इकनॉमिक टाइम्स| ઈકોનોમિક ટાઈમ્સ | Pune Mirror | Bangalore Mirror | Ahmedabad Mirror | ItsMyAscent | Education Times | Brand Capital | Mumbai Mirror | Times Now | Indiatimes | नवभारत टाइम्स | महाराष्ट्र टाइम्स | ವಿಜಯ ಕರ್ನಾಟಕ | Go Green | AdAge India | Eisamay | IGN India | NavGujarat Samay | Times of India | Samayam Tamil | Samayam Telugu | Miss Kyra | Bombay Times | Filmipop | BrainBaazi | BrainBaazi APP

नमस्कार दोस्तों, मैं Prabhanjan, HindiMe(हिन्दीमे) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Enginnering Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We HindiMe Team Support DIGITAL INDIA

Musk founded his third company, Space Exploration Technologies Corporation, or SpaceX, in 2002 with the intention of building spacecraft for commercial space travel. By 2008, SpaceX was well established, and NASA awarded the company the contract to handle cargo transport for the International Space Station—with plans for astronaut transport in the future—in a move to replace NASA’s own space shuttle missions.

हर कोई चाहता है की वो घर बेठ कर पैसे कमायें यदि आप भी ऐसा ही सोचते है तो ! आप घर पर बेठ कर काम करें और पैसे कमाना चाहें तो यह हो सकता है यदि आप स्टूडेंट है या हाउस वाइफ है या फिर अभी आप कोई काम करते नहीं और घर पर रहते है तो इस लेख के जरिये में आपको यही बताने जा रहा हूँ, की यदि आपके घर पर इन्टरनेट की सुविधा है तो आज आप एक बहुत अच्छा पैसा कमाने का तरीका मुझे से सिख के ही जायेंगे और इसमें सबसे अच्छी बात यह है की आपको इसमें कोई भी किसी भी प्रकार का पैसा नहीं लगाना पड़ेगा और न ही इसमें किसी प्रकार की तकनिकी जानकारी की जरुरत है बस  एक बार रोजाना कुछ समय निकाल के इन्टरनेट पर काम करना होगा और कुछ सरल कार्य करने होंगे इसमें आपको अंग्रेज़ी भाषा की अधिक जानकारी होना भी जरुरी नहीं है.


दोस्तों आज की मेरी ये पोस्ट ameer kaise bane in hindi खासकर उन लोगो के लिए बहुत ही उपयोगी है जो ameer बनना चाहते है,दोस्तों पहले का जमाना था जब लोग कहते थे की जिसके पास पैसा है सिर्फ वोही crorepati ya lakhpati बन सकता है,लेकिन आज जमाना change हो चुका है,आज इन्सान को अमीर बनने के लिए पैसे की नहीं बल्कि दिमाग की जरुरत होती है,माना की पैसे से भी पैसा कमाया जा सकता है,लेकिन आज के इस जमाने ने ये सावित कर दिया है की आप अपनी सोच से भी rich बन सकते है,हम आपको कुछ tips बता रहे है,आप उनको follow कीजिये कुछ लोग मेरी ये बात सुनकर मुस्कुराएंगे जरुर लेकिन में आपको बताऊंगा वोह वाकई में आपको बहुत आगे ले जा सकता है-


