13 तुम में बुद्धिमान और समझदार कौन है? जो ऐसा हो, वह इस बात को अपने बढ़िया चालचलन के कामों से उस कोमलता के साथ दिखाए जो बुद्धि से पैदा होती है। 14 लेकिन अगर तुम्हारे दिलों में ज़बरदस्त ईर्ष्या और झगड़े की भावना हो, तो शेखी न मारो और सच्चाई के खिलाफ झूठ मत बोलो। 15 यह बुद्धि वह नहीं जो स्वर्ग से मिलती है, बल्कि यह दुनियावी, शारीरिक और शैतानी है। 16 इसलिए कि जहाँ ईर्ष्या और झगड़े होते हैं, वहाँ गड़बड़ी और हर तरह की बुराई होती है।

हमसे अक्सर पूछा जाता है की whatsapp se paise kaise kamaye तो आप affiliate marketing से whatsapp se paise  kama sakte hai.अगर आप ऑनलाइन काफी अच्छी इनकम करना चाहते है .और आप इसके लिए हार्ड वर्क कर सकते है तो आपके लिए एफिलिएट मार्केटिंग बहुत बढ़िया तरीका है . जैसे जैसे हम ज्यादा से ज्यादा इंटरनेट से जुड़ रहे है उतना ही एफिलिएट मार्केटिंग से पैसा कमाने के चांस बढ़ रहे है औरआप बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते है .

नियन्त्रणमा परेका चारै जना गोरेको सहयोगी र भरियाको रुपमा विगतमा काम गरिसकेका थिए । सुन कहाँ छ भन्दै उनीहरुलाई यातना दिन थालियो । करेन्टको झड्का सहन नसकेर सनमको ज्यान गयो । अब गोरेलाई सुन खोज्ने मात्र होइन, सनमको शब ठेगान लगाउने जिम्मा पनि आइलाग्यो । यो बीचमा गोरे र महानगरीय प्रहरी अपराध अनुसन्धान महाशाखाका सई बालकृष्ण सञ्जलेबीच संवाद भइरहेको थियो । शव ठेगान लगाउने, सुन खोज्ने र यसवापत सइ सन्जेलले रकम पाउने सहमति भयो ।


केन्द्रीय कृषि मंत्री ने यह विचार कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति  की अंतर-सत्र बैठक में  रखे। श्री सिंह ने कहा कि किसानों की आय दुगनी करने संबंधी लक्ष्य प्राप्‍त करने के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं और कार्यक्रम शुरू किए गए हैं। प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना, प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, परम्‍परागत कृषि विकास योजना, मृदा स्वास्थ्य स्‍कीम, नीम लेपित यूरिया और ई-राष्ट्रीय कृषि मंडी स्‍कीमें कुछ ऐसी प्रमुख स्‍कीमें हैं जिनके द्वारा  किसानों की उत्पादकता और आमदनी में सुधार लाने का लक्ष्य पूरा किया जा रहा है।

मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?
Internet में आपको ऐसे बहुत सारे websites मिल जायेंगे, जहाँ लोग अपना online course लेते हैं. Udemy एक बेहतर platform है आपके knowledge को share करने का. यहाँ register करके आप अपने complete course video और documents के जरिये upload कर सकते है. फिर आपको उस cource की एक price set करना पड़ेगा. जो कोई भी आपका cource लेना चाहेगा, वो Udemy के जरिये payment करके जब और जहाँ चाहे उसे पढ़ पायेगा. Udemy कुछ commission रखके आपको आपका payment दे देता है.
