किन्तु आज भी अंग्रेजों के बनाए सभी क़ानून यथावत चल रहे हैं अंग्रेजों की चिकित्सा पद्धति यथावत चल रही है। और कूछ काम तो हमारे देश के नेताओं ने अंग्रेजों से भी बढ़कर किये। अंग्रेजों ने भारत को लूटने के लिये २३ प्रकार के टैक्स लगाए किन्तु इन काले अंग्रेजों ने ६४ प्रकार के टैक्स हम भारत वासियों पर थोप दिए। और इसी टैक्स को बचाने के लिये देश के लोगों ने टैक्स की चोरी शुरू की जिससे काला बाजारी जैसी समस्या सामने आई। मंत्रियों ने इतने घोटाले किये कि देश की जनता भूखी मरने लगी। भारत की आज़ादी के बाद जब पहली बार संसद बैठी और चर्चा चल रही थी राष्ट्र निर्माण की तो कई सांसदों ने नेहरु से कहा कि वह इंग्लैण्ड से वह उधार की राशी मांगे जो द्वितीय विश्व युद्ध के समय अंग्रेजों ने भारत से उधार के तौर पर ली थी और उसे राष्ट्र निर्माण में लगाए। किन्तु नेहरु ने कहा कि अब वह राशि भूल जाओ। तब सांसदों का कहना था कि इन्होने जो २०० साल तक हम पर जो अत्याचार किया है क्या उसे भी भूल जाना चाहिए? तब नेहरु ने कहा कि हाँ भूलना पड़ेगा, क्यों कि अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में सब कूछ भुलाना पड़ता है। और तब यही से शुरुआत हुई सता की लड़ाई की और राष्ट्र निर्माण तो बहुत पीछे छूट गया था।
आप कोई भी goal सेट कर उससे पहले , author ने अपने आपसे एक question  पूछने के लिए कहा है। question :- " Are My Goal Equals To My Potentials ?”  author की मुताबिक हम खुद ही नहीं जानते की हमारा potential  कितना ज़्यदा है ? इसलिए वो हमें suggest करते है अब जो हमें हमारा highest potential   लग रहा  है उस्से 10 से multiply करके , उसके मुताबिक हमें Goal सेट करना चाहिए।  काफी समय क्या होता है , हम ऐसे goal सेट कर लेते है जो  हमारे potential को बिलकुल भी match नहीं करता है।  इस problem  की solution के तोर पर author कहते है  की हम सबको सबसे पहले 1 year के मुताबिक एक बड़ा goal सेट करना होगा ,जो हमारे potential   के मुताबिक हो , उसके बाद उसको 10 से multiply  करके फिर उसको target बनाना है।  उसके बाद archive करने के लिए हर month के मुताबिक और finally हर दिन में कितना प्रोग्रेस करना चाहिए , उस हिसाब से चलना चाहिए।    
जब से हम हमेशा अपनी रुचियों को पहले रख देते हैं, आपको कभी भी इसी तरह की ऐप नहीं मिलेगी: कोई छिपी हुई नियम और भुगतान नहीं। यह निशुल्क है और आप किसी निवेश के बिना नकद अर्जित करने में सक्षम होंगे। बस किसी भी समय आपके पास एक निःशुल्क मिनट चलाएं और हमारे द्वारा प्रदान किए जाने वाले गेम में से एक का आनंद लें। यह कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप चाहे: एक कॉफी शॉप में या किसी दोस्त के लिए इंतजार कर, अपने समय का प्रभावी ढंग से उपयोग करना शुरू करें!