आपने खरगोश और कछुये की कहानी तो  सुनी होगी , सब जानते है कैसे खरगोश पहले से ही बहुत अच्छे से दौड़ना सुरु किया था और बीच में जाकर सो जाने  वजह से race हर जाता है  और कछुआ  slow और लगातार चलने की वजह से race जीत जाता है। लेकिन  कोई ऐसा creature होता की जो सुरु भी अच्छे से करता और पूरे रास्ते consistent  रहता बिलकुल आखिर में finish लाइन तक,तो वो creature खरगोश  और कछुआ दोनो को ही हरा देता। 
आपने जरुर इस बिज़नेस का नाम तोह सुना ही होगा,इस बिज़नेस के द्वारा भी हम crorepati बन सकते है,इस बिज़नेस में हमें product को डायरेक्ट बेचना है,यानी हमें product को खरीदकर दुसरे लोगो को इस product को खरीदने के लिए सुझाव देना होगा,हमें ये काम अकेले नहीं करना होता बल्कि लोगो को काम पर रखकर ये काम करना होता है,इस बिज़नेस में ख़ास बात ये होती है की हम इस बिज़नेस में लोगो को काम पर रख सकते है,और हमें उन्हें पैसे देने के लिए महीने का खर्चा भुगतने की जरुरत भी नहीं होती.
अगर आप अपनी जिंदगी में success होना चाहते है तोह एक लक्ष्य बनाइये,अगर आपकी जिंदगी में एक साथ बहुत कुछ चल रहा है,या फिर आप एक साथ कई लक्ष्य पूरा करने का प्रयत्न कर रहे है तोह आप कभी भी अमीर नहीं बन सकते.क्योकि करोरपति बनना कोई ऐसा काम नहीं की आप एक हाथ में किताब लिए है और याद कर रहे है,दूसरी ओर टीवी देख रहे है,ऐसा करने पर हो सकता है आप exam में पास भी हो जाओ लेकिन दोस्तों अमीर बनने के लिए एक लक्ष्य का होना बहुत ही जरुरी है.
साथ ही जानिये कि किस तरह निवेश को डाइवर्सिफाई करके निवेश के रिस्क को कम किया जा सकता है. निवेश के लिए कंपनी कैसे चुन सकते हैं. किस तरीके से निवेश को डाइवर्सिफाई कर सकते हैं. लार्ज कैप, मिड कैप और स्माल कैप कम्पनियों में निवेश का क्या नजरिया होना चाहिए. हेजिंग क्या है और इससे शेयर बाजार में निवेश के रिस्क को कैसे कम किया जाता है. फ्यूचर और ऑप्शन्स क्या हैं यह भी समझने की कोशिश करेंगे.
तो मित्रों अब मुझे समझ आया कि भारत इतना गरीब कैसे हुआ, किन्तु एक प्रश्न अभी भी सामने है कि स्वीटजरलैंड जैसा देश आज इतना अमीर कैसे है जो आज भी किसी भी प्रकार का कार्य न करने पर भी मज़े कर रहा है। तो मित्रों यहाँ आप जानते होंगे कि स्वीटजरलैंड में स्विस बैंक नामक संस्था है, केवल यही एक काम है जो स्वीटजरलैंड को सबसे अमीर देश बनाए बैठा है। स्विस बैंक एक ऐसा बैंक है जो किसी भी व्यक्ति का कित ना भी पैसा कभी भी किसी भी समय जमा कर लेता है। रात के दो बजे भी यहाँ काम चलता मिलेगा। आपसे पूछा भी नहीं जाएगा कि यह पैसा आपके पास कहाँ से आया? और उसपर आपको एक रुपये का भी ब्याज नहीं मिलेगा। और ये बैंक आपसे पैसा लेकर भारी ब्याज पर लोगों को क़र्ज़ देता है। खाताधारी यदि अपना पैसा निकालने से पहले यदि मर जाए तो उस पैसा का मालिक स्विस बैंक होगा, क्यों कि यहाँ उत्तराधिकार जैसी कोई परम्परा नहीं है। और स्वीटजरलैंड अकेला नहीं है, ऐसे ७० देश और हैं जहाँ काला धन जमा होता है इनमे पनामा और टोबैको जैसे देश हैं।
केंद्रीय कृषि मंत्री ने बताया कि उद्यम विकास का मार्ग प्रशस्त करने के लिए आरकेवीवाई के दिशा निर्देशों में परिवर्तन किया जा रहा है। कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने 2017-18 तक 24 मिलियन टन दलहन उत्पादन करने की कार्य योजना तैयार कर ली है। प्रति बूंद अधिक फसल का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए नाबार्ड ने 5000 करोड़ रुपये की प्रारंभिक धनराशि के साथ एक समर्पित सूक्ष्म सिंचाई कोष बनाया गया है।
आपने कई इस तरह के किस्से सुनें होंगे कि कैसे कोई रातों रात शेयरों में पैसा लगा कर अमीर बन गया। आपने यह भी सुना होगा कि कैसे कोई कम्पनी का शेयर कुछ ही समय में दो गुना, तीन गुना या कई गुना हो गया। इससे उलट यह भी सुना होगा कि कैसे कोई शेयर बाजार में निवेश कर के बहुत घाटे में आ गया। हमारा उद्देश्य होना चाहिए कि इस फ़ायदे और घाटे में संतुलन बना कर अपने निवेश पर ऐसा रिटर्न निरंतर प्राप्त कर सकें जिससे हमारा निवेश अधिक रिस्क में ना फँसे। तो जब हम इस ब्लॉग पर Share Market in Hindi के बारे में पढ़ेंगे तो यह भी सिखाने की कोशिश करेंगे कि कैसे अपने रिस्क को कम से कम कर सकते हैं।

