7 इसलिए, खुद को परमेश्‍वर के अधीन करो, मगर शैतान* का सामना करो और वह तुम्हारे पास से भाग जाएगा। 8 परमेश्‍वर के करीब आओ और वह तुम्हारे करीब आएगा। अरे पापियो, अपने हाथ धोओ, अरे दुचित्ते लोगो, अपने दिलों को शुद्ध करो। 9 अपनी दुर्दशा पर मातम करो और रोओ। तुम्हारी हँसी मातम में और तुम्हारी खुशी उदासी में बदल जाए। 10 यहोवा की नज़रों में खुद को नम्र करो और वह तुम्हें ऊँचा करेगा।
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सरकार ने अगले पांच साल में किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके लिए सात सूत्रीय रणनीति तैयार की गई है। पिछले साल तय की गई इस सात सूत्रीय रणनीति के तहत सिंचाई प्रणाली को मजबूत करने, किसानों को बेहतर किस्म के बीज मुहैया कराने और फसल कटाई के बाद उन्हें बरबादी से बचाने जैसे तरीके शामिल हैं।

मुखौटा कंपनियों के जरिए बड़े पैमाने पर कालेधन को सफेद करने के मामले में आयकर विभाग ने गुरुवार को धनबाद और कोलकाता में 26 ठिकानों पर छापेमारी की। छापे में 250 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा हुआ है। इस दौरान एक करोड़ नकद, लगभग पांच किलो की ज्वेलरी, हवाला के तहत चार करोड़ से अधिक का भुगतान, 50 मुखौटा कंपनियों से संबंधित दस्तावेज, बेनामी संपत्ति एवं फ्लैट मिले। 
अगर आपको लिखना पसंद है या आपकी लिखने की स्किल (Writing skill) अच्छी है तो आप ऑनलाइन किसी भी वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिख कर घर पर ही काम करके बिना कोई पैसे खर्च करके इंटरनेट से पैसे कमा सकते है आज कल बहोत से ऐसे फ्रीलान्स कंटेंट राइटर ( Freelance content writer) का काम करके महीने के हजारो रूपये कमा रहे है अगर आपको ब्लॉग बनके और इसे मेन्टेन करके की कोई जानकारी नहीं है तो आप ऑनलाइन कंटेंट राइटर बन कर भी पैसे कमा सकते है
ज़्यादा-से-ज़्यादा मुनाफा कमाने का दबाव। हाल के सालों में आयी आर्थिक मंदी का असर दुनिया-भर में सभी कारोबार पर पड़ा है। साथ ही, उन्हें बदलती टेकनॉलजी के साथ कदम-से-कदम मिलाना होता है। इसके अलावा, पूरी दुनिया में और एक ही इलाके में कंपनियों के बीच होड़ इतनी बढ़ गयी है कि मार्केट में अपनी जगह बनाए रखना आसान नहीं। ऐसे में कर्मचारियों को लग सकता है कि मालिक या मैनेजर के ठहराए टार्गेट को पूरा करने का एक ही रास्ता है, बेईमानी करना।
आज के समय में एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) काफी ज्यादा पोपुलर हो रहा है लोग इससे काफी अच्छा पैसा कमा रहे है अगर आप किसी के प्रोडक्ट को बेचते है ऑनलाइन तो इसके लिए आपको काफी अच्छा कमिसन मिल जाता है अगर आपका कोई वेबसाइट है या ब्लॉग है तो आप उनके प्रोडक्ट को ऑनलाइन सेल करके काफी अच्छा पैसा कमा सकते है लेकिन इसके लिए आपके ब्लॉग  वेबसाइट या यूट्यूब चैनल होना जरुरी है जिसे पर रोजाना हजारो लोग आये आपके दुवारा प्रमोट किये गए प्रोडक्ट को ख़रीदे तभी आपको उस पर कमिसन मिलेगा
भारतीय कोच हरेंद्र सिंह ने स्वीकार किया, ‘मलयेशिया जीत का हकदार था। हमने काफी गलतियां कीं और इसका खामियाजा भुगतना पड़ा। हम चीजों को सामान्य नहीं रख पाए। हमने अपना भारतीय कौशल दिखाने की कोशिश की और ऐसा करते हुए लय गंवा दी। यह भारतीय हॉकी के लिए बड़ा झटका है। ओलिंपिक के लिए राह अब कहीं अधिक मुश्किल होगी। हमने क्वॉलिफाइ करने का सबसे आसान मौका गंवा दिया।’
‘ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पोलिसी’ रखनी चाहिए। लेकिन यह वाक्य अब बेअसर हो गया है। इसलिए अब से हमारा नया वाक्य रखना, ‘डिसओनेस्टी इज़ द बेस्ट फूलिशनेस’। वह पहलेवाला पॉज़िटिव वाक्य लिखकर तो लोग घनचक्कर हो गए हैं। ‘बीवेयर ऑफ थीव्ज़’ का बोर्ड लिखा है, फिर भी लोग लुट गए तो फिर बोर्ड किस काम का? फिर भी लोग यह ‘ऑनेस्टी इज़ द बेस्ट पोलिसी’ का बोर्ड लगाते हैं, फिर भी ऑनेस्टी रह नहीं पाती। तो वह बोर्ड किस काम का? अब तो नये शास्त्रों की और नये सूत्रों की ज़रूरत है। इसलिए हम कहते हैं कि, ‘डिसऑनेस्टी इज़ द बेस्ट फूलिशनेस’ का बोर्ड लगाना।
