सकता है। इसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठ कर आसानी से पैसा कमा सकते हैं, तो आइए जानें उन तरीकों के बारे में जिससे आप घर बैठ कर आसानी से पैसा कमा सकते हैं।
7. डाटा एंट्री जॉबः देश में कई तरह की डाटा एंट्री जॉब है, लेकिन साथ ही ऐसी कई कंपनीज भी हैं, जो फर्जी डाटा एंट्री जॉब के नाम पर ठगने का भी काम करती हैं. वह आपसे रजिस्ट्रेशन अमाउंट मांगती हैं और अगर आप एक बार इसे दे देते हैं तो उनकी तरफ से रेस्पॉन्स आना ही बंद हो जाता है. इंटरनेट पर इस जॉब की भरमार है इसलिए गूगल पर कंपनी का रेप्युटेशन जरूर चेक करें.
दुनियाभर के लोग पैसे कमाने के लिए दिन रात मेहनत करते है कोई शारीरिक श्रम करता है तो कोई बौद्धिक श्रम. सभी अपनी रोजमर्रा की जरुरतों को पूरा करने के लिए पैसा कमाने में लगे रहते हैं. इस मेहनती दुनिया में इंटरनेट एक ऐसी जगह बनकर उभर रही है जहां आप बिना कोई मेहनत किए हजारों रुपए कमा सकते है वह भी घर बैठे. इंटरनेट पर ऐसी अनेक वेबसाइट है जहां से आप घर बैठे पैसे कमा सकते है. मौजूदा वक्त में जब यह देश संचार क्रांति के युग से गुज़र रहा है तब लोग रोज़ नए-नए ऐसे तरीके खोज रहे है जिससे वह अपनी ज़िन्दगी और बेहतर बनाना चाहते है. आज कल सबके हाथों में एक स्मार्टफोन मिल ही जाता है, आपको मालूम ना हो पर यह फ़ोन आपको हज़ारो रुपए कमाने में मदद कर सकता है. स्मार्टफोन में आप ऐसे बहुत से एप इनस्टॉल कर सकते है जिनकी मदद से आप लखपति तो नहीं लेकिन अपने रोज़ मर्रा के होने वाले खर्च निकाल सकते हैं. आइए जानते है ऐसी ही कुछ एप के बारे में.

गूगल एड सेंस के जरिए आप ब्लॉग पर विज्ञापन भी लगा सकते हैं, जिससे कुछ कमाई का जरिया बन सकता है। गूगल की सेवा adsense के द्वारा दिए जा रहे विज्ञापन को अपने ब्लॉग पर लगायें। यह आपको हर उस क्लिक के लिए भुगतान करेगा जो आपके ब्लॉग पर दिखाए गए विज्ञापन पर होगा। Google adsense आपको कई तरह के विज्ञापन देता है जैसे वीडियो, चित्र, टेक्स्ट, बैनर इत्यादि। आप इनमे से अपने लिए बेहतर विज्ञापन चुने और अपने ब्लॉग पर लगायें। हालांकि एक बेहतरीन ब्लॉग बनाना एक मुश्किल काम है।
नियन्त्रणमा परेका चारै जना गोरेको सहयोगी र भरियाको रुपमा विगतमा काम गरिसकेका थिए । सुन कहाँ छ भन्दै उनीहरुलाई यातना दिन थालियो । करेन्टको झड्का सहन नसकेर सनमको ज्यान गयो । अब गोरेलाई सुन खोज्ने मात्र होइन, सनमको शब ठेगान लगाउने जिम्मा पनि आइलाग्यो । यो बीचमा गोरे र महानगरीय प्रहरी अपराध अनुसन्धान महाशाखाका सई बालकृष्ण सञ्जलेबीच संवाद भइरहेको थियो । शव ठेगान लगाउने, सुन खोज्ने र यसवापत सइ सन्जेलले रकम पाउने सहमति भयो ।
Make Money in Hindi : बहुत सारे लोग जीवनयापन की ख़ातिर नौकरी करते हैं – और ऐसे लोगों के बिना अमीर लोग ज़्यादा अमीर नहीं बन सकते। इसका यह मतलब नहीं है कि कर्मचारियों का शोषण या इस्तेमाल हो रहा है। जब तक लोग हम्माल बनने का चुनाव करेंगे और तनख़्वाह के लिए अपना सारा वक्त तथा ऊर्जा लगा देंगे, तब तक ऐसे दूसरे लोग हमेशा रहेंगे, जो अवसर को तत्काल ताड़ लेंगे और समृद्ध बन जाएँगे। इसका कारण सिर्फ़ यह है कि वे मुँडेर के ऊपर सिर उठाकर आगे तक देख सकते हैं।