लोगों के बढ़ते शौक ने पैसे की चाहत को इतना बढ़ा दिया है कि हर कोई बस पैसा कमाना चाहता है। चाहे वो नौकरी से हो बिजनेस से या फिर इंटरनेट से हो। जी हां आपने सही सुना इंटरनेट से । अगर आपके पास थोड़ा सा भी फ्री टाइम है और इंटरनेट का थोड़ा बहुत ज्ञान है, तो ऑनलाइन कमाई आपकी आमदनी बढ़ाने का एक शानदार जरिया बन सकता है। इसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठ कर आसानी से पैसा कमा सकते हैं, तो आइए जानें उन तरीकों के बारे में जिससे आप घर बैठ कर आसानी से पैसा कमा सकते हैं।
9 जो भाई गरीब है वह इसलिए खुशी मनाए* कि उसे ऊँचा किया गया है+ 10 और जो अमीर है वह इसलिए खुशी मनाए कि उसे दीन किया गया है,+ क्योंकि वह ऐसे मिट जाएगा जैसे मैदान में उगनेवाला फूल। 11 जैसे सूरज के चढ़ने पर उसकी तपती धूप से पौधा मुरझा जाता है और उसका फूल सूखकर गिर जाता है और उसकी खूबसूरती मिट जाती है, ठीक वैसे ही अमीर आदमी भी ज़िंदगी की भाग-दौड़ में मिट जाएगा।+
आप कोई भी goal सेट कर उससे पहले , author ने अपने आपसे एक question  पूछने के लिए कहा है। question :- " Are My Goal Equals To My Potentials ?”  author की मुताबिक हम खुद ही नहीं जानते की हमारा potential  कितना ज़्यदा है ? इसलिए वो हमें suggest करते है अब जो हमें हमारा highest potential   लग रहा  है उस्से 10 से multiply करके , उसके मुताबिक हमें Goal सेट करना चाहिए।  काफी समय क्या होता है , हम ऐसे goal सेट कर लेते है जो  हमारे potential को बिलकुल भी match नहीं करता है।  इस problem  की solution के तोर पर author कहते है  की हम सबको सबसे पहले 1 year के मुताबिक एक बड़ा goal सेट करना होगा ,जो हमारे potential   के मुताबिक हो , उसके बाद उसको 10 से multiply  करके फिर उसको target बनाना है।  उसके बाद archive करने के लिए हर month के मुताबिक और finally हर दिन में कितना प्रोग्रेस करना चाहिए , उस हिसाब से चलना चाहिए।    
यदि आप लिखने के शौकीन हैं और एक राइटर भी बनना चाहते हैं तो आपके लिए ऑनलाइन राइटिंग जॉब एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है क्योंकि इंटरनेट की दुनिया में बहुत सारे लोगों को रोजाना कंटेंट चाहिए होता है. जिसके लिए कंपनियां आपको हजारों रुपए तक पेय कर सकती हैं. इसके लिए आपको अपने पर्सनल नेटवर्क में बातचीत करने की आवश्यकता होगी या Google पर आकर सर्च करना होगा कि कौन सी कंपनियां ऑनलाइन राइटिंग जॉब प्रदान करती हैं फिर उसके बाद आप अपने ऑनलाइन राइटिंग के रेट फिक्स करके लिखना शुरु कर सकते हैं, यहां से आप इंटरनेट की मदद से बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं.
अगर आपके पैसे है तो दस लोग आपके साथ रहेंगे अगर आपके पास पैसे नहीं है तो मुस्किल है कि कोई आपका साथ दे इसलिए आपके पास पैसा होना बहुत जरुरी है अब बात आती है पैसे कमाने की तो इन्टरनेट से online paise kaise kamaye. जिन लोगो की जॉब होती है तो उन्हें कोई पैसो की दिक्कत नहीं होती है लेकिन लोग पढ़े लिखे होने के बावजूद जॉब नहीं मिल पा रही है तो उनके लिए इन्टरनेट एक बेहतरीन ऑप्शन है जहां आपका कोई बॉस नहीं होता आप अपनी मर्जी के मालिक होते है.
वैसे तो Internet पैसे कमाने के बहुत से तरीके है | लेकिन में यहाँ आप लोगो को 2 तरीको के बारे में बताने जा रहा हूँ | जिनकी सहायता से मैं भी पैसे कमा रहा हूँ, और इसमें कोई रिस्क भी नही है | और इसमें आपको Internet से पैसे कमाने के लिए किसी Degree की जरूरत नही है | लेकिंन आप Internet से पैसे तभी कमा सकते है | जब आपका किसी चीज में रूचि रखते हो | जैसे मान लीजिये आपका खाना बनाने में Interest है | तो आप खाने से सम्बंधित Blog बनाकर, अपने द्वारा तैयार अपनी Recipes को अपने Blog पर डाल सकते हैं |
अगर हम marketing की बात करें तब relationship building बहुत ही जरुरी है. क्यूंकि अगर आपका page बहुत ज्यादा popular है तब तो आपके लिए बहुत ही अच्छी बात है क्यूंकि इससे दुसरे advitisers आपके page में अपना ad publish करने के लिए आपको पैसे देंगे इसके साथ आपका उसके साथ अच्छा relationship भी बन जायेगा और जिसका इस्तमाल आप भविष्य में कर सकते हैं. जिसे की sponsored post कहते हैं. इसके साथ साथ आप दुसरे brands के भी ad publish कर सकते हैं.
