उसके बाद १८७० में अंग्रेजों के विरुद्ध क्रान्ति छेड़ी हमारे देश के गौरव स्वामी दयानंद सरस्वती ने, उनके बाद लोकमान्य तिलक, लाला लाजपतराय, वीर सावरकर जैसे वीरों ने। फिर गांधी जी, भगत सिंह, उधम सिंह, चंद्रशेखर जैसे बीरों ने। अंतिम लड़ाई लड़ने वालों में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस रहे हैं। सन १९३९ में द्वितीय विश्व युद्ध के समय जब हिटलर इंग्लैण्ड को मारने के लिये तैयार खड़ा था तो अंग्रेज साकार ने भारत से एक हज़ार ७३२ करोड़ रुपये ले जा कर युद्ध लड़ने का निश्चय किया और भारत वासियों को वचन दिया कि युद्ध के बाद भारत को आज़ाद कर दिया जाएगा और यह राशि भारत को लौटा दी जाएगी। किन्तु अंग्रेज अपने वचन से मुकर गए।
इसमें कोई शक नहीं सॉफ्टवेयर उद्योग दिन-ब-दिन बढ़ रही है. आप एक डेवलपर हैं तो आप आवेदन कार्यक्रमों बना सकते हैं और विभिन्न चैनलों पर बेच सकते हैं. आप जावा प्रोग्रामिंग ज्ञान पर पता करने की जरूरत, .जाल, सी # आदि. आप व्यापार के लिए Android अनुप्रयोगों को विकसित कर सकते हैं, शिक्षा, सांख्यिकी, ज्योतिष. आप Android अनुप्रयोगों और सॉफ्टवेयर उपकरण बना सकते हैं.
In December 2013, a Falcon 9 successfully carried a satellite to geosynchronous transfer orbit, a distance at which the satellite would lock into an orbital path that matched the Earth's rotation. In February 2015, SpaceX launched another Falcon 9 fitted with the Deep Space Climate Observatory (DSCOVR) satellite, aiming to observe the extreme emissions from the sun that affect power grids and communications systems on Earth.
लक्जरी कार या महंगे मोबाइल जो नए-नए बाजार में आए हैं, को खरीदने से पहले खुद से कभी पूछा है कि, क्या तुम्हें वाकई इसकी जरुरत है या फिर तुम्हारे नजदीकी पड़ोसी या दोस्त ने ख़रीदा है इसलिए? तथ्य यह है कि, यहां तक कि सबसे बुद्धिमान लोग अपने पैसे के साथ बेवकूफाना हरकतें करते हैं- चाहे वह लापरवाह खर्च या समय के साथ जुड़ने वाले छोटे-छोटे खर्च हों. और जब वे चिंता करते रहते हैं कि उनके पैसे वास्तव में कहां जाते हैं, तो इन खर्चों के कारण उनके कड़ी मेहनत वाले पैसे खर्च हो चुके होते हैं.

और आज इन्ही काले अंग्रेजों की संताने आज हम पर शाशन कर रही हैं। वरना क्या वजह है कि मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में नयी दुनिया नामक एक अखबार की पुस्तक का विमोचन करने पहुंचे चिताम्बरम ने यह कहा कि भारत तो हज़ारों वर्षों से भयंकर गरीब देश है। और इन्ही काले अंग्रेजों की एक और संतान हमारे प्रधान मंत्री जी हैं। जब ये प्रधान मंत्री बनने के बाद पहली बार ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गए तो वहां उन्हà ��ंने कहा कि भारत तो सदियों से गरीब देश रहा है, ये तो भला हो अंग्रेजों का जिन्होंने आकर हमें अँधेरे से बाहर निकाला, हमारे देश में ज्ञान का सूरज लेकर आये, हमारे देश का विकास किया आदि आदि। अगले दिन लन्दन के सभी बड़े बड़े अखबारों में हैडलाइन छपी थी की भारत शायद आज भी मानसिक रूप से हमारा गुलाम है। और ये वही काले अंग्रेज हैं जो खुद तो देश का पैसा स्विस बैंक में जमा करते गए किन्तु गुजरात जैसे प्रदेश में भी विकास करने वाले नरेन्द्र भाई मोदी पर पता नहीं क्या क्या घटिया आरोप लगाते रहे। मानसिक गुलामी की बाढ़ इतनी आगे बढी कि हमारा मीडिया भी उसमे गोते खाने लगा। देश पर २०० साल तक राज़ करने वाली ईस्ट इण्डिया कम्पनी को एक भारतीय उद्योगपति संजीव मेहता ने १५० लाख डॉलर मूल्य देकर खरीद लिया, जिस कम्पनी ने भारत को २०० साल गुलाम बनाया वह कम्पनी आज एक भारतीय की गुलाम हो गयी है, किन्तु देश के किसी भी चैनल पर इसे नहीं देखा गया क्यों कि हमारा टीआरपी पसाद मीडिया तो उस समय सानिया शोएब की कथित प्रेम कहानी को कवर करने में बिजी था न, उस समय देश से ज्यादा शायद ये दो प्रेम के पंछी मीडिया के लिये जरूरी थे।


