nice post apne bahut achi post daali hai. apki post se kafi logo ko ye pta chal hai ki scam ky hai or isse kese bach sakte hai. mere sath bhi do teen baar scam ho chuka hai. lekin pichle teen char saal se market me rahne k karan muje iski knowledge ho chuki h. ab me koi bhi kaam krta hu to kafi soch samaj ke dekh parkh kr ke kaam ko krta hai. me is post ko padhne wale k ek bolna chahunga ki koi bhi kaam kro to soch samaj ke kro. or khud ka faisla lo dusre ki baato m mat aao.
4 तुम्हारे बीच लड़ाइयाँ और झगड़े कहाँ से आए? क्या इनकी जड़ तुम्हारे ही अंदर नहीं? क्या ये शरीर का सुख पाने की तुम्हारी ज़बरदस्त लालसाओं की वजह से नहीं, जो तुम्हारे अंगों में लगातार युद्ध करती रहती हैं? 2 तुम चाहते तो हो, फिर भी तुम्हें मिलता नहीं। तुम खून करते और लालच करते हो, और फिर भी हासिल नहीं कर पाते। तुम लड़ाइयाँ और युद्ध करते रहते हो। तुम्हारे पास इसलिए नहीं है, क्योंकि तुम माँगते नहीं। 3 तुम माँगते तो हो, और फिर भी नहीं पाते, क्योंकि तुम गलत इरादे से माँगते हो ताकि तुम इसे शरीर का सुख पाने की लालसाओं पर उड़ा दो।
पैसा ही एक ऐसी चीज होती हैं जो बिना मेहनत के आसानी से नहीं मिलता हैं | तो यदि आप यह सोचते हैं कि आप ऑनलाइन या ऑफलाइन काम करके या घर बैठे कुछ आसान काम करके पैसे कमा लेंगे तो आप गलत हैं | ऐसा बिलकुल नहीं है आपको मेहनत तो करना ही होगी और हाँ यह आप पर निर्भर करता हैं कि आप कितनी मेहनत करते हैं | आप जितनी मेहनत करेंगे आप उतना ही पैसा कमा सकेंगे | बस जरुरी हैं की आप मेहनत सही दिशा में करें |
और इसी लूट मार से परेशान भारतीयों ने पहली बार एकत्र होकर सब १८५७ में अंग्रेजों के विरुद्ध क्रांति छेड़ दी। इस क्रांती की शुरुआत करने वाले सबसे पहले वीर मंगल पाण्डे थे और अंग्रेजों से भारत की स्वतंत्रता के लिये शहीद होने वाले सबसे पहले शहीद भी मंगल पांडे ही थे। देखते ही देखते इस क्रान्ति ने एक विशाल रूप धारण किया। और इस समय भारत में करीब ३ लाख २५ हज़ार अंग्रेज़ थे जिनमे से ९०% इस क्रांति में मारे गए। किन्तु इस बार भी कूछ कायरों ने ही इस क्रान्ति को विफल किया और अंग्रेजों द्वारा सहायता मांगने पर उन्होंने फिर से अपने बंधुओं पर प्रहार किया।
5 मेरे प्यारे भाइयो, सुनो। क्या परमेश्‍वर ने ऐसों को नहीं चुना जो दुनिया में गरीब हैं ताकि वे विश्‍वास में धनी और उस राज के वारिस बनें, जिसका वादा उसने उनसे किया है जो उससे प्यार करते हैं? 6 लेकिन तुमने गरीब इंसान को बेइज़्ज़त किया है। क्या अमीर तुम पर अत्याचार नहीं करते और तुम्हें घसीटकर अदालतों में नहीं ले जाते? 7 क्या वे उस बढ़िया नाम की निंदा नहीं करते, जिस नाम से तुम बुलाए गए हो? 8 अब अगर तुम शास्त्रवचन के मुताबिक इस शाही नियम का पालन करते हो: “तुझे अपने पड़ोसी से वैसे ही प्यार करना है जैसे तू खुद से करता है,” तो तुम बहुत अच्छा काम कर रहे हो। 9 लेकिन अगर तुम भेदभाव दिखाना जारी रखते हो, तो तुम पाप कर रहे हो और यह नियम तुम्हें गुनहगार ठहराता है।

दोस्तों हमने आज आपको हमारी इस पोस्ट मे बताया की Google se Paise Kaise Kamaye हमने हमारी इस पोस्ट को आसान से आसान भाषा मे लिखने की कोशिस की है, अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो कृपया करके इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिये, आप हमारी वेबसाइट पर बेल आइकॉन को प्रेस करके हमारी हर एक नयी आने वाली पोस्ट से जुड़े रह सकते है, हमने आपको हमारी पिछली पोस्ट मे यह भी बताया था Whatsapp se Paise Kaise Kamaye और यह भी बताया था की Whatsapp Kaise Download Kare

Blogging dhan kamane ke tarike in hindiEarn Money Online Free in IndiaEarn Money Online in Hindiearn money tips and tricksFree Money in Indiagoogle se paise kaise kamayehow can i earn money without investmenthow to earn money from facebook in hindihow to make blog in hindiHow to Make Money Online in India Freemobile se paise kaise kamayemoney earning ideas for students in hindionline paisa kamane ki websitepaisa kamane ka ideapaisa kamane ka mantrapaisa kamane ka sabse aasan tarikapaisa kamane ka tarika batayepaisa kamane ke totkepaisa kamao without investmentpaise kamane ke tips in hinditips to earn money from hometips to earn money in share marketvastu tips for earning money in hindiwhatsapp se paise kaise kamaye

