मित्रों भारत को विश्व में सोने की चिड़िया कहा गया किन्तु एक बात सोचने वाली है कि यहाँ तो कोई सोने की खाने नहीं हैं फिर यहाँ विश्व का सबसे बड़ा सोने का भण्डार बना कैसे? यहाँ प्रश्न जरूर पैदा होते हैं किन्तु एक उत्तर यह मिलता है कि हम हमेशा से गरीब नहीं थे। अब जब भारत में सोना नहीं होता तो साफ़ है कि भारत में सोना आया विदेशों से। किन्तु हमने तो कभी किसी देश को नहीं लूटा। इतिहास में ऐसा कोई भी साक्ष्य नहीं है जिससे भारत पर ऐसा आरोप लगाया जा सके कि भारत ने अमुक देश को लूटा, भारत ने अमुक देश को गुलाम बनाया, न ही भारत ने आज कि तरह किसी देश से कोई क़र्ज़ लिया फिर यह सोना आया कहाँ से? तो यहाँ जानकारी लेने पर आपको कूछ ऐसे सबूत मिलेंगे जिससे पता चलता है कि कालान्तर में भारत का निर्यात विश्व का ३३% था। अर्थात विश्व भर में होने वाले कुल निर्यात का ३३% निर्यात भारत से होता था। हम ३५०० वर्षों तक दुनिया में कपडा निर्यात करते रहे क्यों की भारत में उत्तम कोटी का कपास पैदा होता था। तो दुनिता को सबसे पहले कपडा पहनाने वाला देश भारत ही रहा है। कपडे के बाद खान पान की अनेक वस्तुएं भारत दुनिया में निर्यात करता था क्यों कि खेती का सबसे पहले जन्म भारत में ही हुआ है। खान पान के बाद भारत में करीब ९० अलग अलग प्रकार के खनीज भारत भूमी से निकलते है जिनमे लोहा, ताम्बा, अभ्रक, जस्ता, बौक् साईट, एल्यूमीनियम और न जाने क्या क्या होता था। भारत में सबसे पहले इस्पात बनाया और इतना उत्तम कोटी का बनाया कि उससे बने जहाज सैकड़ों वर्षों तक पानी पर तैरते रहते किन्तु जंग नहीं खाते थे। क्यों की भारत में पैदा होने वाला लौह अयस्क इतनी उत्तम कोटी का था कि उससे उत्तम कोटी का इस्पात बनाया गया। लोहे को गलाने के लिये भट्टी लगानी पड़ती है और करीब १५०० डिग्री ताप की जरूरत पड़ती है और उस समय केवल लकड़ी ही एक मात्र माध्यम थी जिसे जलाया जा सके। और लकड़ी अधिकतम ७०० डिग्री ताप दे सकती है फिर हम १५०० डिग्री तापमान कहा से लाते थे वो भी बिना बिजली के? तो पता चलता है कि भारत वासी उस समय कूछ विशिष्ट रसायनों का उपयोग करते थे अर्थात रसायन शास्त्र की खोज भी भारत ने ही की। खनीज के बाद चिकत्सा के क्षेत्र में भी भारत का ही सिक्का चलता था क्यों कि भारत की औषधियां पूरी दुनिया खाती थी। और इन सब वस्तुओं के बदले अफ्रीका जैसे स्वर्ण उत्पादक देश भारत को सोना देते थे। तराजू के एक पलड़े में सोना होता था और दूसरे में कपडा। इस प्रकार भारत में सोने का भण्डार बना। एक ऐसा देश जहाँ गाँव गाँव में दैनिक जीवन की लगभग सभी वस्तुएं लोगों को अपने ही आस पास मिल जाती थी केवल एक नमक के लिये उन्हें भारत के बंदरगाहों की तरफ जाना पड़ता था क्यों कि नमक केवल समुद्र से ही पैदा होता है। तो विश्व का एक इ तना स्वावलंबी देश भारत रहा है और हज़ारों वर्षों से रहा है और आज भी भारत की प्रकृती इतनी ही दयालु है, इतनी ही अमीर है और अब तो भारत में राजस्थान में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर में पेट्रोलियम भी मिल गया है तो आज भारत गरीब क्यों है और प्रकृति की कोई दया नहीं होने के बाद यूरोप इतना अमीर क्यों?