आयकर विभाग ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई)से जुड़े दो ब्रोकरों के ठिकाने पर छापे मारे। यह कार्रवाई एनएसई के सर्वर में कथित तौर पर प्राथमिकता पाने (को-लोकेशन) से जुड़े बहुचर्चित मामले में कुछ इकाइयों और लोगों के खिलाफ कर चोरी के सिलसिले में की गई है। अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि यह छापेमारी दिल्ली और मुंबई में बुधवार से जारी हैं। अभी तक विभाग ने इस कार्रवाई में कई दस्तावेज और कंप्यूटर सामग्री जब्त की है। ओपीजी सिक्युरिटीज के संजय गुप्ता के अलावा एनएसई के पूर्व एमडी रवि नारायण, चित्रा रामकृष्ण और सुप्रभात लाला के ठिकानों पर भी छापेमारी की कार्रवाई हुई । हालांकि, नारायण ने इससे इनकार किया है। 
और आज इन्ही काले अंग्रेजों की संताने आज हम पर शाशन कर रही हैं। वरना क्या वजह है कि मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नयी दुनिया नामक एक अखबार की पुस्तक का विमोचन करने पहुंचे चिताम्बरम ने यह कहा कि भारत तो हज़ारों वर्षों से भयंकर गरीब देश है। और इन्ही काले अंग्रेजों की एक और संतान हमारे प्रधान मंत्री जी हैं। जब ये प्रधान मंत्री बनने के बाद पहली बार ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गए तो वहां उन्हà ��ंने कहा कि भारत तो सदियों से गरीब देश रहा है, ये तो भला हो अंग्रेजों का जिन्होंने आकर हमें अँधेरे से बाहर निकाला, हमारे देश में ज्ञान का सूरज लेकर आये, हमारे देश का विकास किया आदि आदि। अगले दिन लन्दन के सभी बड़े बड़े अखबारों में हैडलाइन छपी थी की भारत शायद आज भी मानसिक रूप से हमारा गुलाम है। और ये वही काले अंग्रेज हैं जो खुद तो देश का पैसा स्विस बैंक में जमा करते गए किन्तु गुजरात जैसे प्रदेश में भी विकास करने वाले नरेन्द्र भाई मोदी पर पता नहीं क्या क्या घटिया आरोप लगाते रहे। मानसिक गुलामी की बाढ़ इतनी आगे बढी कि हमारा मीडिया भी उसमे गोते खाने लगा। देश पर २०० साल तक राज़ करने वाली ईस्ट इण्डिया कम्पनी को एक भारतीय उद्योगपति संजीव मेहता ने १५० लाख डॉलर मूल्य देकर खरीद लिया, जिस कम्पनी ने भारत को २०० साल गुलाम बनाया वह कम्पनी आज एक भारतीय की गुलाम हो गयी है, किन्तु देश के किसी भी चैनल पर इसे नहीं देखा गया क्यों कि हमारा टीआरपी पसाद मीडिया तो उस समय सानिया शोएब की कथित प्रेम कहानी को कवर करने में बिजी था न, उस समय देश से ज्यादा शायद ये दो प्रेम के पंछी मीडिया के लिये जरूरी थे।

बनको ज्यान गयो, तर गोरेको सुन भेटिएन । बनको मृत्यु दुर्घटनामा दर्ज भएकोले गोरेलाई आफ्नो सुन खोज्न समय र सुविधा भयो । उप्रेतीले आफ्ना पूर्वलेखा सहयोगी सनम शाक्यले सुन लगेको शंका गरे । आफूसँग काम गरेर तीन महिनाअघि अलग्गिएका शाक्यले षड्यन्त्रपुर्वक सुन गायब बनाएका हुन सक्छन् भनेर उनलाई नियन्त्रणमा लिइयो । सनमसँगै टेकराज मल्ल, कृष्ण भनिने नरेन्द्र कार्की र मोहन काफ्लेलाई नियन्त्रणमा लिएर काठमाडौंबाट मोरङ पुर्याइयो । गाडिमा उनीहरुलाई त्यति टाढा पुर्याइँदा पनि पनि प्रहरीबाट कुनै हस्तक्षेप भएन ।
