9 जो भाई गरीब है वह इसलिए खुशी मनाए* कि उसे ऊँचा किया गया है+ 10 और जो अमीर है वह इसलिए खुशी मनाए कि उसे दीन किया गया है,+ क्योंकि वह ऐसे मिट जाएगा जैसे मैदान में उगनेवाला फूल। 11 जैसे सूरज के चढ़ने पर उसकी तपती धूप से पौधा मुरझा जाता है और उसका फूल सूखकर गिर जाता है और उसकी खूबसूरती मिट जाती है, ठीक वैसे ही अमीर आदमी भी ज़िंदगी की भाग-दौड़ में मिट जाएगा।+
तो अगर आपके पास है कोई क्रिएटिव आईडिया तो आपका उस पर विडियो बनके यूट्यूब प्लेटफार्म अपना एक यूट्यूब चैनल बनाके आसानी से पैसे कमा सकते है आज कल हजारो लोग यूट्यूब से हजारो लाखो यहाँ ताकि करोडो रूपये भी कमा रहे है अगर आप जानना चाहते है की यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए घर बैठे तो इसके लिए आप ये पोस्ट पढ़े यूट्यूब चैनल बनाके पैसे कैसे कमाए पूरी जानकारी  तो जैसे ही आप चैनल बना लेते है और आपके चैनल पर यूट्यूब मोनेटायिजेसन एक्टिवेट हो जाता है इसके बाद आपके वीडियोस पर गूगल ऐडसेंस की तरफ सेप्रचार दिखाए जायेंगे जिसे आपको पैसे मिलेंगे और इस पैसे को सीधा अपने बैंक में भेज सकते है.
11. ऑनलाइन बिक्रीः ऐसे कई लोग हैं जो अपने प्रॉडक्ट को ईबे, अमेजन, फ्लिपकार्ट जैसी बड़ी शॉपिंग वेबसाइट्स पर बेचकर लाखों कमा रहे हैं. आपको सिर्फ एक अच्छा प्रॉडक्ट चाहिए, इसके बाद ऐसी किसी भी साइट पर साइनअप करें, अपने प्रॉडक्ट को प्राइस के साथ लिस्ट करें और बेचना शुरू कर दें. आपको किसी से बात करने की भी जरूरत नहीं. आपको ऑर्डर मेलबॉक्स के जरिए मिल जाएगा और कुरियर कंपनी के जरिए उसे डिलिवर कर दें, बस.
ऑनलाइन कारोबार दिन-ब-दिन बढ़ती हैं और प्रत्येक कंपनी अपने अपने ऑनलाइन बाजार विकसित करने के लिए वेबसाइट की जरूरत है. सॉफ्टवेयर विकास वेब विकास और डिजाइन जैसे महान मांग में हैं. प्रत्येक कंपनी अपने व्यापार के ऑनलाइन विकसित करने के लिए अपनी वेबसाइट की जरूरत है. आप जैसे विभिन्न साइटों से वेब डिजाइन परियोजनाओं प्राप्त कर सकते हैं Fiver, फ्रीलांसर, गुरु आदि. या आप अपनी खुद की वेबसाइट बनाने के द्वारा अपनी सेवा प्रदान कर सकते हैं.
आपने कई इस तरह के किस्से सुनें होंगे कि कैसे कोई रातों रात शेयरों में पैसा लगा कर अमीर बन गया। आपने यह भी सुना होगा कि कैसे कोई कम्पनी का शेयर कुछ ही समय में दो गुना, तीन गुना या कई गुना हो गया। इससे उलट यह भी सुना होगा कि कैसे कोई शेयर बाजार में निवेश कर के बहुत घाटे में आ गया। हमारा उद्देश्य होना चाहिए कि इस फ़ायदे और घाटे में संतुलन बना कर अपने निवेश पर ऐसा रिटर्न निरंतर प्राप्त कर सकें जिससे हमारा निवेश अधिक रिस्क में ना फँसे। तो जब हम इस ब्लॉग पर Share Market in Hindi के बारे में पढ़ेंगे तो यह भी सिखाने की कोशिश करेंगे कि कैसे अपने रिस्क को कम से कम कर सकते हैं।
हेलो दोस्तों हर किसी के मन में एक यही सवाल चलता रहता है क्या अमीर कैसे बने हां तो दोस्तों आज मैं आपको बताऊंगा अमीर बनने के कुछ ऐसे तरीके जो फिर आप किसी से नहीं बोलोगे क्या अमीर कैसे बने अगर दोस्तों मेरे बताए हुए यह 3 नियम और 3 तरीके आजमाते हो तो आपको कोई भी अमीर बनने से नहीं रोक सकता दोस्तों अब आपको यह पूरा पोस्ट विस्तार से पढ़ना है ताकि आपके समझ में सब कुछ आ जाए