मैंने श्री राजिव दीक्षित जी के दु:खद निधन के बारे में प्रवकता.कॉम की ओर से प्रस्तुत कोई लेख को देखने की अभिलाषा से वेबसाईट को खोजा| ऐसा कोई मृतविवरण तो नहीं मिला, संभवतः ठीक प्रकार से खोज न की हो लेकिन आपका लेख अवश्य देखने और पढ़ने को मिला| आपके लेख में बताये तथ्य को सभी जानते हैं लेकिन बहुत कम लोग हैं जो सोचते भी हैं| लेकिन सोचने वालों की संख्या इतनी कम है कि जैसे बड़े से बर्तन में पाँव भर दूध उबल उबल कर जल जाये नष्ट हो जाये और किसी को मालुम ही न हो| मेरे विचार में जवाहरलाल नेहरु के प्रयोगात्मक समाजवाद से उत्पन्न अभाव से बचने के लिए स्वतन्त्र भारत की पहली पढ़ी-लिखी पेशेवर युवा पीढ़ी ने १९७० दशक से भारत छोड़ अमरीका और दूसरे पाश्चिम देशों में जा बसने का जो बीज बोया था वह वास्तविकता में संपूर्ण आज़ादी थी—अंग्रेजों के बनाये कानूनी चक्रव्यूह से और समाजवाद से| और आज आपका लेख पढ़ ऐसा प्रतीत होता है कि तथाकथिक स्वतंत्रता के तिरेसठ वर्षों बाद आज की युवा-पीढ़ी इन काले अंग्रेजों की सत्ता को उखाड फैंक यथार्थ स्वतंत्रता प्राप्त करेगी| आपका लेख सभी हिंदी-भाषी व प्रांतीय भाषों में प्रकाशित पत्रिकाओं में प्रस्तुत होना चाहिए|
इसमें कोई शक नहीं सॉफ्टवेयर उद्योग दिन-ब-दिन बढ़ रही है. आप एक डेवलपर हैं तो आप आवेदन कार्यक्रमों बना सकते हैं और विभिन्न चैनलों पर बेच सकते हैं. आप जावा प्रोग्रामिंग ज्ञान पर पता करने की जरूरत, .जाल, सी # आदि. आप व्यापार के लिए Android अनुप्रयोगों को विकसित कर सकते हैं, शिक्षा, सांख्यिकी, ज्योतिष. आप Android अनुप्रयोगों और सॉफ्टवेयर उपकरण बना सकते हैं.
Times bull India Leading Hindi News portal brings you News in Hindi, न्यूज़ इन हिन्दी, Latest News, Current News in hindi, National News, International News, Sports News, Bollywood News in hindi, News in Hindi, State News, Religion News,Hindi News, Political News, Top News in hindi, Local News in hindi, News Today, Weird news, Astrology news, business news, sports news, lifestyle news

आज के टाइम में average  लोगो के लिए competition बहुत ही ज्यादा है और  आपको competition से उप्पर उठने का एक ही तरीका है। वो भी  Be Obsessed &  be extra –ordinary  अगर आप किसी भी successful इंसान को देखोगे की वो अपने काम को लेकर कितना ज्यादा Obsessed  रहते है।  उनको किसी और काम में ध्यान ही नहीं जाता।  उनका ध्यान सिर्फ और सिर्फ बस एक ही काम में होता है मतलब की वो लोग जिस तरह की focused और dedicated के साथ उस काम को करते है जिस्से देखकर एक normal इंसान को लगेगा की ये इंसान तो सच में पागल है या कोई बीमारी है। लेकिन सच बात तो ये है की obsession कोई बीमारी नहीं बल्कि गिफ्ट है। 

और आज इन्ही काले अंग्रेजों की संताने आज हम पर शाशन कर रही हैं। वरना क्या वजह है कि मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नयी दुनिया नामक एक अखबार की पुस्तक का विमोचन करने पहुंचे चिताम्बरम ने यह कहा कि भारत तो हज़ारों वर्षों से भयंकर गरीब देश है। और इन्ही काले अंग्रेजों की एक और संतान हमारे प्रधान मंत्री जी हैं। जब ये प्रधान मंत्री बनने के बाद पहली बार ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गए तो वहां उन्हà ��ंने कहा कि भारत तो सदियों से गरीब देश रहा है, ये तो भला