12 सुखी है वह इंसान जो परीक्षा में धीरज धरे रहता है, क्योंकि परीक्षा में खरा उतरने पर वह जीवन का ताज पाएगा जिसका वादा यहोवा ने उनसे किया है जो उससे लगातार प्यार करते हैं। 13 जब किसी की परीक्षा हो रही हो तो वह यह न कहे: “परमेश्‍वर मेरी परीक्षा ले रहा है।” क्योंकि न तो बुरी बातों से परमेश्‍वर को परीक्षा में डाला जा सकता है, न ही वह खुद बुरी बातों से किसी की परीक्षा लेता है। 14 लेकिन हर कोई अपनी ही इच्छाओं से खिंचकर परीक्षाओं के जाल में फँसता है। 15 फिर इच्छा गर्भवती होती है और पाप को जन्म देती है, और जब पाप कर लिया जाता है तो यह मौत लाता है।

मित्रों शीर्षक पढ़ कर चौंका जा सकता है कि तुम्हे क्या पड़ी है कोई देश कितना भी अमीर क्यों है? तुम तो अपने देश की चिंता करो न कि तुम्हारा देश इतना गरीब क्यों है? किन्तु मित्रों मेरा आपसे आग्रह है कि कृपया एक बार मेरे इस लेख को ध्यान से अवश्य पढ़ें। लेख शायद जरूरत से ज्यादा लम्बा हो जाये और बीच में शायद आप को ऐसा भी लगे कि मै कहीं लेख के मुख्य शीर्षक से कहीं भटक गया हूँ किन्तु जो बात आपको कहना चाहता हूँ उसके लिये आपके कुछ मिनट चाहूँगा।
इस वेबसाईट को बनाने का मेन उद्येश्य यह है कि, इस वेब पोर्टल में सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) में भाग लेने के लिए सीएससी (सामान्य सेवा केंद्र), संरचना, पात्रता और योग्यता की सुविधाओं के बारे में आवश्यक जानकारी शामिल है। सीएससी के सभी जिला प्रबंधको का विवरण, इस वेबसाइट पर ईमेल आईडी, पता और फोन नंबर के साथ आपको महत्वपूर्ण जानकारी भी मिलेगी। मुझे कंप्यूटर, वेबसाईट, इंटरनेट, सीएससी, के बारे मे बहुत सी जानकारी है तो क्यो ना ओ जानकारी मे आपके साथ शेअर करू, और उस जानकारी का आप सबको फायदा हो, और हमारे सारे भाईओ और बहनो को तरक्की पर ले जाऊ अगर आप भी मेरे साथ साथ उचे शिखर पर जाते है तो मुझे भी बहुत अच्छा महसूस होगा अगर आप रोजाना हमारी वेबसाइट पर आते है तो आपको ढेर सारी जानकारी यहापर मिलती रहेगी और आपको इसका जरूर फायदा होगा इसलिए मैं आपको कहना चाहता हु की आप हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध सभी जानकारी का अच्छेसे फायदा ले और आपको ऐसा लगता है की मैं ऐसे ही कोई आपके लिए अच्छी जानकारी दू तो आप मुझे सुजाव  भी दे सकते है मई जरूर आपके लिए कोशिश करूँगा की आपकी फरमाइश की हुयी जानकारी मैं आप तक पहुँचा सकु, और में आपके साथ एक बात और शेअर करना चाहता हु की हमारी वेबसाइट पर मौजूद आपने हमको आपकी दी हुयी जानकारी पूरी तरह से सुरक्षित है हम आपको कोई भी ईमेल आईडी या कोई भी ऐसे अन्य बाते जो आपने हमारे साथ शेअर की है ओ हम किसीके साथ शेअर नहीं करते मुझे उम्मीद है की आप हमारी वेबसाइट पर रोजाना आकर आपके काम की अच्छी जानकारी प्राप्त करोगे और आगे बढ़ोगे. धन्यवाद !
