मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?

आज़ादी मिलने से कूछ समय पहले एक बीबीसी पत्रकार ने गांधी जी से पूछा कि अब तो अंग्रेज जाने वाले हैं, आज़ादी आने वाली है, अब आप पहला काम क्या करेंगे? तो गांधी जी ने कहा कि केवल अंग्रेजों के जाने से आज़ादी नहीं आएगी, आज़ादी तो तब आएगी जब अंग्रेजो द्वारा बनाया गया पूरा सिस्टम हम बदल देंगे अर्थात उनके द्वारा बनाया गया एक एक कानून बदलने की आवश्यकता है क्यों कि ये क़ानून अंग्रेजों ने भारत को लूटने के लिये बनाए थे, किन्तु अब भारत के आज़ाद होने के बाद इन सभी व्यर्थ के कानूनों को हटाना होगा और एक नया संविधान भारत के लिये बनाना होगा। हमें हमारी शिक्षा पद्धति को बदलना होगा जो कि अंग्रेजों ने भारत को गुलाम बनाए रखने के लिये बनाई थी। जिसमे हमें हमारा इतिहास भुला कर अंग्रेजों का कथित महान इतिहास पढ़ाया जा रहा है। अंग्रेजों कि शिक्षा पद्धति में अंग्रजों को महान और भारत को नीचा और गरीब देश बता कर भारत वासियों को हीन भावना से ग्रसित किया जा रहा है। इस सब को बदलना होगा तभी सही अर्थों में आजादी आएगी।
पछिल्लो समय आर्थिक गतिविधिमा आएको सुधारका कारण रोजगारी, उत्पादन तथा उत्पादकत्व बढ्दा प्रतिव्यक्ति आयमा सुधार आएको पूर्व अर्थसचिव डा. शान्तराज सुवेदीले बताए । ‘नेपालीको औसत आय बढ्नुमा पुनर्निर्माण, ठूला तथा राष्ट्रिय गौरवका आयोजनाका निर्माणले लिएको गति, सरकारी खर्चमा भएको बढोत्तरीले नेपालको कुल गार्हस्थ उत्पादन बढ्न जाँदा त्यसको प्रभाव प्रतिव्यक्ति आयमा देखियो’, पूर्व अर्थसचिव डा. सुवेदीले अन्नपूर्णसँग भनेका छन्, ‘पछिल्लो समय विद्युत् आपूर्ति बढ्न जाँदा उद्योग क्षेत्रको उत्पादन बढ्नुका साथै निर्माणमा प्रगति हुँदै गएको छ ।’
Make Money in Hindi : यह आसानी से हो जाता है। जीवनयापन की खातिर आपको नौकरी की ज़रूरत होती है; हम सबको होती है। नौकरी आपका बहुत सारा वक्त तथा ऊर्जा खा जाती है। आपके पास यह सोचने की फुरसत या शक्ति ही नहीं बचती है कि आप ज़्यादा पैसे कमाने के लिए इससे अलग या बेहतर क्या कर सकते हैं। हममें से ज़्यादातर लोग अपने वित्तीय मामलों को भूलने के दोषी हैं। सच कहा जाए तो हमारे पास जो ख़ाली समय होता है, उसे हम बहुत क़ीमती मानते है। हमें लगता है कि उस बेशक़ीमती वक्त में अपनी वित्तीय स्थिति का विश्लेषण करने या जीवन/कैरियर परिवर्तन की योजना बनाने के बजाय (जो हमें बहुत पहले ही कर लेना चाहिए था) हम ज़्यादा रोचक और रोमांचक काम कर सकते हैं।
आज के टाइम में average  लोगो के लिए competition बहुत ही ज्यादा है और  आपको competition से उप्पर उठने का एक ही तरीका है। वो भी  Be Obsessed &  be extra –ordinary  अगर आप किसी भी successful इंसान को देखोगे की वो अपने काम को लेकर कितना ज्यादा Obsessed  रहते है।  उनको किसी और काम में ध्यान ही नहीं जाता।  उनका ध्यान सिर्फ और सिर्फ बस एक ही काम में होता है मतलब की वो लोग जिस तरह की focused और dedicated के साथ उस काम को करते है जिस्से देखकर एक normal इंसान को लगेगा की ये इंसान तो सच में पागल है या कोई बीमारी है। लेकिन सच बात तो ये है की obsession कोई बीमारी नहीं बल्कि गिफ्ट है। 
भारत की उभरती अर्थव्यवस्था ने कई ऐसे लोगों के सितारे बुलन्द किए, जो पहली बार बिजनेस में उतर रहे थे. आन्या गुप्ता ने उनसे लंबी बातचीत कर उनकी जिंदगियों का 'फर्स्ट पर्सन' ब्यौरा लिया और 'कैप्टनशिप 'नाम से किताब लिखी. ये सीरीज उन आत्मकथाओं का संक्षिप्त रूपांतर है. चित्र अनीता बालचंद्रन के हैं और प्रकाशन ब्लूम्सबरी का. मूल हिंदी अनुवाद भावना पांडेय का है.
Online पैसा Income कमाने के लिए Matrixmails बहुत अच्छी Website है। इस Website पर Daily Email पढ़ने, Ads और Offer्स पर क्लिक करने, और उनके द्वारा दिए गए Website पर विजिट करने के पैसे मिलते है। यह Website 2002 में लांच हुई थी। इसके साथ-साथ रेफर और इनवाइट Offer के माध्यम से दूसरे लोगों को बताकर Money Earn किया जा सकता है। इस प्रकार आप रोजाना कम से कम 2 से 3 घंटे काम करके ₹500 से लेकर ₹2000 तक कमा सकते हैं। Online पैसा income करने के लिए यह अच्छी Website है। Email पढ़ने का अच्छा सॉक है, तो आप Daily High Money Earn कर सकते है।
इन्टरनेट आज के समय से सबसे सबसा बड़ा माध्यम से किसी से जुड़ने के लिए अपने बिज़नस को बड़ा करने के लिए ऑनलाइन एडवरटाइजिंग (Online advertising) करने के लिए पढाई करने के लिए यहाँ तक की घर बैठे ऑनलाइन इंटरनेट से पैसे कमाने के लिए भी आप इन्टरनेट का इस्तेमाल कर सकते है अब इन्टरनेट से ऑनलाइन पैसे (Online Paise) कमाए के कई तरीके है और आपको इन्टरनेट में बहोत सरे वेबसाइट मिल जायेंगे जहा से आप घर पर ही काम कर करके पैसे कमा सकते है लेकिन इसके लिए आपको इन्टरनेट के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए क्यों इन्टरनेट में आपको बहोत सरे फेक (Fake) यानि नकली वेबसाइट मिल जायेंगे जो आपको पैसे देने का वादा करते है लेकिन काम करने के बाद पैसे नहीं देते तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको रियल मनी (Real Money) कमाने के तरीके बताएँगे की कैसे घर बैठे ऑनलाइन इंटरनेट से पैसे कमाए पूरी जानकारी हिंदी में (How to earn money online at home information in hindi) हाउ टो मनी ऑनलाइन अट होम इनफार्मेशन इन हिंदी.
×