आज कल ज्यादातर लोग offline से ज्यादा online course लेना पसंद कर रहे हैं. आखिर ये online course होता क्या है? ये एक platform है जहाँ लोग पैसे खर्च करके अपना मन पसंद skill सिख सकते है. मान लीजिये आपको Photography में interest है. तो ये सिखने केलिए आपको एक academy को join करना होगा. अब ये तो मुमकिन नहिं के आप जो पढ़ना या सीखना चाहते हैं वो आपके घर के पास हो; इसके लिए आपको बाहर भी जाना पड़ सकता है. पर online tution के जरिये कोई भी घर बैठे अपना मन चाहा course ले सकता है.
Facebook से पैसे कैसे कमाए? Facebook क्या है ये तो शायद सभी Internet users को पता ही है. पर क्या आपको Facebook से पैसे कमाने का तरीका के बारे मैं पता है? जी हाँ आपने बिलकुल सही सुना की Facebook से बिलकुल पैसे कमाया जा सकता है. ये बात सुनकर बहुतों को आश्चर्य हो रहा होगा पर यकीन मानिये मैं झुठ नहीं बोल रहा हूँ. आज हम इसी के बारे में पूरी तरह से जानेंगे की आखिर कैसे हम Facebook से पैसे कमा सकते हैं.
मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?
स्पेनमा करछलीको आरोप लाग्ने र त्यसलाई स्वीकार गर्ने मार्सेलो पहिलो खेलाडी होइनन् । लियोनल मेस्सी, क्रिष्टियानो रोनाल्डो, नेइमारसहितका खेलाडीमाथि पनि यस्तो आरोप लागेको थियो र उनीहरुले पनि जेल सजाय तथा जरिवाना स्वीकार गरेका थिए । स्पेनिस कानुन अनुसार दुई वर्षभन्दा कम समयको कैदका लागि जेलमा बस्नु पर्दैन । यसले गर्दा मार्सेलो पनि जेल भने जानु पर्ने छैन ।
22 लेकिन वचन पर चलनेवाले बनो,+ न कि सिर्फ सुननेवाले जो झूठी दलीलों से खुद को धोखा देते हैं। 23 क्योंकि जो कोई वचन को सुनता है मगर उस पर चलता नहीं,+ वह उस इंसान के जैसा है जो आईने में अपना* चेहरा देखता है। 24 वह अपनी सूरत देखता है और चला जाता है और फौरन भूल जाता है कि वह किस तरह का इंसान है। 25 मगर जो इंसान आज़ादी दिलानेवाले खरे कानून को करीब से जाँचता* है+ और उसमें लगा रहता है, ऐसा इंसान सुनकर भूलता नहीं मगर उस पर चलता है और इससे वह खुशी पाता है।+
टाटा स्टाइल में आप पैसे से पैसा तो कमा सकते हैं, लेकिन 2 को 4 ही कर सकते हैं। अगर आपको अपना पैसा 2 से 10 करना है और वह भी फटाफट, तो आपको अंबानी स्टाइल में काम करना होगा। पहले स्टाइल में पैसा कमाना जरूरी तो होता है, लेकिन थोड़...ी ईमानदारी के साथ। अब तक टाटा का नाम सिर्फ माओवादियों को लेवी देने के लिए खराब हुआ है। जबकि दूसरे स्टाइल की खासियत यह है कि बस पैसा आना चाहिए। कैसे आ रहा है, यह नहीं देखा जाता! इस थ्योरी में माना जाता है कि पैसा कमाने के रास्ते में आने वाली बाधाओं को पैसे से ही साफ किया जा सकता है और ऐसा करने में कोई बुराई भी नहीं है। शायद यही वजह है कि टाटा आज भी टाटा ही हैं, जबकि अंबानी दुनिया के धन्ना सेठों की लिस्ट में बिल गेट्स को टक्कर देते हैं।
के ऊपर बोकर हिलदक्षिण में कंबोडिया एक बार-घूमने वाले होटल, ग्लैमरस कैसीनो, कैथोलिक चर्च और विभिन्न शाही निवासों के टुकड़े टुकड़े करने वाले खंडहर खड़े हो जाओ। रिसॉर्ट का निर्माण अमीर फ्रांसीसी उपनिवेशवादियों और कंबोडिया के अभिजात वर्ग के लिए 1920s में गर्मी से बचने और देश भर में समुद्र और उससे बाहर के व्यापक विचारों का आनंद लेने के लिए किया गया था। बहुत से लोग कहते हैं कि रिज़ॉर्ट शुरू से ही बर्बाद हो गया था क्योंकि अफवाहें दावा करती हैं कि 1,000 पुरुषों पर रिसॉर्ट बनाने के लिए नौ महीने में तीव्र श्रम के कारण मृत्यु हो गई थी। हालांकि 1972 में जंगली दलों और जुआ एक अचानक अंत में आए जब खमेर रूज ने इस क्षेत्र को संभाला। बोकोर हिल एक प्रमुख युद्ध मैदान बन गया और खमेर रूज ने इसे 1990s में अच्छी तरह से गढ़ के रूप में रखा।