मैंने श्री राजिव दीक्षित जी के दु:खद निधन के बारे में प्रवकता.कॉम की ओर से प्रस्तुत कोई लेख को देखने की अभिलाषा से वेबसाईट को खोजा| ऐसा कोई मृतविवरण तो नहीं मिला, संभवतः ठीक प्रकार से खोज न की हो लेकिन आपका लेख अवश्य देखने और पढ़ने को मिला| आपके लेख में बताये तथ्य को सभी जानते हैं लेकिन बहुत कम लोग हैं जो सोचते भी हैं| लेकिन सोचने वालों की संख्या इतनी कम है कि जैसे बड़े से बर्तन में पाँव भर दूध उबल उबल कर जल जाये नष्ट हो जाये और किसी को मालुम ही न हो| मेरे विचार में जवाहरलाल नेहरु के प्रयोगात्मक समाजवाद से उत्पन्न अभाव से बचने के लिए स्वतन्त्र भारत की पहली पढ़ी-लिखी पेशेवर युवा पीढ़ी ने १९७० दशक से भारत छोड़ अमरीका और दूसरे पाश्चिम देशों में जा बसने का जो बीज बोया था वह वास्तविकता में संपूर्ण आज़ादी थी—अंग्रेजों के बनाये कानूनी चक्रव्यूह से और समाजवाद से| और आज आपका लेख पढ़ ऐसा प्रतीत होता है कि तथाकथिक स्वतंत्रता के तिरेसठ वर्षों बाद आज की युवा-पीढ़ी इन काले अंग्रेजों की सत्ता को उखाड फैंक यथार्थ स्वतंत्रता प्राप्त करेगी| आपका लेख सभी हिंदी-भाषी व प्रांतीय भाषों में प्रकाशित पत्रिकाओं में प्रस्तुत होना चाहिए|
अगर आप नहीं जानते ब्लॉग बनाने के लिए क्या चाहिए तो आप ये पोस्ट पढ़े वेबसाइट या ब्लॉग बनाने के लिए क्या क्या चाहिएजैसे ही आप अपने ब्लॉग बना लेते है इसके बाद आपको रोजाना पोस्ट यानि आर्टिकल लिखना है किसी भी टॉपिक पर जिसके बारे में आपको अच्छे से ज्ञान हो जैसे ही आपके ब्लॉग पे रोजाना अच्छा खासा ट्रैफिक आने लगे यानि लोग आपके ब्लॉग को पढने लगे तो इसके बाद आप अपने ब्लॉग पर एडवरटाइजिंग (Advertising) दिखा कर पैसे (Paise) कमा सकते है तो इसके लिए आप गूगल ऐडसेंस का इस्तेमाल कर सकते है इसके अलावा आप अफ्फीलियेट मार्केटिंग (affiliate marketing) या फिर स्पोंसर कंटेंट लिख कर भी ब्लॉग से पैसे कमा सकते है लेकिन ब्लॉग में आप एकदम से पैसे नहीं कमा सकते है इसके लिए कुछ समय लगता है और साथ में आपको हार्ड वर्क भी करना होगा.