हम अपने खार्चो को तो रोक नहीं सकते। लिहाजा उन खर्चो में जो रुपए जबरन खर्च होते हैं उन्हें बचाकर हमारा काफी फायदा हो सकता है। जैसे खुल्ले पैसे हम संभालकर रखें, यहां-वहां चिल्लर रखकर भूल जाने की आदत को सुधारें, पुराने कपड़ों की जेब ठीक से चेक करें और पैसे संभाल लें। बाजार में कुछ खास जगहों पर चिल्लर की एवज में मोटे पैसे मिल जाते हैं। मसलन अगर आप 90 रुपए की चिल्लर बेचते हैं तो आपको इसके 100 रुपए मिलेंगे। ऐसे में आपकी 10 रुपए की कमाई हो सकती है। पुराने नोट और खास संख्या के नोट भी महंगे बिकते हैं, जिनके लोग हजारों रुपए तक देते हैं।
ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पॉलिसी और सत्य कभी भी असत्य नहीं बनता है। लेकिन श्रद्धा डगमगा गई है और काल भी ऐसा है। रात में किसकी सत्ता होती है? चोरों का साम्राज्य होता है। तब यदि अपनी दुकान खोलकर बैठें, तब तो वे सब उठा ले जाएँगे। यह काल तो चोरों का है। उससे क्या हमें अपनी पद्धति बदल देनी चाहिए? सुबह तक दुकान बंद रखो, लेकिन अपनी पद्धति तो नहीं ही बदलनी चाहिए। ये राशन के नियम हों, उसमें कोई ‘पोल’ (गड़़बड़़,गफलत,घोटाला) मारकर चलता बने, तो वह लाभ मानता है, और दूसरे क्यों नहीं मानते? यह तो, यदि घर में सभी असत्य बोलें तो किस पर विश्वास करें? और यदि एक पर विश्वास करें, तब तो सभी पर विश्वास करना चाहिए न? लेकिन यह तो घर में विश्वास, वह भी अंधा विश्वास करता है। किसी की सत्ता नहीं, कोई कुछ कह सके, ऐसा नहीं है। यदि खुद की सत्ता होती तब तो कोई स्टीमर डूबता ही नहीं। लेकिन ये तो लट्टू हैं, प्रकृति नचाए वैसे नाचते हैं। पर-सत्ता क्यों कहा है? अपने को पसंद हो वहाँ भी ले जाता है और नहीं पसंद हो, वहाँ भी ले जाता है। नहीं पसंद हो, वहाँ पर तो वह अनिच्छा से भी जाता है, इसलिए वह परसत्ता ही है न!

दोस्त पैसे निकलने के लिए आपको Paypal में अपना अकाउंट बनाना होगा यदि आपका अकाउंट नहीं है तो अभी www.Paypal.com पर जायें और रजिस्टर करें और अपना बैंक का खाता नंबर उसमे डालें यह दुनिया की सबसे बड़ी पैसे भेजने वाली कंपनी है शायद आपने इसका नाम सुना होगा यदि नहीं तो आप किसी भी इन्टरनेट पर रोज बेठने वाले से इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है आगे जानते है जब आपके अकाउंट में $8 डॉलर की कमाई हो जाएगी तभी आप इन्हें निकाल पाएंगे पैसे निकालने के और भी कई तरीके है नीचे दिए विडियो में आपको Paypal की मदद से पैसे निकालते हुए दिखाया गया है पर आप चाहो तो दुसरे तरीके भी काम में ले सकते है वैसे सभी में कुछ पैसा आपके अकाउंट में से कटेगा जब आप निकालोगे तो पर एक Free भी है. इसके बारे में आपको वेबसाइट पर और अधिक जानकारी मिल जाएगी.