थॉमस रो ने सबसे पहले सूरत के एक महल नुमा घर को लूटा जो आज भी मौजूद है। फिर पड़ोस के गाँव में और फिर और आगे। खाली हाथ आये इन अंग्रजों के पास जब करोड़ों की संपत्ति आई तो इन्होने अपनी खुद की सेना बनायी। उसके बाद सन १७५७ में रोबर्ट क्लाइव बंगाल के रास्ते भारत आया उस समय बंगाल का राजा सिराजुद्योला था। उसने अंग्रेजों से संधि करने से मना कर दिया तो रोबर्ट क्लाइव ने युद्ध की धमकी दी और केवल ३५० अंग्रेज सैनिकों के साथ युद्ध के लिये गया। बदले में सिराजुद्योला ने १८००० की सेना भेजी और सेनापति बनाया मीर जाफर को। तब रोबर्ट क्लाइव ने मीर जाफर को पत्र भेज कर उसे बंगाल की राज गद्दी का लालच देकर उससे संधि कर ली। रोबर्ट क्लाइव ने अपनी डायरी में लिखा था कि बंगाल की राजधानी जाते हुए मै और मीर जाफर सबसे आगे, हमारे पीछे मेरी ३५० की अंग्रेज सेना और उनके पीछे बंगाल की १८००० की सेना। और रास्‍ते में जितने भी भारतीय हमें मिले उन्होंने हमारा कोई विरोध नहीं किया, उस समय यदि सभी भारतीयों ने मिल कर हमारा विरोध किया होता या हम पर पत्थर फैंके होते तो शायद हम कभी भारत में अपना साम्राज्य नहीं बना पाते। वो डायरी आज भी इंग्लैण्ड में है। मीर जाफर को राजा बनवाने के बाद धोखे से उसे मार कर मीर कासिम को राजा बनाया और फिर उसे मरवाकर खुद बंगाल का राजा बना। ६ साल लूटने के बाद उसका स्थानातरण इंग्लैण्ड हुआ और वहां जा कर जब उससे पूछा गया कि कितना माल लाये हो तो उसने कहा कि मै सोने के सिक्के, चांदी के सिक्के और बेश कीमती हीरे जवाहरात लाया हूँ। मैंने उन्हें गिना तो नहीं किन्तु इन्हें भारत से इंग्लैण्ड लाने के लिये मुझे ९०० पानी के जहाज़ किराये पर लेने पड़े। अब सोचो एक अकेला रोबर्ट क्लाइव ने इतना लूटा तो भारत में उसके जैसे ८४ ब्रीटिश अधीकारी आये जिन्होंने भारत को लूटा। रोबर्ट क्लाइव के बाद वॉरेन हेस्टिंग्स नामक अंग्रेज अधीकारी आया उसने भी लूटा, उसके बाद विलियम पिट, उसके बाद कर्जन, लौरेंस, विलियम मेल्टिन और न जाने कौन कौन से लुटेरों ने लूटा। और इन सभी ने अपने अपने वाक्यों में भारत की जो व्याख्या की उनमे एक बात सबमे सामान है। सबने अपने अपने शब्दों में कहा कि भारत सोने की चिड़िया नहीं सोने का महासागर है। इनका लूटने का प्रारम्भिक तरीका यह था कि ये किसी धनवान व्यक्ति को एक चिट्ठी भेजते थे जिसमे एक करोड़, दो करोड़ या पांच करोड़ स्वर्ण मुद्राओं की मांग करते थे और न देने पर घर में घुस कर लूटने की धमकी देते थे। ऐसे में एक भारतीय सोचता कि अभी नहीं दिया तो घर से दस गुना लूट के ले जाएगा अत: वे उनकी मांग पूरी करते गए। धनवानों के बाद बारी आई देश के अन्य राज्यों के राजाओं की। वे अन्य राज परीवारों को भी ऐसे ही पत्र भेजते थे। कूछ राज परिवार जो कायर थे उनकी मांग मान लेते थे किन्तु कूछ साहसी लोग ऐसे भी थे जो उन्हें युद्ध के लिये ललकारते थे। फिर अंग्रेजों ने राजाओं से संधि करना शुरू कर दिया।
Hello friends, स्वागत हैं आपका careerinhindi.com पर | जैसा कि आप जानते हैं हम यहाँ पर आपको करियर से जुड़ी जानकारी प्रदान करते रहते हैं | आज की इस पोस्ट “घर बैठे पैसे कमाने के तरीके” में हम आपको बताएँगे कि कैसे आप बिना कहीं जॉब करे अच्छा पैसा कमा सकते हैं | तो चलिए शुरू करते हैं, बस आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें आपको वाकई में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी मिलने वाली हैं इस पोस्ट में |
क्यूबर अपनी तरह का एक प्रकार है और लाइफटाइम रॉयल्टी कमाई करने वाला ऐप है – त्वरित रिचार्ज से बिल पे को शॉप और कमाई से कई विशेषताएं हैं। इतना है कि आप इसके साथ कर सकते हैं! यह मोबाइल रिचार्ज, पोस्ट-पेड बिल भुगतान, गैस बिल, बिजली और डेटा कार्ड बिल, बीमा, बुकिंग बस टिकट और यहां तक ​​कि ऑनलाइन शॉपिंग के लिए एक भी आवेदन है। क्यूबर एक सामाजिक आर्थिक समुदाय के रूप में विकसित किया गया है, हर किसी के लिए एक मंच और सब कुछ
×