तो मित्रों अब यदि इन काले अंग्रेजों से आज़ादी चाहिए तो फिर से कोई स्वतंत्रता संग्राम छेड़ना होगा, कोई क्रान्ति को जन्म देना होगा। फिर से किसी को मंगल पण्डे बनना होगा, किसी को भगत सिंह तो किसी को सुभाष चन्द्र बोस बनना होगा। क्यों कि जीवन जीने के केवल दो हे तरीके इस देश में बचे हैं कि या तो जो हो रहा है उसे सहते रहो, शान्ति के नाम पर यथास्थिति बनाए रखो, और सब कूछ सहते सहते मर जाओ या फिर खड़े हो जाओ एक संकल्प के साथ और आवाज़ उठाओ अन्याय के विरुद्ध, फिर से खड़ी करो एक क्रान्ति, और केवल मै और मेरा पारिवार की विचारधारा से भार आकर मेरा राष्ट्र की विचारधारा को अपनाओ। किन्तु आज इस देश में यथास्थिति वाले लोग अधिक है। उन्ही से पूछना चाहूँगा कि क्या ये दिन देखने के लिये ही तुम्हारे पूर्वजों ने जीवन का बलिदान दिया था, क्या उनका त्याग व्यर्थ जाएगा, क्या आज तुम्हारे पूर्वजों को तुम प र गर्व होगा, क्या आने वाली पीढी को तुम पर गर्व होगा, क्या अपनी आने वाली पीढ़ी के लिये विरासत में तुम इन काले अंग्रेजों को छोड़ के जाओगे? आचार्य विष्णु गुप्त (चाणक्य) ने कहा था कि जितनी हानि इस राष्ट्र को दुर्जनों कि दुर्जनता से हुई है उससे कहीं अधिक हानि इस राष्ट्र को सज्जनों कि निष्क्रियता से हुई है। क्या आप सज्जन हमेशा निष्क्रीय ही बने रहेंगे? अब कोई भी यह पूछ सकता है कि हम क्या करें? मित्रों करने को बहुत कूछ है करने की इच्छा शक्ति होनी चाहिए। यदि आप में इच्छा शक्ति है, यदि आप में ज्ञान है तो आप खुद अपने लिये राह बना सकते हैं। चाणक्य ने मगध सम्राट धननंद के दरबार में उसे ही ललकारते हुए कहा था कि मेरे ज्ञान में अगर शक्ति है तो मै अपना पोषण कर सकने वाले सम्राटों का निर्माण स्वयं कर लूँगा।
12 सुखी है वह इंसान जो परीक्षा में धीरज धरे रहता है+ क्योंकि परीक्षा में खरा उतरने पर वह जीवन का ताज पाएगा,+ जिसका वादा यहोवा* ने उनसे किया है जो हमेशा उससे प्यार करते हैं।+ 13 जब किसी की परीक्षा हो रही हो तो वह यह न कहे, “परमेश्‍वर मेरी परीक्षा ले रहा है।” क्योंकि न तो बुरी बातों से परमेश्‍वर की परीक्षा ली जा सकती है, न ही वह खुद बुरी बातों से किसी की परीक्षा लेता है। 14 लेकिन हर किसी की इच्छा उसे खींचती और लुभाती है,* जिससे वह परीक्षा में पड़ता है।+ 15 फिर इच्छा गर्भवती होती है और पाप को जन्म देती है और जब पाप कर लिया जाता है तो यह मौत लाता है।+
धनबाद, झरिया, गोविंदपुर में प्रदीप देवरालिया, कृष्ण गोपाल अग्रवाल, ओम प्रकाश डोकानिया, अतुल डोकानिया, अमित डोकानिया, रोहित शर्मा, योगेंद्र सिंह, अरुण कुमार सिंह, दो सीए सुमित कुमार सुल्तानियां (एस के सुल्तानिया एंड कंपनीज) तथा श्याम सुंदर साह शामिल हैं। दोनों चार्टर्ड एकाउंटेंट की भूमिका की टीम गंभीरता से जांच कर रही है। बताया गया कि पेपर कंपनियों के माध्यम से काले धन को सफेद करने से संबंधित कई दस्तावेज सीए के ठिकानों से मिले हैं। 50 से अधिक कंपनियों के दस्तावेज मिले हैं। देवरालिया एवं डोकानिया परिवार में कारोबारी साझेदारी के अलावा रिश्तेदारी भी है।  
5 अरे धनवानो, सुनो, तुम पर जो मुसीबतें आनेवाली हैं उनकी वजह से दहाड़ें मार-मारकर रोओ। 2 तुम्हारी धन-दौलत सड़ गयी है और तुम्हारे कपड़े कीड़े खा गए हैं। 3 तुम्हारे सोने और चाँदी में ज़ंग लग गया है, और उनका ज़ंग तुम्हारे खिलाफ गवाही देगा और तुम्हारा माँस खा जाएगा। तुमने आखिरी दिनों के लिए जो जमा किया है वह असल में आग है। 4 देखो! जिन मज़दूरों ने तुम्हारे खेतों में कटाई की तुमने उनकी मज़दूरी मार ली है। उनकी वही मज़दूरी तुम्हारे खिलाफ चिल्ला रही है और मदद के लिए उनकी यह पुकार सेनाओं के यहोवा के कानों तक जा पहुँची है। 5 तुम इस धरती पर ऐशो-आराम में जीते रहे और शरीर के सुख भोगने में लगे रहे। तुम्हारे दिल उन जानवरों की तरह मोटे हो गए हैं, जिन्हें काटने से पहले खिला-खिलाकर मोटा-ताज़ा किया जाता है। 6 तुमने उस नेक जन को दोषी ठहराकर मार डाला। क्या वह तुम्हारा विरोध नहीं कर रहा?