ऐसा जरूरी नहीं है कि 8 घंटे की ऑफिस जॉब ही एक मात्र पैसे कमाने का तरीका है. अगर आपको लिखने का शौक है (ज्यादातर इंग्लिश) तो फ्रीलांस राइटिंग कर सकती हैं. आप मैगजीन और न्यूजपेपर आदि के लिए आर्टिकल लिख सकती हैं. मान लें कि आपको एक लेख के 200 रुपये मिलते है और आप एक दिन में 3 आर्टिकल लिख लेती हैं जो छपें, तो इस तरह आप 18,000 रुपये प्रति माह आराम से कमा सकती हैं.
ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पॉलिसी और सत्य कभी भी असत्य नहीं बनता है। लेकिन श्रद्धा डगमगा गई है और काल भी ऐसा है। रात में किसकी सत्ता होती है? चोरों का साम्राज्य होता है। तब यदि अपनी दुकान खोलकर बैठें, तब तो वे सब उठा ले जाएँगे। यह काल तो चोरों का है। उससे क्या हमें अपनी पद्धति बदल देनी चाहिए? सुबह तक दुकान बंद रखो, लेकिन अपनी पद्धति तो नहीं ही बदलनी चाहिए। ये राशन के नियम हों, उसमें कोई ‘पोल’ (गड़़बड़़,गफलत,घोटाला) मारकर चलता बने, तो वह लाभ मानता है, और दूसरे क्यों नहीं मानते? यह तो, यदि घर में सभी असत्य बोलें तो किस पर विश्वास करें? और यदि एक पर विश्वास करें, तब तो सभी पर विश्वास करना चाहिए न? लेकिन यह तो घर में विश्वास, वह भी अंधा विश्वास करता है। किसी की सत्ता नहीं, कोई कुछ कह सके, ऐसा नहीं है। यदि खुद की सत्ता होती तब तो कोई स्टीमर डूबता ही नहीं। लेकिन ये तो लट्टू हैं, प्रकृति नचाए वैसे नाचते हैं। पर-सत्ता क्यों कहा है? अपने को पसंद हो वहाँ भी ले जाता है और नहीं पसंद हो, वहाँ भी ले जाता है। नहीं पसंद हो, वहाँ पर तो वह अनिच्छा से भी जाता है, इसलिए वह परसत्ता ही है न!
धनबाद, झरिया, गोविंदपुर में प्रदीप देवरालिया, कृष्ण गोपाल अग्रवाल, ओम प्रकाश डोकानिया, अतुल डोकानिया, अमित डोकानिया, रोहित शर्मा, योगेंद्र सिंह, अरुण कुमार सिंह, दो सीए सुमित कुमार सुल्तानियां (एस के सुल्तानिया एंड कंपनीज) तथा श्याम सुंदर साह शामिल हैं। दोनों चार्टर्ड एकाउंटेंट की भूमिका की टीम गंभीरता से जांच कर रही है। बताया गया कि पेपर कंपनियों के माध्यम से काले धन को सफेद करने से संबंधित कई दस्तावेज सीए के ठिकानों से मिले हैं। 50 से अधिक कंपनियों के दस्तावेज मिले हैं। देवरालिया एवं डोकानिया परिवार में कारोबारी साझेदारी के अलावा रिश्तेदारी भी है।  