हो अंग्रेजों का जिन्होंने आकर हमें अँधेरे से बाहर निकाला, हमारे देश में ज्ञान का सूरज लेकर आये, हमारे देश का विकास किया आदि आदि। अगले दिन लन्दन के सभी बड़े बड़े अखबारों में हैडलाइन छपी थी की भारत शायद आज भी मानसिक रूप से हमारा गुलाम है। और ये वही काले अंग्रेज हैं जो खुद तो देश का पैसा स्विस बैंक में जमा करते गए किन्तु गुजरात जैसे प्रदेश में भी विकास करने वाले नरेन्द्र भाई मोदी पर पता नहीं क्या क्या घटिया आरोप लगाते रहे। मानसिक गुलामी की बाढ़ इतनी आगे बढी कि हमारा मीडिया भी उसमे गोते खाने लगा। देश पर २०० साल तक राज़ करने वाली ईस्ट इण्डिया कम्पनी को एक भारतीय उद्योगपति संजीव मेहता ने १५० लाख डॉलर मूल्य देकर खरीद लिया, जिस कम्पनी ने भारत को २०० साल गुलाम बनाया वह कम्पनी आज एक भारतीय की गुलाम हो गयी है, किन्तु देश के किसी भी चैनल पर इसे नहीं देखा गया क्यों कि हमारा टीआरपी पसाद मीडिया तो उस समय सानिया शोएब की कथित प्रेम कहानी को कवर करने में बिजी था न, उस समय देश से ज्यादा शायद ये दो प्रेम के पंछी मीडिया के लिये जरूरी थे।
यदि आप उन लोगों में से एक हैं जो स्वेच्छा से या अनिच्छा से – समय पर अपने क्रेडिट कार्ड और उपयोगिता बिल का भुगतान नहीं करते हैं तो आप इसे जाने बिना बहुत सारे पैसे बर्बाद कर रहे हैं. उदाहरण के लिए, यदि आपके पास 2 क्रेडिट कार्ड हैं और आप समय पर देय न्यूनतम राशि को जमा करना भूल जाते हैं, तो आप अकेले देर से शुल्क में बहुत से पैसे का भुगतान करेंगे. मान लीजिए कि आप देर से शुल्क के रूप में हर महीने 1,000 रुपये का भुगतान कर रहे हैं. हालांकि, यदि हर महीने एक ही योजना में निवेश किया जाता है, जो सालाना 8 फीसदी देता हो तो यह वास्तव में आपको 30 सालों में में करीब 15 लाख रुपये ला सकता है. इस प्रकार, यह उल्लेख किए बिना पता चल जाता है कि समय पर हमारे बिलों का भुगतान नहीं करना सबसे बड़ी गलतियों में से एक है जिसे हम आम तौर पर करते हैं और जिसे पहले से बचा जाना चाहिए!
कुछ लोगों ने तो बेईमानी को सही ठहराने के लिए ईमानदारी की परिभाषा ही बदल दी। वित्तीय कारोबार में काम करनेवाला टॉम कहता है: “लोगों के हिसाब से ईमानदारी का मतलब सच का साथ देना नहीं है, बल्कि इस तरह बेईमानी करना है कि पकड़े न जाओ।” डेविड जो पहले एक कंपनी में बड़े पद पर काम करता था, कहता है: “बेईमानी करनेवाले का जब भाँडा फूटता है, तो सब उस पर थू-थू करते हैं। लेकिन अगर वही इंसान कानून से साफ बच जाए तो कोई कुछ नहीं कहता। उलटा लोग दाद देते हैं: ‘मानना पड़ेगा उसे, कमाल का दिमाग पाया है!’”

Amazon से पैसा कमाने का सबसे आसान तरीका है YouTube channel आप ने वैसा बहुत YouTube चैनल देखा होगा जिसमे लोग mobile phone का review करते हैं और बोलते हैं की इस फ़ोन को खरीदने के लिए description में दिए गए link में जाकर खरीदें। Description में जो लिंक होता है वो Amazon affiliate link होता है और जब लोग उस link को click करके amazon से वो product खरीदते हैं तो उसका commission उस YouTube चैनल के ओनर को मिलता है।