सन १८३४ में अंग्रेज अधिकारी मैकॉले का भारत में आगमन हुआ। उसने अपनी डायरी में लिखा है कि ”भारत भ्रमण करते हुए मैंने भारत में एक भी भिखारी और एक भी चोर नहीं देखा। क्यों कि भारत के लोग आज भी इतने अमीर हैं कि उन्हें भीख मांगने और चोरी करने की जरूरत नहीं है और ये भारत वासी आज भी अपना घर खुला छोड़ कर कहीं भी चले जाते हैं इन्हें तालों की भी जरूरत नहीं है।” तब उसने इंग्लैण्ड जा कर कहा कि भार त को तो हम लूट ही रहे हैं किन्तु अब हमें कानूनन भारत को लूटने की नीति बनानी होगी और फिर मैकॉले के सुझाव पर भारत में टैक्स सिस्टम अंग्रेजों द्वारा लगाया गया। सबसे पहले उत्पादन पर ३५०%, फिर उसे बेचने पर ९०% । और जब और कूछ नहीं बचा तो मुनाफे पर भी टैक्स लगाया गया। इस प्रकार अंग्रजों ने भारत पर २३ प्रकार के टैक्स लगाए।
घर बैठकर कंपनी के काम को करना . ग्राहकों से बातचीत करना इसमें शामिल है. यह काम आभासी सहायक (वर्चुअल असिस्टेंट यानी वीए) करता है. वीए मूल रूप से अपने ग्राहकों के साथ ऑनलाइन वार्तालाप करते हैं और अपने व्यवसाय के पहलुओं का प्रबंधन करते हैं. जब आप आभासी सहायक के रूप में काम करते हैं, तो आप कर्मचारी के रूप में काम करना चुन सकते हैं या आप अपना खुद का व्यवसाय स्थापित कर सकते हैं.
इस पोस्ट को जब आप पढ़ेंगे ना तो आपको यह विश्वास हो जाएगा कि अगर आप अपने ड्रीम को फॉलो करेंगे और आप अपने ड्रीम को अचीव करने की दिलो जान से थान नहीं है ना तो लाइफ में कोई भी आदमी कोई भी इंसान कुछ भी कर सकता है बस आपको चाहिए कि वह कॉन्फिडेंस होना चाहिए आपके अंदर वह भरोसा होना चाहिए आपके अंदर की हां मैं यह काम कर सकता हूं और दुनिया का सबसे अमीर आदमी बन सकता हूं
पंजाब केसरी हिन्दी न्यूज की आधिकारिक वेबसाइट पर आपको न सिर्फ पल -पल की खबर मिलेगी बल्कि आप देख सकते हैं देश और दुनिया के वीडियो भी। क्योंकि हमारे पास है वीडियो और टैक्स्ट की खबरों के लिए एक हजार से ज्यादा रिपोर्ट्स का बड़ा नेटवर्क, जो आप तक सबसे पहले और तेजी से पहुंचा रहे हैं हर खबर। देश, दुनिया,खेल, व्यापार, बॉलीवुड और राजनीति से जुड़ी खबरों के अपडेट के लिए बने रहें पंजाब केसरी के साथ।
पैसा बर्बाद करने से बचने का एक और तरीका है, हर महीने की शुरुआत में एक साधारण बजट बनाना है (वेतन या मासिक आय आने से पहले). अपने द्वारा किए जाने वाले सभी आवश्यक खर्चों की सूची बनाएं. जैसे-जैसे महीना बढ़ता है, खर्चों को एक-एक करके दूर करें. यदि आप सूची में रहते हैं, तो आप कुछ पैसे बचाएंगे. यह पैसा जब सही तरीके से निवेश किया जाता है तो वह धन के निर्माण का कारण बन सकता है. जब आप थोड़ा पैसा बचाते हैं, तो इसे खर्च करने से बचें. इसके बजाय, अपने अनुशासन को पुरस्कृत करने के लिए इसका एक छोटा सा हिस्सा (5-10 फीसदी) खर्च करें. खर्च के साथ अपनी खुशी को जोड़ना बंद करो; इसके बजाय, बचत के साथ खुशी को जोड़ें. यदि आप खर्च करना बंद नहीं कर सकते हैं, तो आप जितना खर्च करेंगे उतना बचाने की कोशिश करें. यह भी मदद कर सकता है.