शंकर जी हमारे देश में राहुल गांधी कोई अकेला नेता नहीं है जो हमें उसी पर निर्भर होना पड़े| हमें राहुल गांधी की जरुरत नहीं है, हमें तो जरुरत है आप जैसे देश भक्तों की जो देश के लिये समर्पण का भाव रखते हैं, जो देश के इतिहास पर गर्व करते हैं, उसकी संस्कृती पर गर्व करते हैं, उसकी शक्ति पर गर्व करते हैं| केवल राहुल ही एक अकेला रास्ता नहीं है, यह देश इतना शक्तिशाली है कि खुद अपने लिये नए और उपयुक्त रास्ते बना सकता है| सबसे बड़ी शक्ति आवाम की है, आवाम खुद इतनी बड़ी शक्ति है कि बड़ी से बड़ी सत्ता को उखाड़ कर फेंक सकती है, बड़ी से बड़ी व्यवस्था को बदल सकती है| दुःख है तो बस इस बात का कि यह शक्ति बिखरी हुई है| जिस दिन यह शक्ति संगठित हो जाएगी तो जिस तरह अंग्रेज भागे थे हमारा देश छोड़ कर इन काले अंग्रेजो को भी हम देश से निकाल कर बाहर फेंक देंगे| जरुरत बस एक होने की है| आप और हम राष्ट्र आराधन करते रहें तो यह भी संभव है|

अगर आप नहीं जानते ब्लॉग बनाने के लिए क्या चाहिए तो आप ये पोस्ट पढ़े वेबसाइट या ब्लॉग बनाने के लिए क्या क्या चाहिएजैसे ही आप अपने ब्लॉग बना लेते है इसके बाद आपको रोजाना पोस्ट यानि आर्टिकल लिखना है किसी भी टॉपिक पर जिसके बारे में आपको अच्छे से ज्ञान हो जैसे ही आपके ब्लॉग पे रोजाना अच्छा खासा ट्रैफिक आने लगे यानि लोग आपके ब्लॉग को पढने लगे तो इसके बाद आप अपने ब्लॉग पर एडवरटाइजिंग (Advertising) दिखा कर पैसे (Paise) कमा सकते है तो इसके लिए आप गूगल ऐडसेंस का इस्तेमाल कर सकते है इसके अलावा आप अफ्फीलियेट मार्केटिंग (affiliate marketing) या फिर स्पोंसर कंटेंट लिख कर भी ब्लॉग से पैसे कमा सकते है लेकिन ब्लॉग में आप एकदम से पैसे नहीं कमा सकते है इसके लिए कुछ समय लगता है और साथ में आपको हार्ड वर्क भी करना होगा.
अगर आप एक Programmer है तो आपके लिए यह तरीका सबसे बेस्ट है , आप अपना खुद का एक Android App बनाकर बहुत सारे पैसे कमा सकते हो आपको बस एक अच्छा सा Android App बनाना है और उसे Google Play Store पर पब्लिश करना है, जितने भी लोग आपके App को सर्च करके डाउनलोड करेंगे आपको उतना ही Payment Google से मिलेगा, इस तरह आप App Development करके भी Google से पैसा कमा सकते है |

इस पोस्ट में आपको गूगल से पैसा कमाने के आसान तरीके ऑनलाइन कमाई के साधन पैसा कमाने के गलत तरीके इंटरनेट से पैसे कमाने के तरीके गांव में पैसे कमाने के तरीके वेबसाइट से पैसे कमाने के तरीके पैसे कमाने की वेबसाइट पैसा कमाने के उपाय  के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें. और इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि दूसरे भी इस जानकारी को जान सकें.
आपके पास थोड़ा ज्ञान होना चाहिए आप अपने आप इस जगह से सीखते चले जायेंगे और पैसे भी कमाते रहेंगे तो आज हम आपको internet se paise kamane ke tarike बताने जा रहे है जिनसे ज्यादा पैसा कमाया जा सकता है और इन तरीको को बहुत लोग इस्तेमाल कर रहे हैं. अगर आप किसी चीज में माहिर हो या थोड़ा बहुत भी ज्ञान है जैसे आप वेब डेवलपर हो, आपकी टाइपिंग स्पीड अच्छी, आप एक एक्टर या आप एक वोइस एक्टर हो, आप एनीमेशन बना सकते हो, आप लोगो डिजाइन कर सकते हो, आप पेंटिंग कर सकते हो, आप कुछ भी ऐसा कर सकते हो जो विशेष हो तो आपके लिए ऑनलाइन पैसा कमाने की वेबसाइट बताने जा रहे हैं जिनसे आप पैसे कमा सकते हैं.
Affiliate Marketing सुरु करने केलिए आपको कोई invest करने की जरुरत नहिं है. आप अपना पहला selling e-commerce sites जैसे Flipkart और Amazon से सुरु कर सकते है. उनके affiliate program में join करने के बाद आपको हर product का एक affiliate link मिलेगा. जो किओ भी user उस link से वो product खरीदेगा, आपको उसकी कुछ percent commission मिलेगा. आप ये link अपने blog, video, social media और email से share कर सकते हैं.