5 इसलिए अगर तुम में से किसी को बुद्धि की कमी हो तो वह परमेश्‍वर से माँगता रहे क्योंकि परमेश्‍वर अपने सभी माँगनेवालों को उदारता से और बिना डाँटे-फटकारे बुद्धि देता है और माँगनेवाले को यह दी जाएगी। 6 लेकिन वह विश्‍वास के साथ माँगता रहे, और ज़रा भी शक न करे, क्योंकि जो शक करता है वह समुद्र की लहरों की तरह होता है जो हवा से यहाँ-वहाँ उछलती रहती हैं। 7 दरअसल ऐसा इंसान यह उम्मीद न करे कि वह यहोवा* से कुछ भी पाएगा। 8 वह इंसान अपने फैसलों में दुचित्ता और सारी बातों में डाँवाडोल है।
अगर आप आजीविका चलाने के लिए नौकरी करते हैं और आपको यह उम्मीद नहीं है कि वह नौकरी आपको अमीर बनाएगी, तब आप ज़रूर उस काम से प्रेम करते होंगे, है ना ? नहीं, यह कोई चालाकी भरा सवाल नहीं है। यह तो हमारी महत्वाकांक्षाओं की प्राथमिकता तय करने के बारे में है। अगर हम सिर्फ़ पैसे की खातिर काम करते हैं, तो इसमें समझदारी लगती है कि हम ज़्यादा से ज़्यादा कमाएँ, जितना हम कमा सकते हैं, जितना हम चाहते हैं।
कैसे अमीर पाने के लिए? अमीर सुझाव प्राप्त हमारे मुफ़्त के साथ पैसा बनाने के लिए और सिद्ध किया है। पैसा हर किसी के आविष्कार के इस लोकप्रिय सवाल पूछ रहा है के बाद से: आप कैसे अमीर मिलता है? और पैसा बनाने के लिए कोई शॉर्टकट नहीं है? हम यह कैसे करना है पता, और हाँ: शॉर्टकट हैं! YouWillGetRich आप पैसा बनाने के लिए और तेजी से आप कभी सोच सकते हैं की तुलना में अमीर पाने में मदद मिलेगी कि आम लोगों के लिए रचनात्मक समाधान प्रदान करता है। इसका कोई मजाक नहीं। श्रेष्ठ भाग? हम वर्तमान तरीकों, मुक्त पारदर्शी है, और आप अपने घर छोड़ने के लिए कभी नहीं! पैसे ऑनलाइन आज बनाओ इसका आसान ऑनलाइन पैसा बनाने के लिए। खासकर अगर आप सिर्फ घर से एक अतिरिक्त आय उत्पन्न करने के लिए एक रास्ते की तलाश कर रहे हैं। पर पढ़ें, हम हर किसी के लिए कुछ अवसर मिल गया है। जल्दी धनवान बनो किसी भी लॉटरी ऑनलाइन एंड विन पैसे खेलने स्वचालित वेबसाइटें: परम ऑनलाइन पैसा मशीन भुगतान किया सर्वेक्षण: प्रति सप्ताह $ 3000 या अधिक कमाने कोई कारोबार शुरू करना पोकर ऑनलाइन और अमीर हो जाओ स्टॉक और शेयर ट्रेडिंग वेतन वृद्धि हुई उधार के पैसे का निवेश विदेशी मुद्रा व्यापार, अमीर पाने के लिए नया तरीका इंटरनेट पर कैसीनो और जुआ

नियन्त्रणमा परेका चारै जना गोरेको सहयोगी र भरियाको रुपमा विगतमा काम गरिसकेका थिए । सुन कहाँ छ भन्दै उनीहरुलाई यातना दिन थालियो । करेन्टको झड्का सहन नसकेर सनमको ज्यान गयो । अब गोरेलाई सुन खोज्ने मात्र होइन, सनमको शब ठेगान लगाउने जिम्मा पनि आइलाग्यो । यो बीचमा गोरे र महानगरीय प्रहरी अपराध अनुसन्धान महाशाखाका सई बालकृष्ण सञ्जलेबीच संवाद भइरहेको थियो । शव ठेगान लगाउने, सुन खोज्ने र यसवापत सइ सन्जेलले रकम पाउने सहमति भयो ।