अगर आपको लेखन से प्यार है, तो कई साइट पैसे देकर ऑनलाइन बुक लिखवाने का काम देती हैं। राइटर बनकर आप भी अपनी बुक ऑनलाइन पब्लिश करा सकते हैं। इसकी एवज में उसकी रॉयल्टी से कमाई कर सकते हैं। इन साइट्स में से एक है अमेजन किंडल। वेबसाइट पर एक डायरेक्ट पब्लिशिंग नाम का फीचर कॉर्नर दिया गया है। यहां खुद को रजिस्टर करके आप बुक का कंटेंट किंडल बुकस्टोर पर डाल सकते हैं। बुक पब्लिश होने के बाद इसकी बिक्री पर आपको 70 फीसदी तक रॉयल्टी मिलती है। साइट और सेल्फ पब्लिश बुक की अधिक जानकारी के लिए https://kdp.amazon.com/ पर क्लिक करें। इस पर आप अपना अकाउंट भी बनाकर रेगुलर मेम्बर बन सकते हैं।
आज के वक्त में इंटरनेट के जरिए भी ट्यूशन कारोबार अच्छा चल रहा है। ई-ट्यूटर भी ऑनलाइन कमाई के चर्चित तरीकों में से एक है। इनमें तमाम इंस्टीट्यूट से लेकर ऑनलाइन वेबसाइट भी अलग-अलग विषयों के लोगों को पेड ई-ट्यूटर रखती हैं।www.tutorvista.com औरwww.2tion.net जैसी प्रमुख वेबसाइट्स पिछले कुछ समय से भारत में ये सुविधा दे रही है। यूजर्स ऐसी ही साइटों पर खुद को रजिस्टर कर चंद घंटे पढ़ाकर मोटी कमाई कर सकते हैं।
CNN name, logo and all associated elements ® and © 2017 Cable News Network LP, LLLP. A Time Warner Company. All rights reserved. CNN and the CNN logo are registered marks of Cable News Network, LP LLLP, displayed with permission. Use of the CNN name and/or logo on or as part of NEWS18.com does not derogate from the intellectual property rights of Cable News Network in respect of them. © Copyright Network18 Media and Investments Ltd 2016. All rights reserved.

13 तुम में बुद्धिमान और समझदार कौन है? जो ऐसा हो, वह इस बात को अपने बढ़िया चालचलन के कामों से उस कोमलता के साथ दिखाए जो बुद्धि से पैदा होती है। 14 लेकिन अगर तुम्हारे दिलों में ज़बरदस्त ईर्ष्या और झगड़े की भावना हो, तो शेखी न मारो और सच्चाई के खिलाफ झूठ मत बोलो। 15 यह बुद्धि वह नहीं जो स्वर्ग से मिलती है, बल्कि यह दुनियावी, शारीरिक और शैतानी है। 16 इसलिए कि जहाँ ईर्ष्या और झगड़े होते हैं, वहाँ गड़बड़ी और हर तरह की बुराई होती है।
सन १८३४ में अंग्रेज अधिकारी मैकॉले का भारत में आगमन हुआ। उसने अपनी डायरी में लिखा है कि ”भारत भ्रमण करते हुए मैंने भारत में एक भी भिखारी और एक भी चोर नहीं देखा। क्यों कि भारत के लोग आज भी इतने अमीर हैं कि उन्हें भीख मांगने और चोरी करने की जरूरत नहीं है और ये भारत वासी आज भी अपना घर खुला छोड़ कर कहीं भी चले जाते हैं इन्हें तालों की भी जरूरत नहीं है।” तब उसने इंग्लैण्ड जा कर कहा कि भार त को तो हम लूट ही रहे हैं किन्तु अब हमें कानूनन भारत को लूटने की नीति बनानी होगी और फिर मैकॉले के सुझाव पर भारत में टैक्स सिस्टम अंग्रेजों द्वारा लगाया गया। सबसे पहले उत्पादन पर ३५०%, फिर उसे बेचने पर ९०% । और जब और कूछ नहीं बचा तो मुनाफे पर भी टैक्स लगाया गया। इस प्रकार अंग्रजों ने भारत पर २३ प्रकार के टैक्स लगाए।
वैसे तो Internet पैसे कमाने के बहुत से तरीके है | लेकिन में यहाँ आप लोगो को 2 तरीको के बारे में बताने जा रहा हूँ | जिनकी सहायता से मैं भी पैसे कमा रहा हूँ, और इसमें कोई रिस्क भी नही है | और इसमें आपको Internet से पैसे कमाने के लिए किसी Degree की जरूरत नही है | लेकिंन आप Internet से पैसे तभी कमा सकते है | जब आपका किसी चीज में रूचि रखते हो | जैसे मान लीजिये आपका खाना बनाने में Interest है | तो आप खाने से सम्बंधित Blog बनाकर, अपने द्वारा तैयार अपनी Recipes को अपने Blog पर डाल सकते हैं |