तस्करीका मुख्य योजनाकार गोरे भनेर चिनिने चूडामणि उप्रेती हुन् । आफ्नो सुन हराएपछि उनले बनलाई नियन्त्रणमा लिएर धापासीस्थित थ्री मोटर्स ग्यारेजमा लगे । अनेक यातना पाएर ड्युटीमा फर्किएका बन अचानक २२ माघमा विमानस्थलभित्रै दुर्घटनामा मारिए । सिसिटिभी फुटेज भन्छ, ‘उताबाट उच्चगतिमा आइरहेको इन्धन ट्याङकरमुनि छिरेका बनले आत्महत्या गरेका हुन ।’ तर अनौठो, यो विषयमा विमानस्थल प्रशासन र प्रहरी संगठनले यो विषयमा गम्भीर अनुसन्धान गरेन । उनको मृत्युलाई सामान्य दुर्घटनाका रुपमा प्रहरी बुलेटिनबाट प्रचार गरियो ।

तो मित्रों अब यदि इन काले अंग्रेजों से आज़ादी चाहिए तो फिर से कोई स्वतंत्रता संग्राम छेड़ना होगा, कोई क्रान्ति को जन्म देना होगा। फिर से किसी को मंगल पण्डे बनना होगा, किसी को भगत सिंह तो किसी को सुभाष चन्द्र बोस बनना होगा। क्यों कि जीवन जीने के केवल दो हे तरीके इस देश में बचे हैं कि या तो जो हो रहा है उसे सहते रहो, शान्ति के नाम पर यथास्थिति बनाए रखो, और सब कूछ सहते सहते मर जाओ या फिर खड़े हो जाओ एक संकल्प के साथ और आवाज़ उठाओ अन्याय के विरुद्ध, फिर से खड़ी करो एक क्रान्ति, और केवल मै और मेरा पारिवार की विचारधारा से भार आकर मेरा राष्ट्र की विचारधारा को अपनाओ। किन्तु आज इस देश में यथास्थिति वाले लोग अधिक है। उन्ही से पूछना चाहूँगा कि क्या ये दिन देखने के लिये ही तुम्हारे पूर्वजों ने जीवन का बलिदान दिया था, क्या उनका त्याग व्यर्थ जाएगा, क्या आज तुम्हारे पूर्वजों को तुम प र गर्व होगा, क्या आने वाली पीढी को तुम पर गर्व होगा, क्या अपनी आने वाली पीढ़ी के लिये विरासत में तुम इन काले अंग्रेजों को छोड़ के जाओगे? आचार्य विष्णु गुप्त (चाणक्य) ने कहा था कि जितनी हानि इस राष्ट्र को दुर्जनों कि दुर्जनता से हुई है उससे कहीं अधिक हानि इस राष्ट्र को सज्जनों कि निष्क्रियता से हुई है। क्या आप सज्जन हमेशा निष्क्रीय ही बने रहेंगे? अब कोई भी यह पूछ सकता है कि हम क्या करें? मित्रों करने को बहुत कूछ है करने की इच्छा शक्ति होनी चाहिए। यदि आप में इच्छा शक्ति है, यदि आप में ज्ञान है तो आप खुद अपने लिये राह बना सकते हैं। चाणक्य ने मगध सम्राट धननंद के दरबार में उसे ही ललकारते हुए कहा था कि मेरे ज्ञान में अगर शक्ति है तो मै अपना पोषण कर सकने वाले सम्राटों का निर्माण स्वयं कर लूँगा।


हर कोई कार्यालय में अनन्त घंटे बिताए बिना ऑनलाइन पैसा कमाने के लिए चाहता है, लेकिन दुर्भाग्य से हर कोई जानता है कि इस सपने को वास्तविकता में बदलने के लिए कैसे। ज्यादातर लोगों का मानना ​​है कि कोई दैनिक दफ्तरों के बिना अमीर बन सकता है वे पारिवारिक समारोहों को खोने, हर डॉलर बचाने और आशा करते हैं कि कुछ दिन चीजें बदलेगी। यदि हम आपको बताते हैं कि हम आज आपके लिए चीजें बदल सकते हैं, तो क्या होगा?