यदि आप उन लोगों में से एक हैं जो स्वेच्छा से या अनिच्छा से – समय पर अपने क्रेडिट कार्ड और उपयोगिता बिल का भुगतान नहीं करते हैं तो आप इसे जाने बिना बहुत सारे पैसे बर्बाद कर रहे हैं. उदाहरण के लिए, यदि आपके पास 2 क्रेडिट कार्ड हैं और आप समय पर देय न्यूनतम राशि को जमा करना भूल जाते हैं, तो आप अकेले देर से शुल्क में बहुत से पैसे का भुगतान करेंगे. मान लीजिए कि आप देर से शुल्क के रूप में हर महीने 1,000 रुपये का भुगतान कर रहे हैं. हालांकि, यदि हर महीने एक ही योजना में निवेश किया जाता है, जो सालाना 8 फीसदी देता हो तो यह वास्तव में आपको 30 सालों में में करीब 15 लाख रुपये ला सकता है. इस प्रकार, यह उल्लेख किए बिना पता चल जाता है कि समय पर हमारे बिलों का भुगतान नहीं करना सबसे बड़ी गलतियों में से एक है जिसे हम आम तौर पर करते हैं और जिसे पहले से बचा जाना चाहिए!
अमीर होने का मतलब यह है कि आप किसी भी ऋण से मुक्त हैं. अधिकांश अमीर लोग अपने माथे कोई व्यक्तिगत ऋण नहीं लेते हैं. उद्योगपतियों में से कोई भी, जो अन्यथा ऋण से भरे कंपनियों को चलाता है, को व्यक्तिगत रूप से दिवालिया घोषित किया जाता है. लेकिन एक आम आदमी कर्ज लेता है क्योंकि उनके पास अब खर्च करने के लिए पैसा नहीं है. जब आप पैसे खर्च करना चाहते हैं और आपके पास पैसे ना हों तो आपको ऋण की जरुरत होती है. इसलिए, आप अपनी भविष्य की आय उधार लेते हैं और उस आय को भारी ब्याज के साथ चुकाते हैं. यदि आप कमाने से ज्यादा चुकाते हैं, तो आप कभी भी अमीर कैसे होंगे? ऋण या खर्च हमारी आय की शक्ति को दूर कर देते हैं क्योंकि अंत में वे बैंक या वित्तीय संस्थान के खाते में जमा हो जाते हैं. यदि आप 15 साल के लिए हर महीने 20,000 EMI का भुगतान करते हैं, तो आप 36 लाख रुपये का भुगतान करने में असमर्थ हैं. यदि आप कर्ज लेते हैं, तो आप कभी भी अमीर नहीं होंगे.
Paisa Kamaane Ke Galat Tarike Va Upay : इस दुनिया में हर व्यक्ति पैसा कामना चाहता है कोई अच्छे कामो से कमा लेता है तो जॉब करता है या कोई बिज़नेस करता है हर किसी का पैसे कमाने का अपना-2 तरीका होता है | इन तरीको में लोग 2 तरह की कमाई करते है जिसे हम कहते है 1 नंबर की कमाई व 2 नंबर की कमाई | एक नंबर की कमाई में वो रोज़गार आता है जो हम ईमानदारी से कमाते है व दो नंबर की कमाई में वह पैसा आता है जो हम दो नंबर से कमाते है यानि की बेईमानी से व गलत तरीके से कमाते है इसीलिए हम आपको गलत तरीके से पैसा कमाने के टोटके के कुछ उपाय व तरीको के बारे में बताते है जिन उपायों को पढ़ कर आप भी कमा सकते है व जान सकते है |
अगर आप अभी स्कूल में है और इन्टरनेट से घर बैठे पार्ट टाइम काम करके इंटरनेट से पैसे कमाना चाहते है या फिर ब्लॉग्गिंग (Blogging) में अपना करियर बनाना चाहते है तो ब्लॉग बनाके पैसे कमाना बेस्ट तरीका माना जाता है लेकिन ब्लॉग्गिंग में सक्सेस पाना इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको काफी चीजों को ज्ञान होना बेहद जरुरी है जैसे की डोमेन नेम (Domain name) , वेब होस्टिंग (Web Hosting) , एसइओ (SEO) इत्यादि के बारे में नॉलेज होना चाहिए तभी आप ब्लॉग बनके इन्टरनेट से घर बैठे रोजाना पैसे कमा सकते है पोस्ट लिख के इसके लिए
×