22 लेकिन वचन पर चलनेवाले बनो,+ न कि सिर्फ सुननेवाले जो झूठी दलीलों से खुद को धोखा देते हैं। 23 क्योंकि जो कोई वचन को सुनता है मगर उस पर चलता नहीं,+ वह उस इंसान के जैसा है जो आईने में अपना* चेहरा देखता है। 24 वह अपनी सूरत देखता है और चला जाता है और फौरन भूल जाता है कि वह किस तरह का इंसान है। 25 मगर जो इंसान आज़ादी दिलानेवाले खरे कानून को करीब से जाँचता* है+ और उसमें लगा रहता है, ऐसा इंसान सुनकर भूलता नहीं मगर उस पर चलता है और इससे वह खुशी पाता है।+
9 जो भाई गरीब है वह इसलिए खुशी मनाए* कि उसे ऊँचा किया गया है+ 10 और जो अमीर है वह इसलिए खुशी मनाए कि उसे दीन किया गया है,+ क्योंकि वह ऐसे मिट जाएगा जैसे मैदान में उगनेवाला फूल। 11 जैसे सूरज के चढ़ने पर उसकी तपती धूप से पौधा मुरझा जाता है और उसका फूल सूखकर गिर जाता है और उसकी खूबसूरती मिट जाती है, ठीक वैसे ही अमीर आदमी भी ज़िंदगी की भाग-दौड़ में मिट जाएगा।+
अगर हम Blogging mein AdSense approval की बात करें तो इसे पाने में अधिकतर Bloggers को 4 से 5 महीने लग जाते हैं वहीँ YouTube में AdSense approval पाना बहुत ही आसान सी बात है. हाँ यहाँ एक बात समझने वाली है की YouTube में AdSense Account “AdSense for content hosts” होता हैं जो की Traditional ads जो की blogs में दिखाते हैं उससे काफी अलग है और differently काम करता है.
Blogging का मतलब यह होता है दोस्तों की आपको अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर उसपर अलग-अलग तरह की पोस्ट करना होती है, आपको अपनी सारी पोस्ट खुद ही लिख कर डालना होती है, आप किसी भी वेबसाइट का Content अपनी वेबसाइट पर नहीं डाल सकते हो, आप किसी के भी ब्लॉग की पोस्ट अपने ब्लॉग पर नहीं डाल सकते हो आपको अपनी वेबसाइट की जितनी भी पोस्ट है उनको खुद ही तैयार करना होगी, अगर आपने किसी के ब्लॉग को कॉपी करके किसी पोस्ट को डाल दिया तो आपके ब्लॉग पर कभी भी Google AdSense Approve नहीं होगा क्युकी जब आप Google AdSense के लिए Google पर Apply करते हो तब Google का ही वर्कर उस वेबसाइट को देख कर ही उसे AdSense के लिए Approve करता है, यह काम इतना भी आसन नहीं है जितना सुनने मे लगता है लेकिन इतना भी कठिन नहीं है |
आसान हिंदी में शेयर मार्किट की जानकारी मिलना कठिन होता है. शेयर मार्किट की जानकारी केवल कुछ लोगों तक ही सीमित क्यों रहे?  यहां आपको कोई विशेष शेयरों के बारे में मैं टिप्स नहीं देने वाला हूं मगर आपको शेयर बाजार के तकनीकी पहलुओं से हिंदी में अवगत करने की कोशिश करुंगा। साथ ही पाढिये शेयर बाजार में कम से कम कितना निवेश कर सकते हैं अौर शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ हमारी साइट पर।
तो अगर आपके पास है कोई क्रिएटिव आईडिया तो आपका उस पर विडियो बनके यूट्यूब प्लेटफार्म अपना एक यूट्यूब चैनल बनाके आसानी से पैसे कमा सकते है आज कल हजारो लोग यूट्यूब से हजारो लाखो यहाँ ताकि करोडो रूपये भी कमा रहे है अगर आप जानना चाहते है की यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए घर बैठे तो इसके लिए आप ये पोस्ट पढ़े यूट्यूब चैनल बनाके पैसे कैसे कमाए पूरी जानकारी  तो जैसे ही आप चैनल बना लेते है और आपके चैनल पर यूट्यूब मोनेटायिजेसन एक्टिवेट हो जाता है इसके बाद आपके वीडियोस पर गूगल ऐडसेंस की तरफ सेप्रचार दिखाए जायेंगे जिसे आपको पैसे मिलेंगे और इस पैसे को सीधा अपने बैंक में भेज सकते है.
×