मैंने श्री राजिव दीक्षित जी के दु:खद निधन के बारे में प्रवकता.कॉम की ओर से प्रस्तुत कोई लेख को देखने की अभिलाषा से वेबसाईट को खोजा| ऐसा कोई मृतविवरण तो नहीं मिला, संभवतः ठीक प्रकार से खोज न की हो लेकिन आपका लेख अवश्य देखने और पढ़ने को मिला| आपके लेख में बताये तथ्य को सभी जानते हैं लेकिन बहुत कम लोग हैं जो सोचते भी हैं| लेकिन सोचने वालों की संख्या इतनी कम है कि जैसे बड़े से बर्तन में पाँव भर दूध उबल उबल कर जल जाये नष्ट हो जाये और किसी को मालुम ही न हो| मेरे विचार में जवाहरलाल नेहरु के प्रयोगात्मक समाजवाद से उत्पन्न अभाव से बचने के लिए स्वतन्त्र भारत की पहली पढ़ी-लिखी पेशेवर युवा पीढ़ी ने १९७० दशक से भारत छोड़ अमरीका और दूसरे पाश्चिम देशों में जा बसने का जो बीज बोया था वह वास्तविकता में संपूर्ण आज़ादी थी—अंग्रेजों के बनाये कानूनी चक्रव्यूह से और समाजवाद से| और आज आपका लेख पढ़ ऐसा प्रतीत होता है कि तथाकथिक स्वतंत्रता के तिरेसठ वर्षों बाद आज की युवा-पीढ़ी इन काले अंग्रेजों की सत्ता को उखाड फैंक यथार्थ स्वतंत्रता प्राप्त करेगी| आपका लेख सभी हिंदी-भाषी व प्रांतीय भाषों में प्रकाशित पत्रिकाओं में प्रस्तुत होना चाहिए|

हर कोई चाहता है पैसे कमाना. इसीलिए लोग Google में हर रोज ये search करते रहते है के, “Online paise kaise kamaye“, “Google se paise kaise kamaye“, “Internet se paise kamane ke tarike“, etc. लोगो को पैसे इसीलिए चाहिए, ताकि उनसे वो अपनी ज़रुरतो को पूरी कर सके. उम्र बढ़ने के साथ साथ एक ज़िम्मेदारी भी आ जाता है और अगर आप अभी से पैसे कमाने के तरीके के बारे में जान लेते है तो आपका तो चांदी ही चांदी है. लोग बहुत तरीको से पैसे कमाते है, जैसे job करके, अपने खुद का business start करके, या फिर online से. आप ये सोच रहे होंगे के How to make money Online? क्या ये सम्भब है, या फिर में मजाक कर रहा हूँ.