ऑनलाइन वर्क को लेकर जालसाजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ये जालसाज पैसे देने का वादा कर ऑनलाइन काम तो करा लेते हैं, लेकिन पैसे नहीं देते हैं। ऐसे जालसाजों से सावधान रहने की नसीहत देते हुए आपको ऑनलाइन वर्क करके कमाई करन बता रह है। www.odesk.com और www.elance.com . जैसी साइट ऑनलाइन कमाई के मामले में दुनिया भर में फेमस साइटों में भी शामिल है। इन दोनों साइटों में सबसे पहले आपको टेस्ट देकर खुद को साइट के लिए यूजफुल साबित करना होता है। एक बार रजिस्टर होने के बाद आप साइट अलग-अलग काम के लिए मेंबर्स को कॉन्ट्रेक्ट और फ्रीलांसर के रूप में हायर करती है। काम पूरा होने पर प्रति घंटा या अन्य तरीकों से पैसा देती है। दुनिया भर में कई वेबसाइट ऐसा करती हैं।
भारत में बहुत लोग बेरोजगार है जिनमे बहुत तो ऐसे है जिन्हें अच्छी पढाई करने के बावजूद भी जॉब नहीं मिल पाती है लेकिन उन लोगो के लिए इन्टरनेट एक बेहतरीन जगह है जहां पैसे कमाने की कोई लिमिट नहीं है अगर आपको इन्टरनेट का थोड़ा बहुत नोलेज है तो भी आप इन्टरनेट से पैसे कमा सकते हैं. यहाँ पर सबसे बड़ी बात ये है की किसी काम के लिए आपसे आपकी कोई पढाई या डिग्री का प्रूफ नहीं माँगा जाता है.
19 मेरे प्यारे भाइयो, यह बात जान लो। हर इंसान सुनने में फुर्ती करे, बोलने में सब्र करे, और क्रोध करने में धीमा हो। 20 इसलिए कि इंसान के क्रोध करने का नतीजा वह नेकी नहीं होता जिसकी माँग परमेश्‍वर करता है। 21 तो फिर हर तरह की अशुद्धता और उस बेकार चीज़, यानी बुराई को उतार फेंको और अपने अंदर उस वचन के बोए जाने को कोमलता से स्वीकार करो, जो तुम्हारी ज़िंदगियों को बचा सकता है।
आलेख की विषय वस्तु भले ही सर्वज्ञात है किन्तु उसे प्रमाणिक स्वरूप देने का यह य्र्यास अच्छा है …भाषा प्रवाह में कतिपय धत्ता विधानों की कमी तथा पुनरावृति दोष से बचें ..आलेख -कुल मिलाकर देशभक्त पूर्ण है किन्तु मोदी जी को सम्मानित करने के फेर मेंअन्य अनेक गुमनाम वास्तविक .राष्ट्रवादियों की उपेक्षा अपने आप ही हो जाना स्वाभाविक है …दिवस दिनेश गौर का आलेख प्रकाशित कर प्रवक्ता .कॉम ने बेहतरीन देशभक्ति पूर्ण कार्य किया है ..साधुवाद …
अगर आप अभी स्कूल में है और इन्टरनेट से घर बैठे पार्ट टाइम काम करके इंटरनेट से पैसे कमाना चाहते है या फिर ब्लॉग्गिंग (Blogging) में अपना करियर बनाना चाहते है तो ब्लॉग बनाके पैसे कमाना बेस्ट तरीका माना जाता है लेकिन ब्लॉग्गिंग में सक्सेस पाना इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको काफी चीजों को ज्ञान होना बेहद जरुरी है जैसे की डोमेन नेम (Domain name) , वेब होस्टिंग (Web Hosting) , एसइओ (SEO) इत्यादि के बारे में नॉलेज होना चाहिए तभी आप ब्लॉग बनके इन्टरनेट से घर बैठे रोजाना पैसे कमा सकते है पोस्ट लिख के इसके लिए
×