5 इसलिए अगर तुममें से किसी को बुद्धि की कमी हो तो वह परमेश्‍वर से माँगता रहे+ और वह उसे दी जाएगी,+ क्योंकि परमेश्‍वर सबको उदारता से और बिना डाँटे-फटकारे* देता है।+ 6 लेकिन वह विश्‍वास के साथ माँगता रहे+ और ज़रा भी शक न करे,+ क्योंकि जो शक करता है वह समुंदर की लहरों जैसा होता है जो हवा से यहाँ-वहाँ उछलती रहती हैं। 7 दरअसल ऐसा इंसान यह उम्मीद न करे कि वह यहोवा* से कुछ पाएगा। 8 ऐसा इंसान उलझन में रहता है*+ और सारी बातों में डाँवाँडोल होता है।
ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पॉलिसी और सत्य कभी भी असत्य नहीं बनता है। लेकिन श्रद्धा डगमगा गई है और काल भी ऐसा है। रात में किसकी सत्ता होती है? चोरों का साम्राज्य होता है। तब यदि अपनी दुकान खोलकर बैठें, तब तो वे सब उठा ले जाएँगे। यह काल तो चोरों का है। उससे क्या हमें अपनी पद्धति बदल देनी चाहिए? सुबह तक दुकान बंद रखो, लेकिन अपनी पद्धति तो नहीं ही बदलनी चाहिए। ये राशन के नियम हों, उसमें कोई ‘पोल’ (गड़़बड़़,गफलत,घोटाला) मारकर चलता बने, तो वह लाभ मानता है, और दूसरे क्यों नहीं मानते? यह तो, यदि घर में सभी असत्य बोलें तो किस पर विश्वास करें? और यदि एक पर विश्वास करें, तब तो सभी पर विश्वास करना चाहिए न? लेकिन यह तो घर में विश्वास, वह भी अंधा विश्वास करता है। किसी की सत्ता नहीं, कोई कुछ कह सके, ऐसा नहीं है। यदि खुद की सत्ता होती तब तो कोई स्टीमर डूबता ही नहीं। लेकिन ये तो लट्टू हैं, प्रकृति नचाए वैसे नाचते हैं। पर-सत्ता क्यों कहा है? अपने को पसंद हो वहाँ भी ले जाता है और नहीं पसंद हो, वहाँ भी ले जाता है। नहीं पसंद हो, वहाँ पर तो वह अनिच्छा से भी जाता है, इसलिए वह परसत्ता ही है न!
केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने आज नई दिल्ली में कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने का लक्ष्य देश के सामने रखा है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कृषि मंत्रालय लगातार काम कर रहा है। इस लक्ष्‍य को प्राप्त करने के लिए प्रधानमंत्री ने एक सात सूत्रीय कार्यनीति का भी आह्वान किया है जिसका विवरण निम्‍नानुसार है:

यूट्यूब को इन्टरनेट की दुनिया में कोन नहीं जानता ये एक ऐसा प्लेटफार्म है जहा पर आप किसी भी तरह की जानकारी ले सकते हो विडियो की मदद से और वीडियोस को शेयर कर सकते हो अगर आपके पास कोई टैलेंट है जैसे सिंगिंग डांसिंग , कुछ भी टैलेंट हो तो आप यूट्यूब पे शेयर करके कर सकते है और लोगो तक अपने टैलेंट को आसानी से पोहचा सकते है इसके अलावा आप यूट्यूब पे ऑनलाइन पैसे (online paise) भी कमा सकते है विडियो को मोनेटाइज कर के.
×