हम अपने खार्चो को तो रोक नहीं सकते। लिहाजा उन खर्चो में जो रुपए जबरन खर्च होते हैं उन्हें बचाकर हमारा काफी फायदा हो सकता है। जैसे खुल्ले पैसे हम संभालकर रखें, यहां-वहां चिल्लर रखकर भूल जाने की आदत को सुधारें, पुराने कपड़ों की जेब ठीक से चेक करें और पैसे संभाल लें। बाजार में कुछ खास जगहों पर चिल्लर की एवज में मोटे पैसे मिल जाते हैं। मसलन अगर आप 90 रुपए की चिल्लर बेचते हैं तो आपको इसके 100 रुपए मिलेंगे। ऐसे में आपकी 10 रुपए की कमाई हो सकती है। पुराने नोट और खास संख्या के नोट भी महंगे बिकते हैं, जिनके लोग हजारों रुपए तक देते हैं।
ऐड पढ़कर कमाईः ऐसी कई वेबसाइट्स हैं जहां साइनअप करके आप ऐड पढ़कर भी कमाई कर सकते हैं. साइनअप करने के बाद, आपको रेग्युलर बेसिस पर इन साइट्स पर लॉग इन करना होगा और अपने अकाउंट के डैशबोर्ड पर नजर आने वाले ऐड पर क्लिक करना होगा. ऐसी ज्यादातर साइट्स आपको एसएमएस के जरिए ऐड भेजती भी हैं और पढ़ने के लिए रकम भी देती हैं. हर रोज 10-20 मिनट कंप्यूटर पर बिताकर आप ऑफिस जाने से ज्यादा कमा सकते हैं.
यह असंभव कब्रिस्तान कई यात्री जेटों की अंतिम विश्राम स्थान है। एक विशाल डबल डेकर विमान है, जबकि दूसरा ओरिएंट थाई जेटलाइनर कहा जाता है जो 2007 में फुकेत अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विशाल शवों जैसा दिखता है, विमानों को अपने अंदरूनी हिस्सों से अलग कर दिया गया है और अब तत्वों की दया पर निष्क्रिय हैं। कई बेघर परिवारों ने कब्रिस्तान को अपना घर बना दिया है, छोटे शेड में रहते हैं और कभी-कभी अपहरण के हवाई जहाज के अंदर भी।
वैसे तो Internet पैसे कमाने के बहुत से तरीके है | लेकिन में यहाँ आप लोगो को 2 तरीको के बारे में बताने जा रहा हूँ | जिनकी सहायता से मैं भी पैसे कमा रहा हूँ, और इसमें कोई रिस्क भी नही है | और इसमें आपको Internet से पैसे कमाने के लिए किसी Degree की जरूरत नही है | लेकिंन आप Internet से पैसे तभी कमा सकते है | जब आपका किसी चीज में रूचि रखते हो | जैसे मान लीजिये आपका खाना बनाने में Interest है | तो आप खाने से सम्बंधित Blog बनाकर, अपने द्वारा तैयार अपनी Recipes को अपने Blog पर डाल सकते हैं |
टाटा स्टाइल में आप पैसे से पैसा तो कमा सकते हैं, लेकिन 2 को 4 ही कर सकते हैं। अगर आपको अपना पैसा 2 से 10 करना है और वह भी फटाफट, तो आपको अंबानी स्टाइल में काम करना होगा। पहले स्टाइल में पैसा कमाना जरूरी तो होता है, लेकिन थोड़...ी ईमानदारी के साथ। अब तक टाटा का नाम सिर्फ माओवादियों को लेवी देने के लिए खराब हुआ है। जबकि दूसरे स्टाइल की खासियत यह है कि बस पैसा आना चाहिए। कैसे आ रहा है, यह नहीं देखा जाता! इस थ्योरी में माना जाता है कि पैसा कमाने के रास्ते में आने वाली बाधाओं को पैसे से ही साफ किया जा सकता है और ऐसा करने में कोई बुराई भी नहीं है। शायद यही वजह है कि टाटा आज भी टाटा ही हैं, जबकि अंबानी दुनिया के धन्ना सेठों की लिस्ट में बिल गेट्स को टक्कर देते हैं।
आज के समय में एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) काफी ज्यादा पोपुलर हो रहा है लोग इससे काफी अच्छा पैसा कमा रहे है अगर आप किसी के प्रोडक्ट को बेचते है ऑनलाइन तो इसके लिए आपको काफी अच्छा कमिसन मिल जाता है अगर आपका कोई वेबसाइट है या ब्लॉग है तो आप उनके प्रोडक्ट को ऑनलाइन सेल करके काफी अच्छा पैसा कमा सकते है लेकिन इसके लिए आपके ब्लॉग  वेबसाइट या यूट्यूब चैनल होना जरुरी है जिसे पर रोजाना हजारो लोग आये आपके दुवारा प्रमोट किये गए प्रोडक्ट को ख़रीदे तभी आपको उस पर कमिसन मिलेगा
×