दोस्तों आप जो भी नौकरी या फिर कोई काम कर रहे हो उसको कभी मत छोड़ो उसके साथ-साथ कुछ और करने की हिम्मत रखो दोस्तों अगर आप अपने काम के साथ-साथ 1 से 2 घंटे कोई और काम करते हैं तो आपको बहुत ज्यादा बचत होगी वह काम क्या होंगे मैं आपको बताऊंगा दोस्तों मान लीजिए आप दिन में 8 घंटे ड्यूटी करते हैं जैसे कि अगर आप सुबह 8:00 बजे ड्यूटी पर जाते हैं शाम 5:00 बजे घर वापस आते हैं
आयकर विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार शाम तक पूरी तस्वीर साफ होगी। आयकर महानिदेशक अन्वेषण, पटना एस आर मल्लिक के निर्देश पर सहायक निदेशक आयकर अन्वेषण धनबाद सुनील किसन आगवणे के नेतृत्व में छापेमारी चल रही है। इसमें आयकर विभाग के झारखंड-बिहार के 110 अधिकारी एवं कर्मचारी तथा 125 पुलिसकर्मी शामिल हैं। संयुक्त निदेशक अन्वेषण रांची प्रणव कुमार कोले भी धनबाद पहुंचे हैं। धनबाद में नौ कंपनियों की जांच आयकर टीम कर रही है, जो अस्तित्व में हैं और इन्हीं के तहत कारोबार संचालित है।  
बुधवारी शहरातील ई-आॅरबिट व चित्रा या दोन्ही चित्रपटगृहात सायंकाळी 'पद्मावत'चा प्रीमियर शो होता. त्या ठिकाणी काही अप्रिय घटना घडू नये, या दृष्टीने दोन्ही चित्रपट गृहांना पोलीस संरक्षण दिले. स्वत: पोलीस आयुक्त दत्तात्रय मंडलिक यांनी चित्रपट गृहाला भेट देऊन सुरक्षेचा आढावा घेतला. यावेळी पोलीस उपायुक्त शशिकांत सातव, एसीपी चेतना तिडके, पोलीस निरीक्षक किशोर सूर्यवंशी, नीलिमा आरज, वाहतूक शाखेचे अर्जुन ठोसरे, अजय मालवीय उपस्थित होते. चित्रपटगृहात येणारे दर्शक कुठून येईल व कसे बाहेर जातील, त्यांची पार्किंग व्यवस्था कशी आहे, याबाबत सीपींनी आढावा घेतला.

महत्वपूर्ण : प्रथम प्रश्नपत्र में तत्वों की दीर्घ आवर्त सारिणी व उनमें उपस्थित तत्वों के गुणों में अवर्तता रसायन की मूल अवधारणाएं, आधुनिक परमाणु संरचना, विभिन्न रासायनिक बंध, तथा द्वितीय प्रश्नपत्र में कार्बन यौगिकों का नामकरण, विभिन्न क्रियात्मक समूहों के सामान्य लक्षण, रासायनिक अभिक्रियाओं की क्रियाविधि तथा पर्यावरणीय अध्ययन को अच्छी तरह से तैयार करें।


4 अरे बदचलनी करनेवालियो,* क्या तुम नहीं जानतीं कि दुनिया के साथ दोस्ती करने का मतलब परमेश्‍वर से दुश्‍मनी करना है? इसलिए, जो कोई इस दुनिया का दोस्त बनना चाहता है वह खुद को परमेश्‍वर का दुश्‍मन बनाता है। 5 या क्या तुम्हें लगता है कि शास्त्रवचन बिना वजह ही कहता है: “ईर्ष्या करने की जो फितरत हमारे अंदर समायी हुई है, वह लगातार अलग-अलग बातों की चाह करती रहती है”? 6 मगर, परमेश्‍वर जो महा-कृपा हमें देता है वह हमारी इस फितरत से कहीं महान है। इसलिए यह वचन कहता है: “परमेश्‍वर घमंडियों का सामना करता है, मगर नम्र लोगों को अपनी महा-कृपा देता है।”
कोई writing में अच्छा होता है तो कोई singing में. सबके पास अलग अलग कला होता है. हम दुशरो से वो चीज़ सीखते है जो हमे पता नहिं होता. वैसे ही आप अपनी talent के जरिये online आसानी से पैसे कमा पाएंगे, और ये कोई गलत बात भी नहिं है. तो आज के इस लेख में आप जानेंगे, Internet se paise kamane ke tarike in Hindi. आगे बढ़ने से पहले में एक बात clear करना चाहता हूँ के, ये कोई झूट नहीं है; क्यूंकि में भी Internet के जरिये इतना पैसा कमा लेता हूँ, जिससे में आराम से अपनी जरूरतों को पूरा कर पाऊं.

अगर आप अभी स्कूल में है और इन्टरनेट से घर बैठे पार्ट टाइम काम करके इंटरनेट से पैसे कमाना चाहते है या फिर ब्लॉग्गिंग (Blogging) में अपना करियर बनाना चाहते है तो ब्लॉग बनाके पैसे कमाना बेस्ट तरीका माना जाता है लेकिन ब्लॉग्गिंग में सक्सेस पाना इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको काफी चीजों को ज्ञान होना बेहद जरुरी है जैसे की डोमेन नेम (Domain name) , वेब होस्टिंग (Web Hosting) , एसइओ (SEO) इत्यादि के बारे में नॉलेज होना चाहिए तभी आप ब्लॉग बनके इन्टरनेट से घर बैठे रोजाना पैसे कमा सकते है पोस्ट लिख के इसके लिए
×