ज्‍यादातर लोगों को मानना है कि बिजनेस में सफलता आपकी कुछ खास स्किल पर निर्भर करती है। अगर आप में ये स्किल हैं तो आप आसानी के साथ बिजनेस में सफलता की सीढ़ी चढ़ते जाएंगे। बिजनेस वेबसाइट इंक डॉटकॉम ने हाल में आपनी रिपोर्ट में कुछ ऐसी ही सॉफ्ट स्किल का जिक्र किया। ये वो स्किल हैं, जो सफल बिजनेसमैन बनने में आपकी मदद करती हैं। आइए जानते हैं इन्‍हीं स्किल के बारे में। अगर सफल बिजनेसमैन बनकर आप भी ढेर सारा पैसा कमाना चाहते हैं तो इन स्किल्‍स को गांठ बांध लें।
दोस्त यह इन्टरनेट मार्केटिंग है और यहाँ आज कल इतनी वेबसाइटै हो गई है की इनकी जानकारी शायद ही कोई रखता होगा और इस भीड़ में सभी वेबसाइटों के मालिक अपनी वेबसाइट पर अधिक से अधिक लोगों को लाना चाहते है फिर चाहें वो Google से आये या पैसे देकर तो इसमें होता क्या है. यह जो वेबसाइट का मालिक ही वो किसी ऐसी वेबसाइट जो सबसे अधिक लोग रोज देखते है उसके मालिक से सम्पर्क करता है और उससे कहता की आप मेरी वेबसाइट का एक छोटा सा बैनर या पता अपनी वेबसाइट पर लगा दें में आपको हर महीने इतने पैसे दूंगा और इस तरह से जब उसकी वेबसाइट का लिंक या पता उस वेबसाइट पर लगा जाता है तो जो सबसे पोपुलर वेबसाइट है उस पर जितने भी लोग आयेंगे उनमे से %10 लोग तो उस वेबसाइट के बैनर पर क्लिक करेंगे ही करेंगे यदि बैनर अच्छा हुआ और वेबसाइट भी काम की हुई तो अधिक भी आयेंगे.
मित्रों आज़ादी के बाद भारत में भ्रष्टाचार तो इतना बढ़ा कि मधु कौड़ा जैसे मुख्यमंत्री ने झारखंड का मुख्यमंत्री बनकर केवल दो साल में ५६०० करोड़ की संपत्ति स्विस बैंक में जमा करवा दी। जब मधु कौड़ा जैसा मुख्यमंत्री केवल दो साल में ५६०० करोड़ रुपये भारत के एक गरीब राज्य से लूट सकता है तो ६३ सालों से सत्ता में बैठे काले अंग्रेजों ने इस अमीर देश से कितना लूटा होगा? ऐसे ही थोड़े ही राजीव गांधी ने कहा था कि जब मै एक रूपया देश की जनता को देता हूँ तो जनता तक केवल १५ पैसे पहुँचते हैं। कूछ समय पहले उत्तर प्रदेश के एक आईएएस अधिकारी अखंड प्रताप सिंह के घर जब इन्कम टैक्स का छापा पड़ा तो उनके घर से ४८० करोड़ रुपये मिले। पूछताछ में अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि ऐसे मेरे १९ घर और हैं। और इस प्रकार से ये पैसा पहुंचता है स्विस बैंक।

Musk founded his third company, Space Exploration Technologies Corporation, or SpaceX, in 2002 with the intention of building spacecraft for commercial space travel. By 2008, SpaceX was well established, and NASA awarded the company the contract to handle cargo transport for the International Space Station—with plans for astronaut transport in the future—in a move to replace NASA’s own space shuttle missions.


एजेन्सी । ब्राजिलियन स्टार मार्सेलो भिएइराले कर छलीको आरोप स्वीकार गरेका छन् । उनले कर छलीको आरोप स्वीकार गर्दै चार महिनाको जेल सजाय र जरिवाना तिर्ने भएका स्पेनिस सञ्चारमाध्यमले जनाएका छन् । आफ्नो आय विदेशी फर्मलाई व्यवस्थित गर्न लगाएर ३० वर्षका मार्सेलोले चार लाख ९० हजार युरो कर छली गरेको आरोप स्पेनिस अधिकारीले लगाएका थिए । मार्सेलोले ७ लाख ५० हजार युरो जरिवाना तिर्नु पर्ने भएको छ ।
आज के समय में एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) काफी ज्यादा पोपुलर हो रहा है लोग इससे काफी अच्छा पैसा कमा रहे है अगर आप किसी के प्रोडक्ट को बेचते है ऑनलाइन तो इसके लिए आपको काफी अच्छा कमिसन मिल जाता है अगर आपका कोई वेबसाइट है या ब्लॉग है तो आप उनके प्रोडक्ट को ऑनलाइन सेल करके काफी अच्छा पैसा कमा सकते है लेकिन इसके लिए आपके ब्लॉग  वेबसाइट या यूट्यूब चैनल होना जरुरी है जिसे पर रोजाना हजारो लोग आये आपके दुवारा प्रमोट किये गए प्रोडक्ट को ख़रीदे तभी आपको उस पर कमिसन मिलेगा
×