आलेख की विषय वस्तु भले ही सर्वज्ञात है किन्तु उसे प्रमाणिक स्वरूप देने का यह य्र्यास अच्छा है …भाषा प्रवाह में कतिपय धत्ता विधानों की कमी तथा पुनरावृति दोष से बचें ..आलेख -कुल मिलाकर देशभक्त पूर्ण है किन्तु मोदी जी को सम्मानित करने के फेर मेंअन्य अनेक गुमनाम वास्तविक .राष्ट्रवादियों की उपेक्षा अपने आप ही हो जाना स्वाभाविक है …दिवस दिनेश गौर का आलेख प्रकाशित कर प्रवक्ता .कॉम ने बेहतरीन देशभक्ति पूर्ण कार्य किया है ..साधुवाद …

और आज इन्ही काले अंग्रेजों की संताने आज हम पर शाशन कर रही हैं। वरना क्या वजह है कि मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नयी दुनिया नामक एक अखबार की पुस्तक का विमोचन करने पहुंचे चिताम्बरम ने यह कहा कि भारत तो हज़ारों वर्षों से भयंकर गरीब देश है। और इन्ही काले अंग्रेजों की एक और संतान हमारे प्रधान मंत्री जी हैं। जब ये प्रधान मंत्री बनने के बाद पहली बार ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गए तो वहां उन्हà ��ंने कहा कि भारत तो सदियों से गरीब देश रहा है, ये तो भला हो अंग्रेजों का जिन्होंने आकर हमें अँधेरे से बाहर निकाला, हमारे देश में ज्ञान का सूरज लेकर आये, हमारे देश का विकास किया आदि आदि। अगले दिन लन्दन के सभी बड़े बड़े अखबारों में हैडलाइन छपी थी की भारत शायद आज भी मानसिक रूप से हमारा गुलाम है। और ये वही काले अंग्रेज हैं जो खुद तो देश का पैसा स्विस बैंक में जमा करते गए किन्तु गुजरात जैसे प्रदेश में भी विकास करने वाले नरेन्द्र भाई मोदी पर पता नहीं क्या क्या घटिया आरोप लगाते रहे। मानसिक गुलामी की बाढ़ इतनी आगे बढी कि हमारा मीडिया भी उसमे गोते खाने लगा। देश पर २०० साल तक राज़ करने वाली ईस्ट इण्डिया कम्पनी को एक भारतीय उद्योगपति संजीव मेहता ने १५० लाख डॉलर मूल्य देकर खरीद लिया, जिस कम्पनी ने भारत को २०० साल गुलाम बनाया वह कम्पनी आज एक भारतीय की गुलाम हो गयी है, किन्तु देश के किसी भी चैनल पर इसे नहीं देखा गया क्यों कि हमारा टीआरपी पसाद मीडिया तो उस समय सानिया शोएब की कथित प्रेम कहानी को कवर करने में बिजी था न, उस समय देश से ज्यादा शायद ये दो प्रेम के पंछी मीडिया के लिये जरूरी थे।


यदि आपके पास भी कोई ऐसा टैलेंट है या आपके पास ऐसी कोई प्रतिभा है जिसे आप दुनिया को दिखाना चाहते हैं और आपकी प्रतिभा लोगों के काम को आसान बनाती है तो आप एक YouTube चैनल बना सकते हैं जब आप अपनी वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करेंगे तो लोगों को वह पसंद आनी चाहिए. जब आपकी वीडियो पर बहुत सारे व्यूज आने लगेंगे तो आप वीडियो को Google Adsense से कनेक्ट करके YouTube से पैसे कमा सकते है.

क्यूबर न केवल एक तेज रिचार्ज ऐप है बल्कि यह आपको अपने दोस्तों को इसे संदर्भित करके पक्ष में कमाता है। क्यूबर एक समृद्ध समुदाय बन जाता है जो आपको जीवनकाल में रॉयल्टी कमाता है, तब भी जब आप सक्रिय रूप से इसका उपयोग नहीं कर रहे हैं। यह सबसे बड़ा फायदा है और सरल है – ऐप को अपने मित्रों को देखें और कमाएं एक पूर्व निर्धारित नकद बैक दर संरचना के अनुसार, आपके मित्रों द्वारा किए जाने वाले किसी भी लेन-देन के लिए, आपको उस लेन-देन पर नकद वापस राशि मिलती है। यह दर 14 स्तर तक तय की जाती है, अर्थात् 14 वीं स्तर तक रेफरल के लिए, आप क्यूबर वॉलेट पैसे कमा सकते हैं। क्यूबर केवल रिचार्ज, यूटिलिटी बिल और शॉपिंग और कैशबैक सुविधाओं के साथ कैशबैक ऐप को देखें और कमाएं

×