एजेन्सी । ब्राजिलियन स्टार मार्सेलो भिएइराले कर छलीको आरोप स्वीकार गरेका छन् । उनले कर छलीको आरोप स्वीकार गर्दै चार महिनाको जेल सजाय र जरिवाना तिर्ने भएका स्पेनिस सञ्चारमाध्यमले जनाएका छन् । आफ्नो आय विदेशी फर्मलाई व्यवस्थित गर्न लगाएर ३० वर्षका मार्सेलोले चार लाख ९० हजार युरो कर छली गरेको आरोप स्पेनिस अधिकारीले लगाएका थिए । मार्सेलोले ७ लाख ५० हजार युरो जरिवाना तिर्नु पर्ने भएको छ ।
जैसे मोदी चाहकर भी थरूर की वजह से कोच्चि को फ्रैंचाइजी लेने से नहीं रोक पाए, उसी तरह दुनिया की कोई भी ताकत नेताओं के सगे-संबंधियों के किसी भी काम को रोकने का साहस नहीं कर पाती, चाहे वह कितना भी गलत या अनैतिक क्यों न हो! ऐसे में पैसा 200 क्या, 1000 गुना सलाना भी बढ़ सकता है। वैसे, इसमें 'मोदियों' का भी दोष कम नहीं होता, क्योंकि रेवड़ी में हिस्सेदारी उन्होंने भी उड़ाई होती है। दुर्भाग्य से कमाई का चौथा स्टाइल मोदियों वाला ही है और देश को खोखला करने वाला सबसे बड़ा घुन यही है।
19 मेरे प्यारे भाइयो, यह बात जान लो। हर इंसान सुनने में फुर्ती करे, बोलने में सब्र करे, और क्रोध करने में धीमा हो। 20 इसलिए कि इंसान के क्रोध करने का नतीजा वह नेकी नहीं होता जिसकी माँग परमेश्‍वर करता है। 21 तो फिर हर तरह की अशुद्धता और उस बेकार चीज़, यानी बुराई को उतार फेंको और अपने अंदर उस वचन के बोए जाने को कोमलता से स्वीकार करो, जो तुम्हारी ज़िंदगियों को बचा सकता है।
मित्रों श्री राजीव दीक्षित के एक व्याक्यान में उन्होंने बताया था कि वे एक बार जर्मनी गए थे और वहां एक प्रोफेसर से उनका विवाद हो गया। विवाद का विषय था ”भारत महान या जर्मनी?” जब कोई निर्णय नहीं निकला तो उन्होंने एक रास्ता बनाया कि दोनों जन एक दूसरे से उसके देश के बारे में कुछ सवाल पूछेंगे और जिसके जवाब में सबसे ज्यादा हाँ का उत्तर होगा वही जीतेगा और उसी का देश महान। अब राजीव भाई ने प्रश्न पूछना शुरू किया। उनका पहला प्रश्न था-
पैसे कौन कमाना नहीं चाहता | कम समय में पैसा कमाने के लिए या जल्द अमीर बनने के लिए लोग दिन रात मेहनत करके पैसे कमाते हैं वहीं दूसरी तरफ पैसा कमाने के गलत तरीके अपना कर भी लोग कम समय में पैसे कमाने की चेष्टा रखते हैं | गलत तरीके से पैसा कमाना अच्छी बात बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि गलत तरीके से पैसे कमाने की लालच में आप अपना समय, मेहनत और पैसा दोनों ही हो सकते हैं |
तो अगर आपके पास है कोई क्रिएटिव आईडिया तो आपका उस पर विडियो बनके यूट्यूब प्लेटफार्म अपना एक यूट्यूब चैनल बनाके आसानी से पैसे कमा सकते है आज कल हजारो लोग यूट्यूब से हजारो लाखो यहाँ ताकि करोडो रूपये भी कमा रहे है अगर आप जानना चाहते है की यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए घर बैठे तो इसके लिए आप ये पोस्ट पढ़े यूट्यूब चैनल बनाके पैसे कैसे कमाए पूरी जानकारी  तो जैसे ही आप चैनल बना लेते है और आपके चैनल पर यूट्यूब मोनेटायिजेसन एक्टिवेट हो जाता है इसके बाद आपके वीडियोस पर गूगल ऐडसेंस की तरफ सेप्रचार दिखाए जायेंगे जिसे आपको पैसे मिलेंगे और इस पैसे को सीधा अपने बैंक में भेज सकते है.
×